Follow us on
Saturday, November 17, 2018
India

प्रत्येक व्यक्ति को समान अवसर मिले - कोविंद

December 03, 2017 09:53 PM

नई दिल्ली - राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संवेदनशील, समरस और ऐसे समाज के निर्माण पर जोर दिया है जिसमें प्रत्येक व्यक्ति को विकास के समान अवसर मिले और वह अपने आप को सशक्त महसूस करे। कोविंद ने रविवार को दिव्यांग जनों के सशक्तीकरण के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करने के बाद अपने संबोधन में कहा कि देश का भविष्य उसके नागरिकों के सशक्तीकरण पर निर्भर है।

'सबका साथ सबका विकास' की धारणा पर आगे बढ़ते हुए सभी को इस बात के लिए प्रतिबद्ध होना होगा कि समाज के प्रत्येक व्यक्ति को उसके विकास के लिए समान अवसर मिलें। इसके लिए ऐसे संवेदनशील तथा समरस समाज का निर्माण जरूरी है जहां हर कोई सशक्त महसूस करे तथा जहां किसी एक का दर्द सबको समान रूप से महसूस हो।

उन्होंने कहा कि इस भावना से देश मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति को आर्थिक रूप से सक्षम बनाकर उसके जीवन को बेहतर बनाया जा सकता है और इसी दिशा में सरकार दिव्यांग जनों के लिए रोजगार सृजन की योजना चला रही है जिसमें आरक्षण की व्यवस्था की गई है। दिव्यांग जनों के लिए रिक्त पदों पर तेजी से नियुक्ति की जा रही है यह नए भारत की नई सोच को दर्शाता है। इसी के चलते दिव्यांग कलेक्टर, इंजीनियर, राजनयिक, डॉक्टर और वैज्ञानिक बनकर देश के विकास में अहम योगदान दे रहे हैं। सरकार की वर्ष 2022 तक 25 लाख दिव्यांग जनों को रोजगार प्रदान करने की योजना है।

Have something to say? Post your comment
 
More India News
यदि कांग्रेस में लोकतंत्र है तब परिवार से बाहर के किसी व्यक्ति को पार्टी अध्यक्ष बनाएं - मोदी
कड़ी सुरक्षा के बीच खुला सबरीमला मंदिर
प्रधानमंत्री मोदी आजकल अपने भाषण में भ्रष्टाचार की बात नहीं करते - राहुल गांधी
चक्रवात गज ने तमिलनाडु में 11 लोगों की जान ली - पलानीस्वामी
सीबीआई प्रमुख पर सीवीसी की रिपोर्ट के कुछ अंश प्रतिकूल, निदेशक सोमवार तक जवाब दें - न्यायालय
प्रधानमंत्री ने बढ़ाया राफेल का बेंचमार्क प्राइज़, राष्ट्रीय हित से समझौता किया - कांग्रेस
दिल्ली के वसंत कुंज एन्क्लेव में फैशन डिजाइनर और उसके घरेलू सहायक की हत्या, तीन गिरफ्तार
राफेल सौदे पर प्रधानमंत्री चुप क्यों - शिवसेना
नेशनल हेराल्ड भवन लीज - अदालत ने 22 नवंबर तक यथास्थिति बनाए रखने को कहा
तेजी से हो रही सैन्य खरीद लेकिन पूरी निगरानी रखी जा रही - सीतारमण