Follow us on
Sunday, February 18, 2018
Punjab

मोदी सरकार पंजाब का जीएसटी हिस्सा रोक रही - जाखड़

December 03, 2017 10:03 PM

चंडीगढ़ - पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष एवं सांसद सुनील जाखड़ ने आज आरोप लगाया कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में पंजाब के हिस्से के 3500 करोड़ रुपये रोक रखे हैं जिससे प्रदेश की समाज कल्याण योजनाएं प्रभावित हो रही हैं। जाखड़ ने यहां जारी एक बयान में आरोप लगाया कि केंद्र ने जिस तरह से जीएसटी प्रणाली लागू की है उससे देश भर में उद्योग और व्यापार बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

उन्होंने कहा कि गैर भाजपा शासित प्रदेशों का जीएसटी रोका जा रहा है जिससे राज्यों की अर्थव्यवस्था प्रभावित हो रही है। उन्होंने कहा कि यह देश के संघीय ढांचे के लिए भी घातक है। जाखड़ ने कहा कि परोक्ष रूप से पंजाब के भी जिस तरह से 3500 करोड़ देने में देरी की जा रही है उससे गरीबों और कमजोर वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएं लागू नहीं हो पा रहीं और इस तरह से राज्य का विकास ठप्प होने के लिए केंद्र ही जिम्मेदार है।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि केंद्र की भाजपा नीत सरकार अपने विरोधियों के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय और केंद्रीय जांच ब्यूरो जैसी संस्थाओं का दुरुपयोग कर रही है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि गुजरात विधानसभा चुनाव में हालत पतली होने के कारण संसद का शीतकालीन सत्र नहीं बुलाया गया क्योंकि भाजपा डर रही है कि संसद में विपक्ष उनकी विफलताओं को बेनकाब करेगा।

Have something to say? Post your comment
 
More Punjab News
कृषि सभाओं को सहकारी ग्रामीण स्टोरों में तबदील करने का फैसला
जल सप्लाई विभाग के मोटीवेटरों के बकाए जल्द जारी करे विभाग - तृप्त बाजवा
सुरेश कुमार मामले में पंजाब सरकार को बड़ी राहत, सिंगल जज के फैसले पर रोक
गुरुद्वारों के मुफ्त लंगर में जीएसटी बना बड़ी बाधा
गैंगस्टरों की धमकियों से निपटने के लिए पंजाब पुलिस हुई आनलाईन
सरकारी और प्राईवेट तकनीकी शिक्षा संस्थायों का अकादमिक और प्रबंधकीय आडिट हो - चन्नी
राजीव गांधी के दिल्ली पहुँचने से पहले ही दंगे शुरू हो गए थे - कैप्टन अमरिंदर सिंह
मुख्यमंत्री 6 मार्च को जंग-ए-आज़ादी यादगार का दूसरा चरण राष्ट्र को समर्पित करेंगे
सहकारी चीनी मिलों को शुगर कम्पलैक्सों में किया जायेगा तबदील - डी.पी. रैडी
शाहपुर कंडी डैम, राजस्थान और सरहिंद फीडर नहरों को प्राथमिकता सूची में रखे केन्द्र सरकार - कैप्टन