Follow us on
Friday, May 25, 2018
Chandigarh

पुराने फिल्मी गीत का है दिल से सीधा संबंध - प्रो.सोलंकी

December 03, 2017 10:06 PM

चंडीगढ़ (मयंक मिश्रा) - शहर के लोगों के लिए रविवार की शाम यादगार बन गई। टैगोर थिएटर, सेक्टर-18 में  वाइब्रेशंस संस्था की ओर से आयोजित म्यूजिकल ईवनिंग में न सिर्फ लोगों को पुराने जमाने के यादगार हिट फिल्मी गीत सुनने को मिले बल्कि उन्हें चंडीगढ़ की 'कुड़ी' और बीते जमाने की मश्हूर अभिनेत्री पूनम ढिल्लों से रूबरू होने का मौका मिला। मंच पर पुराने गीत पेश हो रहे थे और सभागार में बैठे सभी लोगों के होठों पर वही गीत थे।

इस कार्यक्रम में हरियाणा के राज्यपाल प्रो.कप्तान सिंह सोलंकी मुख्य अतिथि थे। समारोह में अभिनेता राजा बुंदेला, चंडीगढ़ के गृह सचिव अनुराग अग्रवाल, राज्यपाल के सचिव डॉ.अमित अग्रवाल समेत प्रशासन के कई अधिकारी मौजूद थे। समारोह का आयोजन हरियाणा राज भवन के कंपट्रोलर और वाइब्रेशंस से जुड़े जगन बैंस के माता-पिता गुरचरण कौर और हरि भगत बैंस की याद में आयोजित किया गया था।

अपने संबोधन में प्रो.सोलंकी ने कहा कि आज के समय के गीत हमें याद नहीं रहते हैं जबकि पुराने जमाने के गीत हमें याद रहते हैं। इसका कारण है कि आज के गीतों का संबंध दिल से नहीं है जबकि पुराने गीत दिल से सीधा जुड़े थे। पूनम ढिल्लों ने चंडीगढ़ में बिताए गए दिनों को याद करते हुए कहा कि आज वह जो भी कुछ हैं इसी शहर के कार्मल कांवेंट स्कूल से मिली प्रारंभिक शिक्षा के कारण हैं। उन्हें खुशी है कि वह चंडीगढ़ को पहचान दे पाई हैं। समारोह के संगीत संयोजक वेवल शर्मा, सवंत और राजिंदर सिंह थे। इस दौरान पीजीआई के डॉ.गुरप्रीत सिंह ने ब्रेस्ट कैंसर की जागरुकता को लेकर प्रेजेंटेशन भी दी।

पुराने गीतों ने बांधा समां

इस म्यूजिकल इवनिंग में गायकों ने पुराने गीतों का ऐसा समां बांधा कि लोग मंत्रमुग्ध हो गए। समारोह में गायक पुराने गीत पेश करते रहे और दर्शक तालियां बजाते रहे। समारोह की शुरुआत व्यॉस इंडिया के पहले रनर अप रहे दीपेश राही की ओर से पेश गीत 'मेरे देश की धरती सोना उगले' से हुई। इसके बाद करनाल के कृष्णा सांवरे ने 'ओ नन्हें से फरिश्ते' गीत पेश किया। समारोह की सबसे खास बात यह रही कि राज्यपाल प्रो.कप्तान सिंह सोलंकी उस समय आश्चर्यचकित हो गए जब उनके बेटे राजेश सोलंकी ने 'बेकरार करके हमें यूं न जाइये' गीत पेश किया। समारोह में अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा के पिता पवन चोपड़ा ने फिल्म शोर का 'एक प्यार गा नगमा है' गीत पेश किया।

पंजाब के एडीजीपी संजीव कालरा ने कोमल वशिष्ठ के साथ 'गोरे रंग पे न इतना गुमान कर' गीत पेश किया। हरियाणा राजभवन के कंपट्रोलर जगन बैंस ने कोमल वशिष्ठ के साथ 'कोयल क्यों गाए' गीत पेश कर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। उन्होंने 'महबूब मेरे' गीत भी प्रस्तुत किया। जगन बैंस के बेटे ईशान बैंस ने 'एहसान तेरा होगा मुझपे' गीत पेश किया। समारोह के आयोजकों में शामिल नरेश जैकब 'जाने कहा गए वो दिन' गीत प्रस्तुत किया। उनकी बेटी हरमनप्रीत जैकब ने माधव अरोड़ा के साथ मिलकर 'बचपन के दिन भुला न देना' गीत पेश किया।

Have something to say? Post your comment