Follow us on
Monday, December 11, 2017
Chandigarh

दिसंबर में पूरा नहीं हो पाएगा पीजीआई के नया अस्पताल, जून तक तैयार होने की उम्मीद

December 03, 2017 10:12 PM

चंडीगढ़ (विजय राणा) - पीजीआई में बन रहे 250 बेड्स वाले नए अस्पताल का निर्माण कार्य जून 2018 तक पूरा होने की उम्मीद है। पहले इसे दिसंबर 2017 तक पूरा किए जाने के आदेश थे। लेकिन अस्पताल की मौजूदा स्थिती को देखते हुए कहा जा सकता है कि इस अस्पताल को पूरा करने के लिए अभी 6 महिने का वक्त को लग ही जाएगा। पीजीआई प्रशासन इस अस्पताल को हर हालात में जून 2018 तक पूरा करना चाहता। इसके लिए प्रशासन ने कंस्ट्रक्शन कंपनी को आदेश दे दिया है।

कंपनी को दिया 10 जून तक का समय

पी.जी.आई. का 250 बैड का निर्माण कार्य पूरा करने के लिए कंपनी को 10 जून तक का समय दिया गया है। कई महीनों तक हॉस्पिटल का निर्माण कार्य रूका रहने की वजह से यह समय पर पूरा नहीं हो सका है। कभी एन्वायरनमैंट क्लीयरैंस, कभी हॉस्पिटल निर्माण का बजट तो कभी कांट्रैक्टर के साथ विवाद की वजह से हॉस्पिटल का काम अधर में ही लटका रहा परंतु अब सी.पी.डब्ल्यू.डी. ने हॉस्पिटल निर्माण शुरू कर दिया है। सूत्र कहते हैं कि कांट्रैक्टर को 10 जून तक हॉस्पिटल तैयार करके देने के बाबत निर्देश जारी कर दिए गए हैं। हॉस्पिटल बनने के बाद नेहरू हॉस्पिटल से हिपैटोलॉजी, रेडियोथैरेपी और एंडोक्रायनोलॉजी विंग्स को 250 बैड हॉस्पिटल में शिफ्ट कर दिया जाएगा।

पहले भी जून तक का समय ही दिया गया था-कंपनी

अस्पताल का निर्माण कर रही कंपनी की ओर से कहा गया है कि पहले इस विस्तार योजना को पूरा करने के लिए उन्हें जून2018 तक का वक्त दिया गया था और कपंनी उसी हिसाब से काम जारी रखे हुए थी। लेकिन बाद में उन्हें ये आदेश मिला की उन्हें ये काम दिंसबर 2017 तक पूरा करना है। हालांकी कंपनी ने काम की रफ्तार बढ़ा दी थी लेकिन फिर भी इस परियोजना को दिंसबर तक पूरा संभव नहीं था।  लेकिन जून तक इस काम को पूरा कर दिया जाएगा।

मरीजों को मिल सकेंगी कई सुविधाएं

नेहरू अस्पताल के साथ बनाए जाने वाले 250 बैड के अस्पताल में उन रोगियों को सुविधा मिल सकेगी जो रेडियोथैरेपी,ऑनकोलॉजी, एंडोक्रियोनोलॉजी, हैपाटोलॉजी और ईएनटी में इलाज के लिए आएंगे। इस नये अस्पताल में प्राइवेट वार्डस के साथ-साथ आधुनिक मॉडुलर ऑप्रेशन थिएटर बनाए जायेंगे। जिसकी वजह से लोगों को अपनी सर्जरी के लिए लंबा इंतजार भी नहीं करना पड़ेगा। इस अस्पताल का निर्माण कार्य सीपीडब्ल्यूडी की चंडीगढ़ शाखा को सौंपा गया है। वयह नया अस्पताल बनने के बाद पीजीआई में बेड की संख्या 2200 से अधिक हो जाएगी। इससे मौजूदा नेहरू हॉस्पिटल में मरीजों का लोड कम करने में मदद मिलेगी।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
ट्यूशन जा रहे 3 बच्चों का अपहरण, लोगों ने बचाया
गरीबों को खाना पहुंचाने के लिए चार नई वैन मिली
मार्केट कमेटी चुनाव : मुख्य आरोपी सहित बाउंसरों को गिरफ्तार करने में पुलिस फेल
जज पेपर लीक मामला : हाईकोर्ट से मिलेगा पेपर का रिजल्र्ट और रिकार्ड
पुलिस अफसर के बेटे पर महिला ने लगाया दुरव्यहार का आरोप
डिस्ट्रक्ट पुलिस चीफ कौन? दो गाडिय़ों पर लगा हुआ है फ्लैग
महिलाओं को हेलमेट से छूट पर हाईकोर्ट का स्वत: संज्ञान
पीजीआई में बनेगा देश का पहला चाइल्ड कैंसर सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल
पीजीआई में नर्सिंग स्टाफ की भारी कमी, विभाग में करीब 350 सीटें खाली
हरमोहन धवन के घर पर मिलेंगे यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा