Follow us on
Wednesday, December 13, 2017
Feature

शहद और नींबू की चाय के फायदे

December 05, 2017 06:54 AM

शहद-नींबू की चाय एक स्वास्थवर्धक और कैलोरी-मुक्त पेय है, जो इसे वजन-घटाने के आहार के लिए अच्छा पेय बनाती है। विशेष रूप से हरी चाय, वजन घटाने पर कुछ प्रभाव डालती है, लेकिन यह अकेले ही वजन कम करने के लिए पर्याप्त नहीं है, इसलिए आप इसमें शहद-नींबू को मिला कर इसका आनंद और स्वाद बढ़ा सकते हैं। इसे वजन घटाने के लिए भी अपनी आहार-योजना में शामिल कर सकते हैं क्योंकि यह कम कैलोरी आहार और व्यायाम है। शहद-नींबू की चाय, लिवर को शुद्ध और विष मुक्त करती है। लिवर मुख्य रूप से प्रोटीन बनाने और पाचन प्रक्रिया को ठीक रखता है, इसलिए लिवर को शुद्ध रखना जरुरी है। शहद और नींबू की चाय शरीर की अंदरूनी सफाई के लिए भी प्रभावी उपाय हैI

शहद-नींबू की चाय को अन्य वजन घटाने के अभ्यासों के साथ जोड़ना चाहिए ताकि हमारे शरीर को साफ़ करने और वजन कम करने के नतीजे में अच्छे परिणाम मिल सकें। आइये हम शहद नींबू की चाय के फायदों पर एक नज़र डालें।

चाय बनाने के लिए शहद

शहद में फेनोलिक होते है जो शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। एंटीऑक्सिडेंट शरीर को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान को रोकते हैं। मुक्त कणों की क्षति एथेरोस्लेरोसिस और हृदय रोग करती है। अध्ययन का दावा है कि शहद वसा कोशिकाओं में मिले तेल पदार्थों को कम करके, वजन घटाता है। इसके अतिरिक्त शहद में ऊर्जा बढ़ाने और घाव के उपचार के गुण भी हैं।

शहद के स्वास्थ्य लाभ इसकी किस्मों पर निर्भर हैं। शुद्ध शहद को साफ या फ़िल्टर नहीं किया जाता है। आहार विशेषज्ञ का मानना है कि कच्ची शुद्ध शहद अपने पोषक तत्वों को बनाये रखता है जो शहद के शुद्धिकरण करने से खो जाते हैं। कच्ची शहद में फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो बैक्टीरिया और वायरस से शरीर को बचाते है।

चाय बनाने के लिए नींबू

विटामिन-सी शरीर को मुक्त कण और विषाक्त पदार्थों के नुकसान से बचाता है। विटामिन-सी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है, जो हृदय रोग, स्ट्रोक और कैंसर से जुड़ा होता है। विटामिन-सी कोलेजन का निर्माण करता है, जो शरीर का मुख्य प्रोटीन पदार्थ है। नींबू अत्यधिक अम्लीय होता है। नींबू के रस में सिट्रिक-एसिड मूत्र में कैल्शियम आना कम करता है, जो किडनी की पथरी को रोकता है। अम्ल जमा हुए बलगम को तोड़ता है। इस कारण नींबू शरीर की आंतरिक सफाई के लिए भी सहायक है।

गर्म पानी

नींबू और शहद को सुबह गर्म पानी में पीना चाहिए। डॉक्टर भी सर्दियों के दिनों में 8 से 12 गिलास गर्म पानी पीने की सलाह देते हैं क्योंकि पानी कब्ज से राहत देता है। पानी शरीर में पोषक तत्वों को पचाता और सोखता भी है। कम पानी पीने से निर्जलीकरण, चक्कर, थकान और कब्ज होती हैं।

शहद और नींबू की चाय के फायदे

शहद-नींबू की चाय को नियमित रूप से सुबह खाली पेट पीना चाहिए। नींबू पाचन को बढ़ावा और मेटाबॉलिज्म बढ़ाता है तथा शहद शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट देता है। यह शहद-नींबू चाय त्वचा को अतिरिक्त नमी प्रदान करती है और इसे झुर्रियों से बचाती है।

शहद और नींबू की चाय तैयार करने की विधि

एक कप में 2 चम्मच शहद डालें और फिर इसमें उबला हुआ पानी डालें और अच्छी तरह से हिलाएं। फिर ताजा नींबू के रस का आधा या पूरा चम्मच इसमें मिलाएं और फिर इसे अच्छी तरह से शहद के घुलने तक हिलाएं। इसमें आप अपने स्वाद के अनुसार थोड़ा अतिरिक्त शहद या नींबू का रस जोड़ें और पिएं।

Have something to say? Post your comment