Follow us on
Monday, January 22, 2018
Haryana

ओवरलोडिंग रोकने के लिए ई-चालानिंग से परिवहन विभाग के साथ प्रशासन के अन्य विभाग जुड़ेंगे

December 10, 2017 08:20 AM

चण्डीगढ़ - हरियाणा सरकार द्वारा वाहनों की ओवरलोडिंग रोकने के लिए ई-चालानिंग के माध्यम से परिवहन विभाग के साथ प्रशासन के अन्य विभागों को जोडऩे का निर्णय लिया गया है। एक सरकारी प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि अब उपायुक्त द्वारा जिला स्तर पर अन्य विभागों के अधिकारियों को भी ओवरलोड भारी वाहनों के चालान के लिए अधिकृत किया जायेगा। इसके लिए प्रमुख स्थानों पर ई-चालान पोस्ट स्थापित होंगी जिनपर भारी वाहनों में लगे सामान की जांच के लिए भार तोलने हेतू कांटे भी लगाए जायेंगे।

उन्होंने कहा कि ई-चालानिंग के लिए मनोनीत अधिकारियों के मोबाईल पर ई-चालान एप डाउनलोड किया जायेगा और सम्बन्धित अधिकारी को उसका यूजर नेम और पासवर्ड दिया जायेगा।  अधिकारी चालानिंग पोस्ट पर वाहनों के भार का निरीक्षण करेंगे और अधिकृत मात्रा से ज्यादा भार लोड होने पर न केवल ई-चालानिंग से मौके पर ही चालान की राशि और जुर्माना राशि वसूल की जायेगी बल्कि वाहन में लोड किए गये क्षमता से अधिक भार को भी उतरवाया जायेगा। ई-चालान एप के संचालन के बारे में सभी अधिकारियों को जानकारी दी गई और आरम्भ में इन पोस्टों पर ऐसे अधिकारियों के सहयोग के लिए परिवहन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी भी तैनात किए जायेंगे। चालान की गई राशि का भुगतान वाहन चालक मौके पर ही कर सकता है। इसके अलावा क्षमता से अधिक भार मिलने पर चालान और जुर्मान के साथ-साथ वाहन को जब्त भी किया जायेगा।

ई-चालानिंग के लिए आज अंबाला में एक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें जिला के सभी कार्यालयों के अधिकारियों, अधीक्षक और उप अधीक्षक स्तर के कर्मियों को ई-चालानिंग का प्रशिक्षण दिया गया।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
दीन बन्धु सर छोटू राम का व्यक्तित्व, जीवन तथा कार्य अनुकरणीय थे - धनखड़
हरियाणा में स्टूडेंट ने महिला प्रिंसिपल को मारी गोली, गंभीर
12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ अपराध पर दोषियों को फांसी की सजा होगी - मुख्यमंत्री
प्रदेश को भष्ट्राचार मुक्त करने तथा समान विकास का वायदा निभाया जा रहा है - मुख्यमंत्री
महिलाओं की सुरक्षा को लेकर नकारा साबित हुई खट्टर सरकार - कांग्रेस
हरियाणा की लोक गायिका ममता शर्मा की गला रेतकर हत्या, खेत में मिला शव
सरस्वती नदी के उदगम स्थल आदिबद्री में एक डैम बनाया जाएगा - नितिन गडक़री
प्रदेश में महिलाओं के सुरक्षा प्रबन्धों को सुदृढ़ कर दिया गया है - बी.एस.सन्धु
जींद गैंगरेप-मर्डर केस में नया मोड़ - संदिग्ध आरोपी की मिली लाश
प्रदेश में हाल ही में हुई दुष्कर्म की घटनाएं अत्यंत दुखद और निंदनीय - मनोहर लाल