Follow us on
Saturday, October 20, 2018
Haryana

रेयान स्कूल के पिंटो परिवार की जमानत के खिलाफ याचिका खारिज

December 12, 2017 08:54 AM

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में छात्र प्रद्युम्न की हत्या के मामले में स्कूल के ट्रस्टी पिंटो परिवार को भारी राहत दी। सर्वाेच्च कोर्ट ने उन्हें पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से मिली अग्रिम जमानत के खिलाफ छात्र के पिता की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी।

याचिका खारिज करते हुए जस्टिस आरके अग्रवाल और एएम सप्रे की पीठ ने सोमवार को दिए फैसले में कहा कि इस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने कभी उनके खिलाफ कोई सबूत पेश नहीं किए। यदि स्कूल प्रशासन की तरफ से कुछ अनमितताएं हुई हैं तो भी हत्या का मामला नहीं बनता। कोर्ट ने यह भी कहा कि मामले का जिस तरह से प्रेस और मीडिया में छाया रहा उससे इस मामले में मीडिया ट्रायल हो रहा था।

ऐसे में इसलिए परिवार का अंतरिम जमानत के लिए सीधे चंड़ीगढ़ हाईकोर्ट चले जाने में कोई परेशानी नहीं है। वह भी तब जब सीआरपीसी की धारा 438 (अग्रिम जमानत का प्रावधान) में हाईकार्ट और सेशन कोर्ट का एकसमान क्षेत्राधिकार है। हाईकोर्ट ने 7 अक्तूबर को उन्हें अंतरिम जमानत दे दी थी। कोर्ट ने कहा कि परिवार को तथ्यों को छिपाने के आरोप भी गलत हैं।

पिंटो परिवार की ओर से दलील दी गई थी कि इस मामले से उनका कोई संबंध नहीं है। वे देश में 50 से ज्यादा स्कूल चलाते हैं। सीबीआई के अनुसार एक छात्र ने दूसरे छात्र की हत्या की, इससे स्कूल के मालिक के खिलाफ हत्या का मामला कैसे बनता है।

वहीं छात्र के पिता के वकील ने कहा था कि ये एक जघन्य अपराध है। पिंटो परिवार बेहद प्रभावशाली है यदि वे ज़मानत पर बाहर रहते है तो सबूतों के साथ छेड़छाड़ और गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं। गौरतलब है कि 8 सितंबर को गुरुग्राम के स्कूल में 7 वर्षीय छात्र प्रद्युम्न ही हत्या कर दी गई थी। यह आरोप स्कूल के ही वरिष्ठ छात्र पर है ।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
कर्मचारियों को नौकरी से निकालना खट्टर सरकार की तानाशाही - ओमनारायण
एसआईएमएस पर सभी स्कूलों के शिक्षक-छात्रों का डाटा तेजी से अपलोड करें - मुख्यमंत्री
इनेलो का सत्यनाश होना तय-अशोक तंवर
हरियाणा में 22 साल बाद हुए छात्र संघ चुनाव, अधिकतर पार्टियों ने किया बहिष्कार
परिवहन कर्मी अपने काम पर वापस आ जाए – धनपत सिंह
हत्या के मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा
सरदार वल्लभ भाई पटेल का स्टैच्यू ऑफ यूनिटी स्मारक बनने से देश में राष्ट्रीय अखंडता का संदेश जाएगा
सरकार ने प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा व उत्थान के लिए अनेक कार्य किए - मनोहर लाल
मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री 15 अक्टूबर को होनहार विद्यार्थियों को सम्मानित करेंगे
खट्टर ने जींद जिले को दी 13 विकास परियोजनाएं