Follow us on
Friday, October 19, 2018
Himachal

कुफरी, मनाली में हिमपात, निचले इलाकों में वर्षा

December 13, 2017 08:09 AM

शिमला - प्रदेश में आज लगातार दूसरे दिन भी वर्षा व बर्फबारी का सिलसिला जारी रहने से पूरा प्रदेश कड़ाके की शीतलहर की चपेट में है। जनजातीय क्षेत्रों में हो रही भारी बर्फबारी से जनजीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त है। मौसम में आये ताजा बदलाव से प्रदेश में अधिकतम तापमान में 5 से 6 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान में 1 से 2 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि ताजा वर्षा और बर्फबारी से किसानों और बागवानों के चेहरे खिल उठे हैं तथा सेबों के लिए अपेक्षित चिलिंग ऑवर भी पूरे हो जाने की आस बंधी है। साथ ही अभी तक गेहूं की बिजाई नहीं कर पाए किसान ये कार्य आसानी से पूरा कर सकेंगे।

राजधानी शिमला और आसपास के इलाकों में लगातार वर्षा का क्रम जारी है जबकि प्रसिद्ध पर्यटक स्थल कुफरी और नारकंडा में आज लगातार दूसरे दिन हल्की बर्फबारी हुई। कुफरी व नारकंडा में हो रही बर्फबारी के चलते शिमला में पर्यटकों की आमद में यकायक उछाल आया है। इससे शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या अभी से बढ़ गई है। शिमला जिला के खड़ा पत्थर और खिड़की में हो रही बर्फबारी से यातायात बाधित हुआ है। वहीं मनाली में भी बर्फबारी हुई।

जनजातीय जिला लाहौल स्पिति में बीते रोज से हो रही लगातार बर्फबारी से लाहुल घाटी में बिजली गुल हो गई है और संचार सेवाएं ठप हैं। घाटी में सड़क यातायात पूरी तरह से बंद हो गया है और लोगों अपने घरों तक ही सीमित हो गए हैं। जिला प्रशासन ने एडवाइज़री जारी कर लोगों को बर्फबारी के दौरान अपने घरों में ही बने रहने की सलाह दी है।

Have something to say? Post your comment
 
More Himachal News
धर्मशाला में आयोजित किया जाएगा मेगा निवेशक सम्मेलन - मुख्यमंत्री
पांगी क्षेत्र को हर मौसम कनेक्टिविटी के लिए केन्द्र से उठाएंगे चिनी सुरंग का मामला - मुख्यमंत्री
शिमला शहर को जल्द मिलेगी तीस नई इलेक्ट्रिक बसें - गोविन्द सिंह ठाकुर
सरकार राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल के तहत तीन कम्पनियां स्थापित करेगी - मुख्यमंत्री
हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मानक देश के अनेक राज्यों से बेहतरः मुख्यमंत्री
प्राकृतिक खेती अपनाने से बदल सकती है देश की तकदीर-राज्यपाल
मुख्यमंत्री ने जंजैहली क्षेत्र में 55 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की रखी आधारशिला
राज्यपाल ने वैज्ञानिकों से प्राकृतिक खेती पर सघन अनुसंधान करने के दिए निर्देश
वन विभाग द्वारा वन अतिक्रमण पर नजर रखने के लिए सॉफ्टवेयर तैयार
मुख्यमंत्री ने किया अखण्ड शिक्षा ज्योति-मेरे स्कूल से निकले मोती योजना का शुभारम्भ