Follow us on
Friday, October 19, 2018
Politics

जब बेटियां आगे बढ़ती हैं, तब देश आगे बढ़ता है - राष्ट्रपति

December 16, 2017 08:39 AM

इलाहाबाद - राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज यहां कहा कि बेटियां, बेटों से आगे बढ़ रही हैं और इससे देश सशक्त हो रहा है। उन्होंने विद्याथयों से कहा कि प्रौद्योगिकी के साथ साथ नैतिकता और राष्ट्र बोध भी आवश्यक है। कोविंद ने कहा कि दीक्षांत समारोहों में राज्यपाल के तौर पर और अब राष्ट्रपति के तौर पर शामिल हुए, तो उन्होंने पाया, जब बेटियां आगे बढ़ती हैं, तो देश आगे बढ़ता है।'' यहां मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के 14वें दीक्षांत समारोह में कोविंद ने कहा, इस शहर की प्रमुख पहचान शिक्षा के केंद्र के तौर पर रही है। हमारी शिक्षा ही हमारे देश की मजबूत आधारशिला है। मेरा यहां बैठे प्रबुद्धजनों से निवेदन है कि विद्याॢथयों को प्रौद्योगिकी के ज्ञान के साथ ही, कहीं न कहीं नैतिकता और राष्ट्रीय बोध का ज्ञान देना आवश्यक है, अन्यथा प्रतिभा पलायन की चिंता बनी रहेगी।''

राष्ट्रपति ने इस संबंध में चाणक्य, पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम और मेट्रोमैन श्रीधरन जी के जीवन का उदाहरण देते हुए कहा, इन सबके पीछे आपसे मेरा आपसे यही कहना है कि आप जहां भी रहें और जो भी दायित्व संभालें, उसमें केवल यह ध्यान रखें कि जो दायित्व आप निभा रहे हैं, वह राष्ट्रहित के लिए है। इससे आप उस श्रेणी में खड़े हो जाएंगे जिसे हम राष्ट्र निर्माता कहते हैं। यही मैं आपसे अपेक्षा करता हूं।'' कोविंद ने कहा, आज की युवा पीढ़ी डॉक्टर कलाम को अपना आदर्श मानती है। मिसाइल टेक्नोलाजी के जानकारों की विश्व में बहुत मांग है।

कलाम चाहते तो किसी भी विकसित देश में सुख सुविधा से अपना जीवन बिता सकते थे, लेकिन उन्होंने अपना पूरा जीवन देश को सर्मिपत कर दिया।'' दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा, इस संस्थान में 1441 विद्याथयों को डिग्रियां दी जा रही हैं जिसमें 1182 छात्र और 259 छात्राएं हैं। यानी छात्राओं का प्रतिशत 18 है। वहीं दूसरी ओर, जिन 43 विद्याॢथयों को मेडल दिए जा रहे हैं, उनमें 21 छात्राएं हैं। यानी 49 प्रतिशत छात्राओं को पदक मिले हैं। उन्होंने कहा कि राजनीति में गत कई वर्षों से विधानसभा और विधान परिषद में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने की मांग की जाती रही है। लेकिन खुले मैदान में हम देखें तो पाते हैं कि 49 प्रतिशत महिलाएं आगे आई हैं।

'सर्वशिक्षा अभियान' से 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान तक हम देख रहे हैं कि बेटियां किस तरह से आगे बढ़ रही हैं। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने दीक्षांत समारोह में डिग्री प्राप्त कर रहे विद्याॢथयों को बधाई देते हुए कहा कि इलाहाबाद में हर संस्थान है, बस कमी है तो आईआईटी की...यह कमी भी जरूर पूरी होगी।

राष्ट्रपति ने बीटेक के अंतिम वर्ष के छात्र पीयूष चंद्र चतुर्वेदी, बीटेक के तीसरे वर्ष के छात्र अमन शर्मा, बीटेक की द्वितीय वर्ष की छात्रा स्तुति जैन और बीटेक की प्रथम वर्ष की छात्रा मुस्कान श्रीवास्तव को गोल्ड मेडल से सम्मानित किया। दीक्षांत समारोह में आने से पहले राष्ट्रपति ने चंद्रशेखर आजाद पार्क में आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उनके साथ राज्यपाल राम नाईक, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और चिकित्सा मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह भी थे।

Have something to say? Post your comment