Follow us on
Friday, April 27, 2018
Haryana

प्रदेश में त्वरित गति से हो रही प्रगति - मुख्यमंत्री

December 17, 2017 08:13 AM

चण्डीगढ़ -  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश में त्वरित गति से हो रही प्रगति और विकास के प्रयासों में सभी नागरिकों में अपनेपन को मजबूत करने की भावना पर बल दिया। उन्होंने कहा ‘इस सम्बन्ध में किसी भी अच्छे सुझाव का हम स्वागत करते हैं और इस दिशा में यदि कोई सुझाव दिया जाता है तो उस पर जनहित में विचार किया जाएगा। ’

मुख्यमंत्री ने टिम्बर ट्रेल (परवाणू) में आयोजित किए जा रहे तीन दिवसीय चिंतन शिविर के आज दूसरे दिन इंटरेक्टिव सैशन को सम्बोधित करते हुए कहा कि समाज में प्रत्येक व्यक्ति को ईमानदार होना चाहिए। राज्य सरकार ने भ्रष्टाचार के विरूद्घ जीरो टोलरेंस की नीति अपनाई है।

श्री मनोहर लाल ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार द्वारा अपने तीन वर्ष के कार्यकाल के दौरान करवाए गये कार्य पिछली सरकार के 10 वर्षों के कार्यकाल के दौरान किए गये कार्यों से अधिक हैं। हरियाणा को अब तक विभिन्न क्षेत्रों में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के सम्मान में केन्द्र सरकार और अन्य संगठनों से 46 पुरस्कार प्राप्त हुए हैं।

प्रदेश में भाजपा सरकार बनने से लेकर अब तक विकास कार्यों की एक कड़ी शुरू की गई है, जो प्रदेश में किसी भी सरकार द्वारा कभी भी शुरू नहीं की गई। कौशल विकास सुनिश्चित करके युवाओं के लिए अधिकतम रोजगार के अवसर प्रदान करने और प्रदेश में निवेश को आकर्षित करने पर विशेष बल दिया गया है।

हरियाणा का ईज ऑफ डुइंग बिजनेस में 14वां स्थान था, जो अब पहले स्थान के लिए प्रतिस्पर्धा कर रहा है। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त, वर्तमान सरकार के द्वारा उठाए गये कदमों में पारदर्शी ऑनलाइन अध्यापक स्थानान्तरण नीति, योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरियां, कैरोसीन मुक्त राज्य बनाना और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ प्रमुख हैं।

संस्कृति और परम्परा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी समाज या राष्टï्र, जिसके पास समृद्घ सांस्कृतिक धरोहर नहीं है, प्रगति नहीं कर सकता। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकार की सराहना की है और कहा कि हरियाणा देश के अन्य राज्यों को प्रेरित कर सकता है। राज्य सरकार ने स्वयं अगले तीन वर्षों के दौरान हरियाणा को रक्त अल्पता से मुक्त बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

इससे पूर्व, इस अवसर पर बोलते हुए हरियाणा शासन सुधार प्राधिकरण (एचजीआरए) के अध्यक्ष प्रो० प्रमोद कुमार ने चिंतन शिविर के आयोजन में राज्य सरकार के प्रयासों के लिए बधाई दी और कहा कि यह अधिकारियों और मंत्रियों को बिना किसी भय के अपने सुझाव देने का अवसर प्रदान करता है।

उन्होंने राज्य सरकार की अध्यापक स्थानान्तरण नीति को एक महत्वपूर्ण पहल बताया और विभिन्न स्तरों पर शक्तियों का विकेन्द्रीकरण, उद्योग विभाग और मुख्यमंत्री की सिंगल विंडो प्रणाली सहित अन्य महत्वपूर्ण कदमों की प्रशंसा की। उन्होंने सेवा अधिकार अधिनियम का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर बल दिया।

दी ट्रिब्यून के अडिटर-इन-चीफ हरीश खरे ने कहा कि सुशासन अच्छी राजनीति का हिस्सा है और यह पहली बार हुआ है कि मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने अपनी शक्तियों का विकेन्द्रीकरण किया है। उन्होंने कहा कि सरकार लोगों को मूल सुविधाएं प्रदान करने के लिए दक्ष और प्रभावी प्रणाली विकसित करेगी।

लेफ्टिनेंट कमांडर संध्या चौहान जो रेवाड़ी से हैं, जो गणतंत्र दिवस परेड, 2015 के दौरान नेवी दस्ते का नेतृत्व करने पर प्रसिद्घ हुई हैं ने राज्य सरकार के प्रत्येक 20 किलोमीटर की परिधि में राजकीय कन्या महाविद्यालय खोलने के फैसले की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रगति के मार्ग पर अग्रसर है और लोग राज्य सरकार की पहलों की प्रशंसा कर रहे हैं।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
मुख्यमंत्री ने की बीपीएल परिवारों को दिये जाने वाले सामान की खरीद एजेंसी के साथ बैठक
इनेलो-बसपा का गठबंधन स्वाभाविक नही - रामबिलास शर्मा
पूरा प्रदेश एक ही परिवार की तरह - मनोहर लाल
आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारियों समाज के प्रति संवेदनशील रहें - मुख्यमंत्री
महिलाओं पर अपराधों पर अंकुश लगाने को प्रदेश सरकार दुर्गा वाहिनी पुलिस दल का गठन करेगी
राज्य के सभी जिलों में अंत्योदय भवन खोले जाएंगे
मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ - मनोहर लाल
सरकार सामाजिक तथा प्रशासनिक व्यवस्था को मजबूत करेगी
सरकार की नई खेल नीति में छोटे से छोटा खिलाड़ी भी नौकरी से वंचित नहीं रहेगा - मुख्यमंत्री
हरियाणा सरकार राष्ट्रमंडल खेलों में राज्य के स्वर्ण पदक विजेताओं को डेढ़ करोड़ रुपए देगी