Follow us on
Wednesday, April 25, 2018
Haryana

डेरा मुख्यालय में रची गई थी पंचकूला हिंसा की साजिश, हनीप्रीत थी मास्टर माइंड

December 21, 2017 06:21 AM

डेरा प्रमुख को सजा सुनाए जाने के बाद हुई हिंसा उनके समर्थकों का गुस्सा नहीं बल्कि एक पूर्व नियोजित साजिश थी, जिसके लिए पूर्व में योजना बनाकर फंड तक जारी किया गया था। बैठक में ही तय किया गया था की सरकार पर किस तरह से दबाव बनाया जाएगा ताकि डेरामुखी को दोषी करार न दिया जा सके और अगर उनको दोषी करार दिया गया तो उसके बाद क्या किया जाएगा। यह खुलासा हरियाणा के डीजीपी क्राइम पीके अग्रवाल ने पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट को सौंपे अपने हलफनामे में किया है।

डीजीपी ने रिपोर्ट में बताया कि तोड़फोड़, हिंसा और आगजनी इन सभी के लिए पहले से टमाटर फोड़ना, झाडू किस तरफ निकालनी है और पौधरोपण जैसे कोड बनाए गए थे ताकि समर्थकों को बताया जा सके की उनको करना क्या है। साजिश रचने के लिए हनीप्रीत ने डेरा मुख्यालय में बैठक की थी और अपने पीए राकेश के माध्यम से पंचकूला के चमकौर सिंह को 1.25 करोड़ रुपये पहुंचाए थे। इसके साथ ही बताया गया कि डा. आदित्य इंसां, पवन इंसां और नवीन को 25 लाख और राम सिंह को 18 लाख रुपये दिए गए थे ताकि भीड़ से अपने अनुरूप काम करवाया जा सके।

हाईकोर्ट को बताया गया कि पंचकूला के हैफेड चौक पर 17 अगस्त को ही तय कर लिया गया था कि 25 अगस्त को क्या, कैसे और कब करना है। इसकी तैयारी आदित्य इंसां, सुरिंदर धीमान, पवन इंसां, गोबिंद और मोहिंदर ने कर ली थी। जांच के दौरान चमकौर सिंह से 25 लाख बरामद किए गए तथा राकेश से 51 लाख और अथॉरिटी लेटर बरामद हुआ।

डेरामुखी को चंडीगढ़ लाते समय वाहनों में इसी योजना के चलते हथियार लाए गए थे। जिनमें 4 एके-47, 159 राउंड्स, 5 पिस्तौल के साथ 102 राउंड्स, 2 राइफल और 2 मैगजीन और गोली बारूद बरामद किया गया है। हाईकोर्ट को बताया गया कि अब तक इस मामले में एसआईटी ने 1413 को गिरफ्तार किया गया है। कुल 240 एफआईआर दर्ज की गई हैं जिनमें से 177 पंचकूला में दर्ज हुई हैं। पंचकूला में हुई एफआईआर में 1102 गिरफ्तारियां हुई हैं तथा अबतक कुल 200 मामलों को कोर्ट ले जाया जा चुका है।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
मुख्यमंत्री ने की बीपीएल परिवारों को दिये जाने वाले सामान की खरीद एजेंसी के साथ बैठक
इनेलो-बसपा का गठबंधन स्वाभाविक नही - रामबिलास शर्मा
पूरा प्रदेश एक ही परिवार की तरह - मनोहर लाल
आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारियों समाज के प्रति संवेदनशील रहें - मुख्यमंत्री
महिलाओं पर अपराधों पर अंकुश लगाने को प्रदेश सरकार दुर्गा वाहिनी पुलिस दल का गठन करेगी
राज्य के सभी जिलों में अंत्योदय भवन खोले जाएंगे
मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ - मनोहर लाल
सरकार सामाजिक तथा प्रशासनिक व्यवस्था को मजबूत करेगी
सरकार की नई खेल नीति में छोटे से छोटा खिलाड़ी भी नौकरी से वंचित नहीं रहेगा - मुख्यमंत्री
हरियाणा सरकार राष्ट्रमंडल खेलों में राज्य के स्वर्ण पदक विजेताओं को डेढ़ करोड़ रुपए देगी