Follow us on
Wednesday, April 25, 2018
Haryana

हरियाणा भूकम्प जैसी त्रासदियों से निपटने के लिए अग्रिम तैयारी करने वाला देश का पहला राज्य बना

December 22, 2017 08:11 AM

चंडीगढ़ - हरियाणा भूकम्प जैसी त्रासदियों से निपटने के लिए अग्रिम रूप से तैयारी करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है तथा इस कड़ी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भूकम्प जैसी जोखिम आपदाओं में कमी लाने के 10-प्वाइंट एजेण्डा के तहत हरियाणा के आज सभी 22 जिलों व चण्डीगढ़ के सैक्टर 1 स्थित हरियाणा सिविल सचिवालय व सैक्टर 17 स्थित नव सचिवालय सहित कुल 122 स्थानों पर गुरुग्राम से 25 किलोमीटर पश्चिम की ओर जयपुर डिप्रेशन व सोहना फाल्ट लाइन पर भूकम्प केन्द्र मानकर विकटर स्केल पर 6.8 भूकम्प की तीव्रता व 8 सघनता के साथ 10 किलोमीटर जमीन में गहराई केन्द्र मानकर आज प्रात: 10 बजे भूकम्प पर एक मैगा मॉक एक्सरसाइज का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अम्बाला में स्वयं भूकम्प राहत कार्यों में हाथ बटाया और मुख्यालय पर मुख्य सचिव डी एस ढेसी को मोबाइल वीडियो कान्फ्रैंसिंग से आवश्यक निर्देश दिए।

यह जानकारी हरियाणा के वित्त, राजस्व एवं आपदा प्रबन्धन मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने आज यहां सैक्टर 17 स्थित हरियाणा नव सचिवालय में आयोजित एक पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हरियाणा गठन के इतिहास में पहली बार हुआ है कि किसी सरकार ने अपनी नैतिक जिम्मेवारी समझते हुए प्राकृतिक आपदाओं के समय तत्काल राहत पहुंचाने की तैयारी की है। इस एक्सरसाइज से बहुत कुछ सीखने को मिला। उन्होंने कहा कि 136 टीमों ने इसमें भाग लिया और मॉकअप रूप में कुल 1717 व्यक्ति घायल व 257 मृत्यु दर्ज की गई।

उन्होंने बताया कि उपायुक्तों के साथ एक्सरसाइज के बाद डीब्रीफिंग के समय कुछ नई चीजें सीखने को मिली हैं, जो आगे से जिलों की आपदा प्रबन्धन योजना में शामिल की जाएंगी, जैसेकि वायरलैस कम्युनिकेशन के साथ वैकल्पिक व्यवस्था, अलग से एचएफ फ्रीक्वैंसी के साथ कम्युनिकेशन, सैटेलाइट फोनों का इस्तेमाल तथा ड्रोन व हवाई सर्वे के माध्यम से स्थिति का आकलन, कहीं-कहीं खोजी कुत्ते तैनात करने व भूकम्प जैसी त्रासदी में जानमाल के अधिक नुकसान के कारण अस्पतालों में शवों की पहचान के लिए अतिरिक्त मार्चुरी की व्यवस्था करना।

कैप्टन अभिमन्यु ने बताया कि एक टीम के रूप में मुख्यमंत्री से लेकर स्वयं वे तथा मुख्य सचिव से लेकर जिला प्रशासन के अधिकारियों ने अन्य केन्द्रीय एजेंसियों के साथ  हरियाणा प्लस टीम के रूप में कार्य किया है, जो सराहनीय है। उन्होंने बताया कि जिला उपायुक्तों को इस एक्सरसाइज पर 10 दिन तक फालोअप करने के निर्देश दिए गये हैं। 

उन्होंने बताया कि सेना, वायु सेना, अर्द्धसैनिक बल, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड जैसी केन्द्रीय एजेंसियों के अलावा हरियाणा पुलिस, चण्डीगढ़ प्रशासन, गृह आरक्षी, स्वास्थ्य तथा आपदा प्रबन्धन से जुड़े अन्य विभागों के अमले ने हिस्सा लिया।

चण्डीगढ़ के सैक्टर-1 स्थित हरियाणा सिविल सचिवालय तथा सेक्टर-17 स्थित नव सचिवालय में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की बठिंडा स्थित सांतवी वाहिनी के 52 जवानों ने कमांडटेंट रवि कुमार के नेतृत्व में भूकम्प के समय बचाव के तरीकों का मैकऑप ड्रिल  किया। इसका मुख्य उद्देश्य कर्मचारियों को आपदा के समय बचाव कार्यों की तरीकों के बारे जानकारी देना है।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
मुख्यमंत्री ने की बीपीएल परिवारों को दिये जाने वाले सामान की खरीद एजेंसी के साथ बैठक
इनेलो-बसपा का गठबंधन स्वाभाविक नही - रामबिलास शर्मा
पूरा प्रदेश एक ही परिवार की तरह - मनोहर लाल
आईएएस, आईएफएस और आईपीएस अधिकारियों समाज के प्रति संवेदनशील रहें - मुख्यमंत्री
महिलाओं पर अपराधों पर अंकुश लगाने को प्रदेश सरकार दुर्गा वाहिनी पुलिस दल का गठन करेगी
राज्य के सभी जिलों में अंत्योदय भवन खोले जाएंगे
मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ - मनोहर लाल
सरकार सामाजिक तथा प्रशासनिक व्यवस्था को मजबूत करेगी
सरकार की नई खेल नीति में छोटे से छोटा खिलाड़ी भी नौकरी से वंचित नहीं रहेगा - मुख्यमंत्री
हरियाणा सरकार राष्ट्रमंडल खेलों में राज्य के स्वर्ण पदक विजेताओं को डेढ़ करोड़ रुपए देगी