Follow us on
Tuesday, October 16, 2018
Chandigarh

जज पेपर लीक मामला - रजिस्ट्रार डॉ. बलविंदर शर्मा गिरफ्तार

December 29, 2017 07:39 AM

चंडीगढ़ (संदीप खत्री) - हरियाणा सिविल सर्विसेज (ज्यूडीशियल ब्रांच) प्रिलिमिनरी परीक्षा पेपर लीक मामले में आरोपी रजिस्ट्रार डॉ. बलविंद्र शर्मा को चंडीगढ़ पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने गिरफ़्तार कर लिया। गिरफ़्तारी के लिए जज से इजाज़त लेने वीरवार रात एसआईटी रोपड पहुँची। इजाज़त मिलने पर टीम  ने आरोपी को रात को ही रोपड़ से गिरफ़्तार कर लिया। पुलिस आरोपी को शुक्रवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड की मांग करेगी। उसके बाद पूरे मामले का पर्दाफ़ाश करने के लिए पुलिस उससे पूछताछ करेगी। रिमांड के दौरान पुलिस आरोपी से लीक हुए पेपर को रिकवर करने की कोशिश करेगी। किन-किन लोगों को यह पेपर पहुंचाया गया, इसके बारे में भी जानकारी हासिल करेगी। पुलिस तीसरी आरोपी सुशीला को भी जल्द ही गिरफ्तार कर सकती है।

15 दिसंबर को तीन आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने किया था केस दर्ज

जज पेपर लीक मामले में पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने 15 दिसंबर को चंडीगढ़ पुलिस के डीजीपी तेजिंदर सिंह लूथरा को एसआईटी बनाकर आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए थे। जिसके बाद थाना पुलिस सेक्टर-3 में आरोपी सुनीता, सुशीला और रजिस्ट्रार डॉ. बलविंद्र शर्मा के खिलाफ केस दर्ज किया था। पुलिस आरोपी सुनिता को गिरफ्तार कर चुकी है, जो इस समय जेल में है। इस मामले की जांच एसपी ऑपरेशन रवि कुमार (एसआईटी इंचार्ज), डीएसपी कृष्ण कुमार और इंस्पेक्टर पूनम दिलारी कर रही हैं।

पेपर से जुडे दस्तावेज हाथ लगने पर एसआईटी ने की कारवाई

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने चंडीगढ़ पुलिस की एसआईटी को पेपर से जुडा रिजल्र्ट और पूरा रिकार्ड दे दिया था। जिसके बाद टीम ने आरोपी बलविंदर शर्मा को गिरफ्तार किया। पेपर से जुडे दस्तावेज मिलने पर कुछ संदिग्ध लोगों के चेहरे भी एसआईटी के सामने आने की चर्चा हो रही है। हालांकि अभी पुलिस इसकी जांच कर रही है।

ऑडियो क्लिप सामने आने पर हुआ था मामले का खुलासा

पिंजौर की रहने वाली वकील सुमन ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि पेपर डेढ़ करोड़ में बिक रहा है। उसे भी पेशकश की गई थी। उसने सुशीला नाम की एक महिला से लेक्चर की एक ऑडियो मंगवाई थी, लेकिन उसने गलती से सुनीता से अपनी बातचीत की ऑडियो क्लिप सेंड कर दी। जिसमें पेपर में आने वाले प्रश्न-पत्रों पर हुई बातचीत की रिकार्डिंग थी। इस याचिका पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने अपने स्तर पर जांच शुरू की।

रिक्रूटमेंट रजिस्ट्रार और सुनीता के बीच हुई थी 760 बार कॉल और मैसेज

जिसमें सामने आया पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के ही रिक्रूटमेंट रजिस्ट्रार डॉ. बलविंदर शर्मा के मोबाइल फोन से सुनीता के फोन पर लगभग एक साल में 760 बार कॉल और मैसेज हुए हैं। सुनीता और सुशीला ने पेपर में टॉप किया था। बाद में कोर्ट ने परीक्षा ही रद्द कर दी। आरोप के अनुसार रिक्रूटमेंट रजिस्ट्रार डा. बलङ्क्षवद्र कुमार शर्मा ने प्रशन-पत्रों को हैंडल किया । प्रशन पत्र उनके पास थे,जब से पेपर तैयार हुआ था। इसी दौरान पेपर परीक्षा केंद्रों में बांट दिए गए। परीक्षा होने से पहले ही सुशीला और सुनीता के पास यह प्रश्न पत्र पहुुंच गए थे। 44 वर्षीय सुनीता ने जनरल कैटेगरी और सुशीला (46) ने रिजर्व कैटेगरी में टॉप किया था।

पेपर बेचने वाले खेल की मास्टरमाइंड है सुनिता; सूत्र

सूत्रों के अनुसार पेपर बेचने वाले खेल की मास्टरमाइंड सुनिता थी। सुनीता ने कई लोगों को पेपर बेचा था। किसी को डेढ़ करोड़ में तो किसी को दो करोड़ रुपये में। पूछताछ के दौरान सुनिता ने एसआईटी के समक्ष कई अहम खुलासे किए थे। एसआईटी जांच कर रही है कि आखिर सुनीता के पास पेपर किसके जरिए पहुंचा और किन-किन लोगों के पास यह पेपर पहुंचाया गया था।

109 जजों की पोस्टों के लिए हुआ था विज्ञापन जारी

20 मार्च 2017 को 109 एचसीएस ज्यूडिशियल पोस्टों के लिए विज्ञापन जारी हुआ था। 16 जुलाई को लिखित परीक्षा हुई। रिजल्र्ट आने से पहले ही पेपर लीक मामला सामने आ गया। जिसके बाद पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा में 109 जजों की पोस्ट के लिए हुई भर्ती प्रकिया को रद्द कर दिया था और पेपर से जुडा पूरा रिकार्ड और रिजल्र्ट जब्त कर लिया था।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
चंडीगढ़ की हवा भी होने लगी जहरीली, एयर क्वालिटी इंडेक्स हुआ मध्यम
डिग्री पाकर चहके पेक के विद्यार्थियों के चेहरे
रामलीला: श्रीराम को वनवास पर केवट ने पार कराई उनकी नैय्या
दो हजार किलोमीटर दूर से आने वाले माइग्रेटरी बर्ड्स के स्वागत के लिए चंडीगढ़ तैयार
एमनेस्टी इंडिया चंडीगढ़ में पहली बार लाया ‘सिनेमा फॉर ह्यूमन राइट्स’
चंडीगढ़ में सिख महिलाओं को हेलमेट पहनने से मिली छूट
पिंक ब्रिगेड महिलाओं ने महिलाओं को हेलमेट पहनने के लिए किया जागरूक
इंटीरियर डिजाइनर मोनिका खन्ना ने आईनिफ्ड में आयोजित की डिजाइन वर्कशॉप
सॉफ्टवेयर में तकनीकी गड़बड़ी के कारण नहीं शुरू हो पाई प्रापर्टी की ई-ऑक्शन
कालका मेल को मिला नया लुक, उत्कृष्ट योजना से तहत देश की पहली ट्रेन बनी