Follow us on
Friday, July 20, 2018
Chandigarh

पूर्व ज्वाइंट कंट्रोलर ऑफ एक्सैमिनेशन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

December 29, 2017 07:41 AM

चंडीगढ़ (संदीप खत्री) - पंजाब यूनिवर्सिटी के पूर्व ज्वाइंट कंट्रोलर ऑफ एक्सैमिनेशन 68 वर्षीय वीरेंदर कपूर की लाश संदिग्ध परिस्थितियों में उनके घर स्थित सेक्टर-8 में मिली। शव दो दिन तक घर में ही पड़ी रही। 25 दिसंबर को घटना की जानकारी पुलिस को हुई। घटना का खुलासा तब हुआ जब विरेंद्र के ड्राइवर ने सेक्टर-35 में रहने वाली उसकी बहन को बताया।  जब बहन घर में जाने लगी तो विरेंद्र की केयर टेकर ने उन्हें घर में घुसने नहीं दिया। जिसके बाद उसकी बहन ने पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया। पुलिस इस मामले में हत्या के एंगल से भी जांच कर रही है। हालांकि पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के असली कारणों को पता लग पाएगा। चर्चा हो रही है कि विरेंद्र की मौत हार्ट अटैक होनेे से हुई है।

केयर टेकर ने बहन को नहीं घुसने दिया घर, बहन ने की पुलिस को कॉल

पुलिस सूत्रों से पता चला कि 23 दिसंबर को विरेंद्र अपने घर के बाहर खड़ा होकर अंडे खरीद रहा था। इसी दौरान वह अचानक जमीन पर गिर गया। जिसके बाद उनके घर में काम करने वाले केयर टेकर युवती विरेंद्र को एंबुलेंस में लेकर सेक्टर-16 के अस्पताल लेकर गई। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसके बाद वह फिर एंबुलेंस में शव को लेकर वापस सेक्टर-8 स्थित विरेंद्र के घर चल गई। केयर टेकर युवती ने विरेंद्र का पोस्टमार्टम करवाने के लिए अपने भाई को बुलाया। उसका भाई जम्मू कशमीर से आ रहा था।

विरेंद्र की मौत की जानकारी उसकी बहन को दी ड्राइवर ने

ड्राइवर ने सेक्टर-35 में रहने वाली विरेंद्र की बहन को बताया कि उनकी मौत हो चुकी है। बहन जब सेक्टर-8 में पहुंची तो केयर टेकर ने उसे घर नहीं घुसने दिया। चूंकि वह उन्हें जानती नहीं थी। जिसके बाद बहन ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलने पर मौके पर डीएसपी राम गोपाल और पुलिस स्टेशन सेक्टर-3 के एसएचओ शेर सिंह पहुंचे। विरेंद्र की तीनों बहने अपने भाई की हत्या होने का आरोप लगाने लगी। पुलिस ने अमेरिका में विरेंद्र के बेटे से संपर्क किया,चूंकि पोस्टमार्टम करवाने के लिए ब्लड रिलेशन की सहमति होनी जरूरी है। बेटे ने बुधवार को पुलिस को कहा कि उसके पिता का पोस्टमार्टम उसकी बुआ ही करवाएंगी। पुलिस ने  पोस्टमार्टम के लिए शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाकर अगली करवाई शुरू कर दी है।

पत्नी से हो चुका था तलाका, बेटा भी रहता है अलग

विरेंद्र कपूर का अपनी पत्नी से कुछ महीने पहले तालाक हो गया था। विरेंद्र की पत्नी पंजाब यूनिवर्सिटी में डिपार्टमेंट ऑफ फ्लिोसोफी में प्रोफेशर थी। चाल साल तक पत्नी ने पीयू में नोकरी की। लगभग चार महीने पहले पत्नी की मौत हो गई थी। विरेंद्र का बेटा भी अपने पिता से अलग रहता था। विरेंद्र सेक्टर-8 स्थित अपने घर में कई सालों से अकेला ही रह रहा था। विरेंद्र का बेटा अमेरिका में रहता है। सूूत्रों का कहना है कि विरेंद्र की अपनी बहनों से भी नहीं बनती थी।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
चंडीगढ़ की युवती को बंधक बनाकर चालीस लोगों ने किया गैंगरेप
चंडीगढ़ में अब पुराने वाहनों का फिटनेस टेस्ट होगा अनिवार्य
चंडीगढ़ में खेल सुविधाओं का हाल लेने पहुंचे प्रशासक
चांसलर से अपील, आउटसाइडर न हो पीयू का अगला वीसी
पीयू के वीसी के लिए सर्च कमेटी ने लिए इंटरव्यू, चांसलर को भेजे तीन नाम
चंडीगढ़ में घर की छतों पर अब 17 नवंबर तक सोलर पावर प्लांट लगाना जरूरी
पीयू के अगले वीसी के लिए आज दिल्ली में होंगे इंटरव्यू
पिंक ब्रिगेड महिलाओं ने महिलाओं को हेलमेट पहनने के प्रति किया जागरूक
आज से मिलेगी चंडीगढ़ से कोलकाता के लिए सीधी फ्लाइट
अब तक 37 देशों के मरीज पीजीआर्ई में करवा चुके ईलाज