Follow us on
Thursday, July 19, 2018
BREAKING NEWS
लाइव डिबेट में मौलाना ने एक महिला को पीटाप्रधानमंत्री ने संसद सत्र सुचारू रूप से चलाने के लिये सभी दलों का सहयोग मांगाभीड़तंत्र को नया पैमाना बनने की इजाजत नहीं दी जायेगी: लिंचिंग पर न्यायालय की चेतावनीयदि कोई कानून मौलिक अधिकार का हनन करता है तो उसे निरस्त करना न्यायालय का कर्तव्य : शीर्ष अदालतलोकपाल की तलाश के लिये पैनल गठित करने हेतु चयन समिति की बैठक 19 जुलाई को :केंद्रएनआरआई विवाह के पंजीकरण के बारे में तत्काल सूचित करें राज्य: मेनका गांधीआयुर्वेद को ‘वैज्ञानिक मान्यता’ देने की खातिर आईआईटी दिल्ली और एआईआईए के बीच समझौता हुआशरीफ, उनकी बेटी की अपीलों पर सुनवाई स्थगित ,चुनाव तक रहना होगा जेल में
Haryana

निजी स्कूल शीतकालीन छुट्टी रद कराने के लिए पहुंचे हाईकोर्ट

December 29, 2017 08:03 AM

चंडीगढ़ - प्रदेश सरकार द्वारा 25 दिसंबर से आठ जनवरी तक शीतकालीन अवकाश किए जाने के खिलाफ निजी स्कूल पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय में पहुंच गए और इन सरकार के इस निर्णय के खिलाफ याचिका दायर की है।  हाईकोर्ट इस याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा। निजी स्कूल इन छुट्टियों का विरोध कर रहे हैं। गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने आदेश जारी किए थे कि इन छुट्टियों के दौरान यदि कोई स्कूल खुला मिला तो उसके खिलाफ प्राथमिक दर्ज की जाएगी। सरकार के इस आदेश से निजी स्कूल संचालक नाराज चल रहे थे।

इन लोगों ने पहले शिक्षामंत्री रामबिलास शर्मा से भी मुलाकात की थी, लेकिन आदेश वापस लेने की बात नहीं बन पाई थी। प्रदेश सरकार के आदेश को अंबाला की निशा एजुकेशन सोसाइटी ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में चुनौती दी है। याचिका में कहा गया है कि हरियाणा सरकार का यह आदेश तर्कसंगत नहीं है कि अगर कोई स्कूल खुलेगा तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज होगी। याचिका के अनुसार, सरकार ने पिछले दिनों भी प्रदूषण के चलते एक सप्ताह के करीब स्कूल बंद करने के आदेश दिए थे।

गुरमीत राम रहीम केस के दौरान भी स्कूल बंद रहे और अब दो सप्ताह के करीब की छुट्टी के आदेश जारी कर दिए गए हैं। ऐसे में बच्चों का सिलेबस कैसे पूरा होगा? इतनी सारी छुट्टी खुद शिक्षा विभाग के नियम के खिलाफ है। याचिका में कहा गया है कि नियमों के अनुसार 220 दिन का शिक्षण कार्य दिवस होना जरूरी है, लेकिन इन छुट्टियों के कारण यह पूरा नहीं हो रहा। सीबीएसई की प्रायोगिक परीक्षा 15 जनवरी से शुरू होने वाली हैं, ऐसे में अगर स्कूल छुट्टियां न कर बच्चों के भविष्य को ध्यान में रख कर पढ़ाना चाहते हैं तो इसमें गलत क्या है? लेकिन सरकार ने तानाशाही रवैया अपनाते हुए आदेश जारी कर दिया। याचिकाकर्ता ने हाईकोर्ट से मांग कि सरकार के इस आदेश पर रोक लगा कर छात्रों के हित में आदेश दिया जाए।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
लाइव डिबेट में मौलाना ने एक महिला को पीटा
केंद्र ने हरियाणा सरकार द्वारा महिला सुरक्षा के लिए किए गए कार्यों की प्रशंसा की
हरियाणा पुलिस चला रही नशा तस्करों के खिलाफ विशेष अभियान
हरियाणा में रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए चार एमओयू पर हस्ताक्षर
मेवात क्षेत्र का पिछड़ा पन दूर करना प्रधानमंत्री व प्रदेश सरकार की है प्राथमिकता
अतिथि अध्यापकों का वेतन को 20 से 25 प्रतिशत बढ़ेगा – शिक्षा मंत्री
बलात्कार या छेड़छाड़ के आरोपी की सभी सुविधाएं होगी निलम्बित - सीएम
छात्र विरोधी है भाजपा सरकार - चौटाला
175 करोड़ रूपए खर्च कर होगी करनाल से पंजाब की कनेक्टिविटी
ट्राईसिटी प्लानिंग बोर्ड स्थापित करने संबंधी खट्टर के सुझाव को कैप्टन ने किया रद्द