Follow us on
Wednesday, January 23, 2019
World

प्रदर्शनकारियों से सख्ती से निपटा जाएगा - ईरान

January 01, 2018 07:21 AM

तेहरान - ईरान के रिवोल्यूशनरी गाड्र्स ने सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि राजनीतिक विद्रोह खत्म नहीं होने की स्थिति में प्रदर्शनकारियों से सख्ती से निपटा जाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जीवन संबंधी मानदंडों के गिरते स्तर के मुद्दे पर शुरू हुए प्रदर्शन के आज तीन दिन हो गये हैं लेकिन रिवोल्यूशनरी गाड्र्स के एक सैन्य अधिकारी ने बताया कि राजनीतिक नारे लगाने और सार्वजनिक सम्पत्तियों को नुकसान पहुंचाने के बाद प्रदर्शन का स्वरूप बदल गया है।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2009 में हुई समाज सुधार रैलियों के बाद यह सरकार से असहमति का सबसे बड़ा प्रदर्शन है। इसमें अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है। खोरामाबाद, जंजान और अहवाज में देश के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला खमैनी को अपदस्थ करने या उनकी हत्या का आह्वान किया जा रहा था। ईरान में इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गाड्र्स दस्ता देश के सर्वोच्च नेता से गठजोड़ करके काम करने वाला एक मजबूत सैन्य बल है। यह बल देश के इस्लामिक कानून की रक्षा करने के लिये प्रतिबद्ध है।

ब्रिगेडियर जनरल इस्माइल कोसारी ने स्थानीय संवाद समिति को बताया कि लोगों में अगर महंगाई को लेकर आक्रोश है तो उन्हें सार्वजनिक सम्पत्तियों को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए। ईरान के आंतरिक मामलों के मंत्री अब्दोल्रेजजा रहमानी-फजली ने भी चेतावनी दी है कि देश में चल रहे विरोध प्रदर्शन से हुए नुकसान के लिये प्रदर्शनकारियों को ही जिम्मेदार माना जाएगा और मुआवजा उन्हीं से वसूला जाएगा।

देश में हिंसा, डर और आतंक के प्रसार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और उसका डटकर सामना किया जाएगा। ईरान के पूर्वोत्तर में स्थित शहर मशहद में मंगलवार को शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन शुक्रवार तक अन्य प्रमुख शहरों में फैल गया है। तेहरान में छोटे स्तर पर शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन शनिवार तक हजारों लोगों तक पहुंच गया है। इस दौरान छात्रों और पुलिस में संघर्ष हुआ है। कई अन्य शहरों में भी लोग उग्र हो गये हैं। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सभी स्थानों पर सार्वजनिक रूप से ईरान में धार्मिक कानून को खत्म करने की मांग की जा रही है। सीरिया में बशर-अल-असद सरकार का प्रमुख सैन्य सहयोगकर्ता देश ईरान है। ईरान पर यमन में हौती विद्रोहियों का सहयोग करने का भी आरोप लग चुका है।

अमेरिका भी ईरान में प्रदर्शनकारियों को अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर सहयोग कर रहा है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया है,अत्याचार का अन्त एक दिन जरूर आता है और वह दिन जरूर आएगा जब ईरान के लोग इसे हासिल कर लेंगे। दुनिया देख रही है।ईरान के विदेश मंत्रालय ने ट्रंप के इससे पहले के आरोपों को अवसरवादी और कपटपूर्ण करार दिया था।

Have something to say? Post your comment
 
More World News
राष्ट्रपति चुनाव के लिए कमला हैरिस की दावेदारी से उत्साहित हैं भारतीय-अमेरिकी
जमानत मंजूर होने पर पर जापान में ही रहूंगा - घोसन
यूरोपीय संघ ने कहा, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के चुनावी नतीजों पर संशय बरकरार
आंशिक सरकार बंदी, सीमा मुद्दे पर महत्वपूर्ण घोषणा कर सकते हैं ट्रंप
इजराइली एनएसए ने की मोदी से मुलाकात, द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा
अफगानिस्तान में भारत की कोई भूमिका नहीं - पाकिस्तान एफओ
पाकिस्तानी सेना ने तालिबान के शीर्ष कमांडर समेत चार आतंकवादियों को ढेर किया
डेमोक्रेट नेताओं के कारण ठप हुआ सरकारी कामकाज - ट्रम्प
भ्रष्टाचार मामले में शरीफ की जमानत रद्द करने से न्यायालय का इंकार
कामकाज बंदी के चलते गर्त में पहुंची अमेरिकी अर्थव्यवस्था