Follow us on
Saturday, October 20, 2018
Punjab

कांग्रेस सरकार के प्रति लोगों का मोह भंग - मजीठिया

January 03, 2018 07:38 AM

अमृतसर - पंजाब के पूर्व मंत्री एवं शिरोमणी अकाली दल के महासचिव बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि सरकार की जन विरोधी नीतियों के कारण लोगों का कांग्रेस से मोह भंग हो गया है। मजीठिया ने आज पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार की नीतियां और नीयत साफ नहीं है। उन्होंने अकाली दल के कार्यकर्ताओं काे वर्ष 2019 के चुनाव की तैयारियों के लिए तैयारियों अभी से जुट जाने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि पंजाब में फैले नशे के संबंध में अकाली नेताओं पर झूठा आरोप लगाने वाली आम आदमी पार्टी (आप) के नेता सुखपाल सिंह खैहरा नशों के मामलो में अदालत की तरफ से जारी किए गए वारंट से बचने का प्रयास कर रहे हैं।

पंजाब सरकार की मौजूदा आर्थिक नीतियों को गलत ठहराते हुए मजीठिया ने कहा कि वर्तमान न केवल महँगाई बढ़ी है बल्कि राजस्व नीति द्वारा सरकारी खजाने को भी चूना लगाया जा रहा है।रेत खनन मामले में सरकार के मंत्री शामिल हैं।

मजीठिया ने कहा कि सरकार ने घरेलू बिजली बिलों में 15 प्रतिशत का बढ़ाकर लोगों पर 2500 करोड़ का अतिरिक्त बोझ डाल दिया गया है। उन्होंने कहा कि घर-घर नौकरी का नारा देने वाली कांग्रेस ने अभी तक एक भी रोजगार नहीं दिया है और किसानों के कर्ज भी माफ नहीं किये हैं।

उन्होंने कहा कि अकाली दल की जिला इकाई का नया स्वरूप तैयार किया जायेगा।जिसमें बेदाग़, मेहनती कार्यकर्ताओं को प्रतिनिधित्व दिया जाएगा।

Have something to say? Post your comment
 
More Punjab News
पंजाब में रावण दहन देख रहे लोग ट्रेन की चपेट में आए, कम से कम 61 की मौत
अकाल तख्त के जत्थेदार ने इस्तीफा दिया
डी.जी.पी अरोड़ा द्वारा उत्तरी राज्यों के पुलिस बलों के बीच बेहतर तालमेल पर जोर
मुख्यमंत्री ने मोहाली में नये बने विजीलैंस भवन का किया उद्घाटन
सरकार के पास पैसा नहीं परन्तु एडहॉक कर्मचारी पक्के करने का मुद्दा हल करेंगे - अमरिन्दर सिंह
पंजाब में गुटखा, पान मसाला खाद्य पदार्थों पर लगा प्रतिबंध
तृप्त बाजवा ने मगनरेगा के ऑनलाईन एस्टीमेट तैयार करने के लिए सॉफ्टवेयर का किया उद्घाटन
पंजाब में 18 मेधावी छात्रों को नकद पुरस्कार
मुख्यमंत्री ने धान की समय पर खरीद और भुगतान के दिये निर्देश
पंचायती ज़मीनों पर इस वर्ष अब तक लगभग 20 लाख पौधे लगाए गए - तृप्त बाजवा