Follow us on
Saturday, July 21, 2018
Sports

फिर मैदान पर लौटेगा यह पूर्व भारतीय दिग्गज क्रिकेटर

January 04, 2018 06:07 AM

मुंबई - क्रिकेट से संन्यास लेने वाले बाएं हाथ के पूर्व भारतीय बल्लेबाज विनोद कांबली ने अब कोचिंग करने का फैसला किया। टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज कांबली ने खुद इस बात की जानकारी दी है। लगातार दो टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले देश के पहले बल्लेबाज कांबली ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि उन्होंने कोच बनने का फैसला दोस्त और टीम के साथी रहे सचिन तेंदुलकर की सलाह पर किया।

गौरतबल है कि विनोद कांबली और सचिन तेंदुलकर दिग्गज क्रिकेट कोच रमाकांत आचरेकर के शिष्य है। अपनी दोस्ती के लिए मशहूर इन दोनों खिलाडिय़ों ने भारत का प्रतिनिधित्व भी किया। कांबली ने कहा कि क्रिकेट मैदान वह खिलाड़ी नहीं, बल्कि कोच के रूप में वापसी कर रहे है जिसका श्रेय तेंदुलकर को जाता है।

उन्होंने कहा कि जब मैंने क्रिकेट से संन्याय लिया था, तब मैंने कमेंट्री या टीवी पर विशेषज्ञ बनने के बारे में सोचा, लेकिन क्रिकेट के प्रति मेरा प्यार हमेशा बना रहा, इसलिए मैं फिर से मैदान पर आ रहा हूं। बाएं हाथ का यह पूर्व बल्लेबाज मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के बांद्रा कुर्ला परिसर में एक क्रिकेट कोचिंग अकादमी के लॉन्च के मौके पर मौजूद था। इस अकादमी में वह कोचिंग सत्र आयोजित करेंगे।

कांबली ने कहा कि सचिन को पता है मुझे क्रिकेट से कितना लगाव है, इसलिए उन्होंने मुझ से कहा कि मैं कोचिंग देना शुरू करूं। उन्होंने मुझे जो रास्ता दिखाया मैं उस पर चलने की कोशिश कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि कोचिंग लेने वाले छात्रों को वह उन मूल्यों के बारे में बताएंगे जो उन्होंने आचरेकर से सिखा है। कांबली ने कहा कि आचरेकर सर से मिले मूल्यों को मैं छात्रों के साथ साझा करूंगा।

Have something to say? Post your comment
 
More Sports News
चयन पात्रता में नरमी के खेल मंत्रालय के प्रस्ताव पर चर्चा हेतु आईओए की बैठक होगी
भुवनेश्वर की फिटनेस मुद्दे पर बीसीसीआई का सहयोगी स्टाफ सवालों के घेरे में
एशियाई खेलों के खिताब का बचाव करते हुए हमें सतर्क रहना होगा: हरेंद्र
सीरीज के फाइनल में मध्यक्रम की परेशानियों से उबरना चाहेगा भारत
धोनी की फिनिशिंग पर बार-बार सवाल उठाना दुर्भाग्यपूर्ण - कोहली
भारतीय जूनियर महिला हाकी टीम ने आयरलैंड को 4-1 से हराया
कुलदीप को इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट खेलने की उम्मीद
बीसीसीआई को आरटीआई अधिनियम के तहत क्यो नहीं लाया जाये - सीआईसी
वनडे श्रृंखला में भारत का पलड़ा भारी, चौथे नंबर पर बल्लेबाजी कर सकते हैं कोहली
अरोठे ने खिलाड़ियों के विद्रोह के बाद भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच का पद छोड़ा