Follow us on
Tuesday, October 16, 2018
Chandigarh

पंजाब विश्वविद्यालय नोडल सेंटर बनेगा सेंटर फार पालिसी रिसर्च

January 06, 2018 08:47 AM

चंडीगढ़ - डीएसटी-सेंटर फार पॉलिसी रिसर्च अब पंजाब विश्वविद्यालय सहित चार विश्वविद्यालयों और छह नेशनल रिसर्च लैब के बने नये फोरम के लिये एक नोडल सेंटर की तरह काम करेगा। इन सभी संस्थानों भी मिलाकर बने एक फोरम की अध्यक्षता का जिम्मा पीयू के कुलपति प्रो. एके ग्रोवर को दिया गया। फोरम के लिये हर सदस्य-संस्थान अपने किसी प्रोफेसर या साइंटिस्ट को गतिविधियों के संचालन के लिये नामित करेगा। नेशनल लैब के साइंटिस्टों को सहायक फैकल्टी के तौर पर काम करने को प्रोत्साहन दिया जायेगा और साथ ही यूनिवर्सिटी के टीचर्स को नेशनल रिसर्च लैब में वक्त बिताने का एक चैनल विकसित किया जायेगा।

सभी विश्वविद्यालयों व रिसर्च लैब के बीच एक करार का ड्राफ्ट तैयार किया जायेगा जिसे सभी मैंबरों को दिया जायेगा। फैकल्टी, रिसर्च स्कॉलर्स व छात्रों के लिये नेशनल लैबों में सेमिनार व कार्यशालाओं का नियमित तौर पर आयोजन किया जायेगा। पंजाब विश्वविद्यालय में आज क्षेत्र की यूनिवर्सिटीज को नेशनल रिसर्च लैबोरेटरी से जोड़ने के संबंध में एक बैठक आयोजित की गयी। यह बैठक 18 दिसंबर को दिल्ली में भारत सरकार के प्रिंसिपल साइंटिफिक आफिसर (पीएसए) के साथ हुई एक उच्चाधिकार प्राप्त बैठक के दिशा-निर्देशों पर हुई। बैठक में आसपास के विश्वविद्यालयों के कुलपतियों अथवा उनके प्रतिनिधियों ने भाग लिया। पीएसए ने कहा था कि विश्वविद्यालयों में शिक्षा और शोध में सुधार के लिये नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूशन्स को अपने रिसोर्स साझे करें।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
चंडीगढ़ की हवा भी होने लगी जहरीली, एयर क्वालिटी इंडेक्स हुआ मध्यम
डिग्री पाकर चहके पेक के विद्यार्थियों के चेहरे
रामलीला: श्रीराम को वनवास पर केवट ने पार कराई उनकी नैय्या
दो हजार किलोमीटर दूर से आने वाले माइग्रेटरी बर्ड्स के स्वागत के लिए चंडीगढ़ तैयार
एमनेस्टी इंडिया चंडीगढ़ में पहली बार लाया ‘सिनेमा फॉर ह्यूमन राइट्स’
चंडीगढ़ में सिख महिलाओं को हेलमेट पहनने से मिली छूट
पिंक ब्रिगेड महिलाओं ने महिलाओं को हेलमेट पहनने के लिए किया जागरूक
इंटीरियर डिजाइनर मोनिका खन्ना ने आईनिफ्ड में आयोजित की डिजाइन वर्कशॉप
सॉफ्टवेयर में तकनीकी गड़बड़ी के कारण नहीं शुरू हो पाई प्रापर्टी की ई-ऑक्शन
कालका मेल को मिला नया लुक, उत्कृष्ट योजना से तहत देश की पहली ट्रेन बनी