Follow us on
Wednesday, July 18, 2018
BREAKING NEWS
लाइव डिबेट में मौलाना ने एक महिला को पीटाप्रधानमंत्री ने संसद सत्र सुचारू रूप से चलाने के लिये सभी दलों का सहयोग मांगाभीड़तंत्र को नया पैमाना बनने की इजाजत नहीं दी जायेगी: लिंचिंग पर न्यायालय की चेतावनीयदि कोई कानून मौलिक अधिकार का हनन करता है तो उसे निरस्त करना न्यायालय का कर्तव्य : शीर्ष अदालतलोकपाल की तलाश के लिये पैनल गठित करने हेतु चयन समिति की बैठक 19 जुलाई को :केंद्रएनआरआई विवाह के पंजीकरण के बारे में तत्काल सूचित करें राज्य: मेनका गांधीआयुर्वेद को ‘वैज्ञानिक मान्यता’ देने की खातिर आईआईटी दिल्ली और एआईआईए के बीच समझौता हुआशरीफ, उनकी बेटी की अपीलों पर सुनवाई स्थगित ,चुनाव तक रहना होगा जेल में
Business

दिवालिया प्रक्रिया में फंसी कंपनियों को आयकर में मिली राहत

January 07, 2018 09:25 AM

नई दिल्ली - दिवालिया प्रक्रिया से गुजर रहीं कंपनियों को आयकर विभाग ने न्यूनतम वैकल्पिक कर यानी मैट के मामले में राहत दी है। आयकर कानून के सेक्शन 115जेबी के अनुसार पिछले वर्षों के घाटे या बकाए डेप्रिसिएशन (इसमें से जो भी कम हो) को समायोजित करने के बाद कंपनियों को होने वाले मुनाफे पर मैट देना होता है। विभाग ने कहा है कि आंकलन वर्ष 2018-19 (वित्त वर्ष 2017-18) से दिवालिया प्रक्रिया से गुजर रहीं कंपनियों के लिए इस नियम में रियायत दी गई है।

इंसॉल्वेंसी एंड बैंक्रप्सी कोड (आइबीसी) के तहत अगर किसी कंपनी के खिलाफ दिवालिया कार्रवाई का आवेदन सक्षम प्राधिकारी द्वारा स्वीकार कर लिया गया है तो उसे अपने पिछले वर्षों के घाटे और बकाया डेप्रिसिएशन दोनों को अपने लाभ में से घटाने की अनुमति होगी।

अगर इन दोनों को निकालने के बाद कंपनी को लाभ होगा तो उसे टैक्स भरना होगा। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने कहा है कि ऐसी कंपनियों की वाजिब दिक्कतें कम करने के इरादे से यह रियायत दी गई है। तमाम कंपनियों से फंसे कर्ज (एनपीए) की वसूली के लिए बैंक बकाएदार कंपनियों के खिलाफ दिवालिया कार्रवाई शुरू करने के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) में आवेदन कर रहे हैं।

बैंक कई डिफॉल्टरों के मामलों में पहले ही इस तरह का आवेदन कर चुके हैं। एनसीएलटी ने कुछ मामलों में आवेदन स्वीकार करके दिवालिया प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। सरकार द्वारा पिछले साल आइबीसी को लागू किए जाने के बाद बैंकों ने डिफॉल्टर कंपनियों से एनपीए की वसूली के लिए नए सिरे से प्रयास शुरू किए हैं।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
वर्ल्ड एक्सपो-2020 में भारतीय पवेलियन का निर्माण करेगी एनबीसीसी
चीन ने अमेरिका के प्रस्तावित शुल्क के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में चुनौती दी
कंपनियों के तिमाही नतीजों, मुद्रास्फीति के आंकड़ों से तय होगी बाजार की चाल
प्रमुख बाजारों में विविध चुनौतियों का सामना कर रही है टाटा मोटर्स-जेएलआर - चंद्रशेखरन
सरकार ने कर मामलों में अपील दायर करने की मौद्रिक सीमा बढ़ायी
बीएसएनएल ने शुरू की देश की पहली इंटरनेट टेलीफोन सेवा
पीवीआर पश्चिमी एशिया, उत्तरी अफ्रीका के बाजारों में कदम रखने की तैयारी में,दुबई की कंपनी से किया करार
टाटा संस के चेयरमैन से हटाए जाने के खिलाफ दाखिल मिस्त्री की याचिका खारिज
विदेशी निवेशकों ने पांच कारोबारी सत्रों में किया 3,000 करोड़ रुपये का निवेश
कंपनी में धोखाधड़ी हुई या नहीं, तय नहीं कर पाया फोर्टिस बोर्ड - आडिटर