Follow us on
Friday, April 20, 2018
Chandigarh

अकेले क्राइम ब्रांच के स्टाफ के आगे 16 थानों की पुलिस फेल

January 09, 2018 06:54 AM

चंडीगढ़ (संदीप खत्री) - एक तरफ जो अकेले क्राइम ब्रांच के स्टाफ ने कर दिखाया वो 16 थानों कीपुलिस मिलकर  नहीं कर पाई। दरअसल क्राइम ब्रांच ने रिट्ज कार सवार दो लुटेरों को दबोच लिया है, जो लंबे समय से शहर में लूट  कर दहशत फैला रहे थे। यह लुटेरे लोगों को देर रात या फिर अल सुबह अपना शिकार बनाकर गन प्वाइंट पर लूट की घटना का अंजाम देते थे। वीरवार की रात इन लुटेरों ने एक ही घंटे के भीतर दो वारदातों को अंजाम दे दिया था। एक महीने में पांच लूट कर चुके थे। इस गैंग को पकडऩे के लिए 16 थानों की पुलिस लगी हुई थी और एक तरफ अकेली क्राइम क्रांच अपनी इन्वेस्टिगेशन कर रही थी। क्राइम ब्रांच की मेहनत की वजय से यह लुटेरे पकड़ में आ गए। पुलिस इन्हे यदि समय से न पकड़ती तो यह आरोपी ओर भी कई वारदातों को अंजाम दे सकते थे। पुलिस ने इनके कब्जे से रिट्ज कार भी बरामद कर ली है। इनकी गिरफ्तारी से शहर में हुए पांचों मामले सोल्व हो गए हैं।

इस मामले को सुलझाने के लिए एसपी ऑपरेशन रवि कुमार ,डीएसपी पवन कुमार, इन्स्पेक्टर अमनजोत ओर पूरे स्टाफ ने अपनी रातों की नींद तक खाराब कर ली। चूंकि यह आरोपी रात के समय या फिर सुबह तडक़े वारदातें कर रहे थे। आरोपियों की गिरफ्तारी की जानकारी क्राइम ब्रांच ने रविवार को प्रेस कान्फ्रेंस के जरिए मीडिया को दी। हालांकि जगमार्ग ने शनिवार को ही इस मामले के सुलझने की खबर समाचार पत्र में प्रकाशित कर दी थी। पकड़े गए दोनो आरोपियों की पहचान जलंदर के रहने वाले 24 वर्षीय योद्धा सिंह उर्फ़  ओर जोधा ओर 20 साल के लवप्रीत सिंह उर्फ़ हैपी के तोर पर हुई है।

चारो आरोपी गिरफ्त में आते तो हो सकती थी ओर भी घटना

शहर में रिट्ज कार सवार लुटेरों का आतंक बढ़ता ही जा रहा था। यह लुटेरे रिट्ज कार लेकर शहर में देर रात या फिर अल सुबह सिटीब्यूटीफुल की सडक़ों पर उतरते थे। किसी को पिस्टल के दम पर लूटकर फरार हो जाया करते थे। इन लुटेरों को पकडऩे के लिए डीजीपी तेजिंदर सिंह लूथरा ने थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच को लगाया हुआ था। क्राइम ब्रांच ने डीजीपी के आदेशों पर काम करते हुए गन प्वाइंट पर लूटने वाले गिरोह को बेनकाब किया है।

रिट्ज कार सवार लुटेरों ने मोगा में भी की थी फायरिंग कैंबवाला में ओला कैब चालक से हुई लूट के दौरान पुलिस ने पीडि़त के मोबाइल फोन पर मैसेज भेज कर लॉकेशन चैक करने की कोशिश की थी। मैसेज डीलीवर होने पर पता चला कि मोबाइल की टॉवर लॉकेशन पंजाब के मोगा के आस-पास की है। पुलिस ने उस क्षेत्र में पता किया तो सामने आया कि वहां भी सफेद रंग की रिट्ज कार सवारों ने लूट के इरादे से दो जगह फायरिंग की थी। एक जगह इन्होंने लूट की भी कोशिश की। हालांकि अभी यह क्लीयर नहीं हुआ कि मोगा में लुटेरें ने जिस रिट्ज कार से घटना को अंजाम दिया, वह चंडीगढ़ से लुटी हुई है या नहीं। इसका खुलासा तो आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही हो पाएगा।

26 दिसंबर देर रात की घटना

बाइक सवार से लूटे थे 10 हजार, मोबाइल ओर चेन सेक्टर-22/23 स्थित लाइट प्वाइंट पर अल सुबह बाइक सवार से रिट्ज कार सवार लुटेरों ने गन प्वाइंट पर 10 हजार रुपये और सोने की चेन लूटकर फरार हो गए। इस दौरान पीडि़त से आरोपियों ने मारपीट भी की। पीडि़त 28 वर्षीय संजीव कुमार सेक्टर-22 स्थित परोंठा कार्नर ढाबे पर काम करता है। सोमवार देर रात वह काम खत्म कर सेक्टर-56 स्थित अपने घर जा रहा था। इस दौरान सेक्टर-22/23 लाइट प्वाइंट पर बाइक सवार संजीव का रिट्ज कार सवार आरोपियों ने पिस्टल दिखाई और मारपीट कर 10 हजार रुपये, मोबाइल फोन और सोने की चेन लेकर फरार हो गए थे। घटना दिसंबर के आखरी की है।

23 दिसंबर अल सुबह  हुई थी वारदात

वेटर को किडनैप कर की थी लूट,पंजाब में फेंककर हुए थे फरार सेक्टर-37 में रिट्ज कार सवार तीन लुटेरों ने देर रात डिवाइडिंग रोड़ 55/40 से वेटर को हथियार के दम पर किडनैप किया। उसे किडनैप कर उसके एटीएम से दस हजार रुपये निकलवाए और मारपीट कर उसे पंजाब के खन्ना के आस-पास के इलाके में फेंक कर फरार गए। पीडि़त जै राम सेक्टर-56 का रहने वाला है। 48 वर्षीय जै राम ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि सेक्टर-44 में निधी कैटर्रिस में काम करता है। वह जीरकपुर में काम पर गया हुआ था। वहां से वह वापस अपने घर जा रहा था। इस दौरान डिवाइडिंग रोड़ 55/40 में देर रात उसे कार सवार तीन युवकों ने रोका और जबरदस्ती गाड़ी में किडनैप कर लिया। यह वारदात दिसंबर के आखरी में हुई।

10 दिसंबर की रात हुई थी लूट

ओला कैब चालक से गन प्वाइंट पर लूटी थी रिट्ज कार कैंबवाला में ओला टेक्सी चालक 30 वर्षीय पूर्ण सिंह से से गन प्वाइंट पर दो बदमाश कैब, मोबाइल फोन, कान की वालियां ओर 15 सौ रुपये की लूट कर फरार हो गए थे। दोनों युवकों ने किसी राहगीर से फोन मांगकर रात साढे 10 बजे कैंबवाला जाने के लिए सेक्टर-43 स्थित बस स्टैंड से कैंबवाला जाने के लिए ओला टेक्सी हायर की थी। गाड़ी जैसे ही कैंबवाला के जंगली रास्ते के पास पहुंचा तो आगे बैठे युवक ने ड्राइवर से शोच जाने के लिए कहा। जैसे ही उसने गाड़ी रोकी तो पीछे बैठे युवक ने ड्राइवर पर गन तान दी। पहले ड्राइवर से मोबाइल फोन लिया और स्विच ऑफ कर दिया। बदमाशों ने टेक्सी चालक को खुड्डा अलिशेर जाने वाली सडक़ पर फेंक दिया और गाड़ी, मोबाइल फोन और 15 सौ रुपये लेकर फरार हो गए। आरोपियों ने गाड़ी में लगा जीपीएस सिस्टम बंद कर दिया था। जीपीएस की लॉकेशन सुखना लेक के पास की आई थी। पुलिस ने जब पीडि़त के मोबाइल पर मैसेज भेज कर जांच की तो मैसेज डिलीवर होने पर मोबाइल टॉवर लॉकेशन मोगा के आस-पास की आई थी। उसके बाद से लुटेरों ने फोन स्विच ऑफ कर दिया था।

Have something to say? Post your comment