Follow us on
Wednesday, January 23, 2019
Himachal

प्रदेश में जैनरिक दवाएं लिखना होगा अनिवार्य – स्वास्थ्य मंत्री

January 09, 2018 07:25 AM

धर्मशाला - प्रदेश के सभी सरकारी चिकित्सा संस्थानों में जैनरिक दवाएं लिखना अनिवार्य किया जायेगा और सरकार इसके लिए शीघ्र कानून लायेगी। यह जानकारी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, स्वास्थ्य शिक्षा, आयुर्वेद और विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी मंत्री, विपिन सिंह परमार ने सोमवार को ननाओं में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधिमण्डल के साथ मुलाकात में कही। परमार ने कहा कि हिमाचल जैनरिक दवाईयों को कानूनी रूप में अनिवार्य करने वाला देश का पहला राज्य बनेगा। उन्होंने बताया कि सभी चिकित्सकों को जैनरिक तथा अस्पतालों में उपलब्ध निशुल्क दवाईयां लिखने के आदेश दे दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि जैनरिक दवाईयां नहीं लिखने वाले चिकित्सकों को मरीज की परामर्श पर्ची पर इसका कारण भी लिखना अनिवार्य होगा।

Have something to say? Post your comment
 
More Himachal News
शिमला और मनाली में भारी बर्फबारी
मुख्यमंत्री ने शिमला शहर में भारी बर्फबारी से पैदा हुई स्थिति का लिया जायजा
हिमाचल एम्स की आधारशिला रखी गई
सीएचसी रेहन 50 बिस्तरों वाले नागरिक अस्पताल के रूप में स्तरोन्नत होगा
निवेशकों की सुविधा के लिए लैंड बैंक की जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध - मुख्यमंत्री
ग्रामीण अर्थव्यवस्था सुदृढ़ करने में नाबार्ड का महत्वपूर्ण योगदान - मुख्यमंत्री
हिप्र में ऊंचे स्थानों पर बर्फबारी
राज्य एकल खिड़की स्वीकृति एवं अनुश्रवण प्राधिकरण ने निवेश के 24 प्रस्तावों को मंजूरी प्रदान की
राज्यपाल करेंगे शिमला में राज्य स्तरीय गणतन्त्र दिवस समारोह की अध्यक्षता
जंगली जानवरों से फसलों की सुरक्षा और वनों की आग रोकने के लिए सरकार उचित कदम उठाएगी - मुख्यमंत्री