Follow us on
Wednesday, January 24, 2018
Chandigarh

देवेश मौदगिल बने चंडीगढ़ के 22वें मेयर

January 10, 2018 06:57 AM
चंडीगढ़ (विजय राणा/ सौखिन्दर गहलोत) - भाजपा के देवेश मोदगिल चंडीगढ़ नए मेयर चुन लिए गया ।  नगर निगम में  मेयर , सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर पद के हुए चुनाव में भाजपा ने तीनों पदों पर जीत दर्ज की। मेयर  पद के चुनाव में  देवेश मोदगिल  को कुल 27 मतों में से 22 मत मिले जबकि कांग्रेस के देवेन्दर सिंह बबला को 5 वोट मिले। सीनियर डिप्टी मेयर पद के लिय हुए चुनाव मैं भाजपा के गुप्प्रीत सिंह ढिल्लों ने कांग्रेस की शीला फूल सिंह को हराया। ढिल्लों को 21 जबकि शीला को 6 वोटे मिले। वहीं डिप्टी मेयर का चुनाव भी भाजपा के विनोद अग्रवाल ने जीता । विनोद ने कांग्रेस की रविंद्र गुजराल को हराया। विनोद को 22 जबकि गुजराल को 4 वोट मिले , एक वोट इनवैलिड करार दिया गया।  निगम मैं भाजपा के कुल 20 पार्षद है जबकि कांग्रेस के 4 पार्षद है ,बाकी 1 अकाली दल और 1 पार्षद निर्दलीय है ,इस चुनाव में 1 वोट नगर सांसद का भी होता है।
मेयर बनते ही देवेश ने लिया किरण खेर का आशीर्वाद
मेयर बनते ही देवेश ने सबसे पहले सांसद किरण खेर का आशीर्वाद लिया। आशिर्वाद लेते वक्त वे काफी भावूक दिखे और काफी देर किरण खेर के पास खडे रहे। उसके बाद वे आशा जसवाल और अरुण सूद के पास गये। बाद में किरण खेर ने उन्हें मेयर की कुर्सी पर बैठाया।
मनोनीत पार्षद नहीं कर पाए मतदान
चंडीगढ़ नगर निगम के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि मनोनीत पार्षदों ने इन चुनाव में वोट नहीं डाले । इससे पूर्व मेयर चुनाव में मनोनीत पार्षदों का मेयर बनाने में महत्वपूर्ण योगदान होता था ।पिछले साल अगस्त माह में पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने मनोनीत पार्षदों के मताधिकार को समाप्त कर दिया था। इस संबंध में पूर्व  भाजपा पार्षद सतिंदर सिंह ने याचिका डाली थी। यही कारण है कि मनोनीत पार्षदों के समर्थन में प्रशासन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली थी, लेकिन वहां से भी अभी तक मनोनीत पार्षदों को कोई राहत नहीं मिली है सुप्रिम।कोर्ट मैं मनोनीत पार्षदों के वोटिंग के अधिकार का मामला पेंडिंग होने के चलते आज यह पार्षद अपने वोट नहीं डाल पाये।
प्रदीप छाबड़ा को नहीं मिली बैठने की जगह
चुनाव में जहां भाजपा के सभी पदाधिकारी बैठे हुए थे। वहीं चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबडा को बैठने की जगह नहीं मिली। वे पूरी चुनाव प्रक्रिया के दौरान संजय टंडन की कुर्सी के पास खड़े रहे। किसी ने भी उन्हें बैठने के लिए नहीं कहा। चुनाव में चंडीगढ़ भाजपा के अध्यक्ष संजय टंडन, पंजाब प्रभारी प्रभात झा, भारत के सॉलिसिटर जनरल सत्यपाल जैन, संगठन मंत्री दिनेश कुमार, कालका की एमएलए लतिका शर्मा आदि मौजूद रहे।ं
कांग्रेस के चार पार्षद लेकिन बाबला को मिले पांच वोट
चुनाव में भाजपा नेताओं की उस वक्त भौहे तन गई जब मेयर पद के लिए कांग्रेस उम्मीद्वार देवेंद्र बाबला को 5 वोट मिले।  क्योंकी सदन में कांग्रेस के 4 ही पार्षद हैं। इसी तरह सीनियर डिप्टी मेयर पद के लिए कांग्रेस की शीला फूल सिंह को 6 वोट मिले। डिप्टी मेयर पद के लिए कांग्रेस की रविन्दर कौर गुजराल को 4 वोट मिले। एक वोट इनवेलिड रहा।
हंसी मजाक करती रहीं सांसद किरण खेर
चुनाव के दौरान एक तरफ जहां Óयादातर सदस्य गंभीर दिखे वहीं सांसद किरण खेर पूरा समय हंसी मजाक करती रही। उनके एक तरफ पार्षद राज बाला मलिक बैठी थी और दुसरी तरफ पूर्व मेयर आशा जसवाल बैठी थी। वे दोनों को ही लगातार कुछ ना कुछ सुना रही थी।
मेरी मां समान हैं किरण खेर : देवेश 
मेयर बनने के बाद देवेश मोदगिल ने कहा कि वे किरण खेर का खासतौर पर आभार प्रकट करते हैं। उन्होंने कहा कि किरण खेर मेरी मां समान हैं और मुझे इस जगह पर पहुंचाने के लिए उन्होंने बहुत मेहनत की। इसके अलावा उन्होंने कहा कि मै भाजपा के सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करता हुं जिन्होंने मुझ में विश्वास जताया और मेरा मार्गदर्शन किया। देवेश मोदगिल ने कहा कि हम सब मिलकर खूब मेहनत करेंगे और चंडीगढ़ को देश का नंबर एक शहर बना कर रहेंगे।
ऐसी रही देवेश के मेयर बनने की राह
चंडीगढ़ नगर निगम में भाजपा को खासी मशक्कत का सामना करना पड़ा। पार्टी की निवर्तमान मेयर आशा जसवाल ने मोदगिल के खिलाफ नामांकन पत्र दाखिल कर दिया था। बुधवार को पार्टी प्रभारी प्रभात झा ने पूर्व सांसद सत्यपाल जैन गुट से देवेश मोदगिल को निगम चुनाव के लिए पार्टी का मेयर पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया था, जबकि टंडन गुट इस निर्णय के खिलाफ था। यही कारण है कि वर्तमान मेयर आशा जसवाल ने मेयर पद के लिए और रविकांत शर्मा ने सीनियर डिप्टी मेयर के लिए आजाद नामांकन भर दिया था।इसके बाद से ही पार्टी में दोनों गुट आमने-सामने आ गए थे और एक-दूसरे को ही नाम वापस लेने की नसीहत दे रहे थे। इसके अलावा पार्टी द्वारा सीनियर डिप्टी मेयर के लिए गुरप्रीत सिंह ढिल्लों और डिप्टी मेयर के लिए विनोद अग्रवाल को उम्मीदवार बनाने के बावजूद टंडन गुट से रविकांत शर्मा ने सीनियर डिप्टी मेयर के लिए आजाद नामांकन भर दिया था, लेकिन हाईकमान के दवाब के चलते ही सोमवार को मेयर आशा जसवाल ने अपना नामांकन वापस लेना पड़ा।
परिवार को याद कर भावुक हुईं किरण 
किरण उस समय अपने परिवार को याद कर भावूक हो गई जब देवेश मोदगिल ने उन्हे धन्यवाद कहते हुए कहा कि हमारी सांसद किरण खेर चंडीगढ़ के लिए अपने परिवार, अपने पति और अपने पुत्र से दूर रहते हुए दिन रात चंडीगढ़ की सेवा में लगी रहती हैं। देवेश ने कहा कि वे चंडीगढ़ के लिए ना सिर्फ अपने परिवार बल्की अपने काम अपनी आजिविका को भी छोड़ कर चंडीगढ़ की सेवा कर रही हैं।
कांग्रेस से सहयोग की उम्मीद: देवेश 
नवनिर्वाचित मेयर देवेश मोदगिल ने कहा कि चंडीगढ़ के विकास के लिए उन्हें कांग्रेस के सहयोग की भी आवश्यक्ता है। उन्होंने कहा कि कहा कि मेरी गलतियों के बारे में मुझे बताएं और मेरे अ'छे कामों में मेरा साथ दें।
चंडीगढ़ को सुंदर सिटी बनाने के लिए करेंगे काम : टंडन
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर व डिप्टी मेयर की सीटों पर भाजपा के कार्यकत्र्ता एक अ'छी जीत लेकर सामने आए हैं। टंडन ने आशा कि यह तीनों अ'छा काम करते हुए चंडीगढ़ को सुंदर सिटी बनाने के लिए काम करेंगे। टंडन ने कहा कि क्रॉस वोट करने के बारे में भी चर्चा करेंगे। टंडन ने शहर में विकास कार्य के बारे में बताया कि यह एक कांटिन्युटी का प्रोसेस है क्योंकि मेयर का कार्यकाल 1 साल का होता है और विकास कार्य पर काम 2 साल पहले शुरू हुआ था, जिसे पूरा करने में डेढ या 2 साल का समय लगता है। टंडन ने कहा कि इसके अलावा भी अ'छे काम किए जाएंगे ताकि आने वाला समय और भी अ'छा हो। उन्होंने कहा कि केंद्र की सहायता और निगम के सभी पार्षदों की एकजुटता से सभी कार्य अ'छी तरह से किए जाएंगे। टंडन ने कहा कि गत दिवस हुई बैठक में क्यास लगाया जा रहा था कि किस तरह से क्रॉसिंग हो सकती है परंतु ऐसा नहीं हुआ। 
जनता की उम्मीदों पर उतरेंगे खरा : संगठन मंत्री
संगठन मंत्री दिनेश कुमार ने कहा कि मैं मेयर देवेश मौदगिल, सीनियर डिप्टी मेयर गुरप्रीत सिहं ढिल्लों व डिप्टी मेयर विनोद अग्रवाल से उम्मीद करता हूं कि यह तीनों जनता की उम्मीदों पर खरा उतरेंगे और पार्टी स्तर ऊंचा उठाएंगे। संगठन मंत्री ने कहा कि पार्टी एकजुट है और नाराजगी तो सभी में चलती है इसमें कोई बड़ी बात नहीं है। 
अचानक चुनाव अधिकारी  का बदला जाना संदेहपूर्ण : छाबड़ा
कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा ने कहा कि यह भाजपा की जीत नहीं है यह इनका आपस में कंप्रमाइज है। इससे चंडीगढ़ की जनता का कोई भला नहीं होने वाला है। छाबड़ा ने कहा कि प्रशासन के अधिकारियों ने पिछले & दिन से यहां के एक अधिकारी से कह रहे थे कि हमें बैलेट पेपर दिखाया जाए और कल रात जिस तरीके से प्रीजाइडिंग अफसर एमएस कंडल की जगह नॉमिनेटेड काउंसलर को लगाया गया है। यह डाउटफुल है। उन्होंने कहा कि अचानक से चुनाव अधिकारी के बदले जाने का लेटर आना यह सबसे बड़ा संदेह है, नहीं तो कांग्रेस को और Óयादा वोट मिल सकते थे। परंतु अभी भी कांग्रेस के जो कैंडिडेट थे उन्हें पसंद किया गया इसलिए हमें वोट मिली हैं। छाबड़ा ने कहा कि इनके आगे बढऩे से चंडीगढ़ की जनता को बहुत बड़ा नुकसान होने वाला है। छाबड़ा ने कांग्रेस को वाट डालने वालों का धन्यवाद किया।  
शहर को बनाएंगे नंबर-1 : गुरप्रीत सिंह 
सीनियर डिप्टी मेयर गुरप्रीत सिंह ढिल्लों ने कहा कि शहर की प्रगति के लिए मैं 24 घंटे तैयार हूं। अगर किसी भी तरह की समस्या आती है तो उसका बड़े ही अ'छे तरीके से हल निकाला जाएगा। क्योंकि आज एक यूथ टीम बनकर सामने आई है और मुझे विश्वास है कि देवेश मौदगिल और हमारा सारा हाउस हर चीज को बड़ी संजीदगी के साथ आगे लेकर चलेंगे। शहर को हर तरह से नंबर-1 बनाया जाएगा। शहर का विकास हमारे मेन एजेंड में शामिल रहेगा। उन्होंने कहा कि मोदी जी की सरकार जिस तरीके से डिवेल्पमेंट कर रही है और पूरे वल्र्ड के अंदर देश का नाम चमका है। मुझे उम्मीद है कि 2019 का चुनाव भी हम बहुत भारी मतों से जीतेंगे। चंडीगढ़ से एमपी भी जीतेगा। 
क्रॉस वोट के लिए हो जांच : आशा
पूर्व मेयर आशा जसवाल ने कहा कि मेयर चुनाव में हमें 2& वोटों की उम्मीद थी परंतु 22 वोट ही मिले हैं। गत दिवस मीटिंग हुई थी और उसमें मैंने बोला था कि अगर कोई क्रॉस वोट होता है तो हमें उस पर क्या एक्शन लेना चाहिए और उसका मंथन करना चाहिए। भाजपा की 20 वोटें थी, एक अकाली की और एक सांसद की थी, 22 वोटें तो आई हैं। आशा ने कहा कि 1 वोट मेयर के लिए क्रॉस हुई और 2 वोटें सीनियर डिप्टी मेयर के चुनाव में क्रॉस हुई। इसकी जांच होनी चाहिए जो भी व्यक्ति हो उस पर एक्शन होना चाहिए। पार्टी को अपने स्तर पर इसकी जांच करनी चाहिए।   
एक साल में शहर पर कोई नया टैक्स नहीं लगाया : विनोद 
डिप्टी मेयर विनोद अग्रवाल ने कहा कि शहर का विकास करना उनकी प्राथमिकता होगी। उन्होंने कहा कि मनीमाजरा वार्ड नंबर-24, 25 व 26 में बहुत सारे काम है जो पिछले लगभग 10-11 सालों से अटके पड़े हैं और बहुत सारी ऐसी समस्या है जिनका पिछली सरकारों के समय हल नहीं हो पाया, जिन्हें वह सबसे पहल हल करेंगे। उन्होंने कहा कि वार्ड नंबर-24, 25 व 26 का पूर्ण रूप से विकास होगा। उन्होंने कहा कि शहर के लिए जहां भी मेरी किसी भी तरह की जरूरत पड़ेगी मैं हमेशा हाजिर रहूंगा। मेरे वार्ड में जितनी भी कालोनी व गांव आते हैं वहां जो भी समस्या होगी हल की जाएगी। अग्रवाल ने कहा कि शहर के लिए जो कुछ भी मैं कर सकता हूं करुंगा। टैक्स के बारे में अग्रवाल ने कहा कि शहर की जनता पर पिछले 1 साल के दौरान कोई नया टैक्स नहीं लगा। उन्होंने कहा कि कुछ सुविधाएं चाहिए तो उसकी एवज में बहुत कम टैक्स लगाया है अन्यथा पिछले 1 साल के दौरान हमने शहर पर कोई टैक्स नहीं लगाया। अग्रवाल ने सभी अपने पार्षद साथियों व भाजपा नेताओं का धन्यवाद किया। 
Have something to say? Post your comment