Follow us on
Thursday, October 18, 2018
Chandigarh

20 मिनट में डेढ़ करोड़ की लूट के मामले में नहीं लगा कोई सुराग

January 11, 2018 07:31 AM

चंढीगढ़ (संदीप खत्री) - सेक्टर-33 ए स्थित कोठी नंबर 180 में बिजनेस मैन 65 वर्षीय अजित जैन के घर मंगलवार रात गन प्वाइंट पर हुई करीब डेढ़ करोड़ की लूट के मामले में लुटेरों को पकडऩा तो दूर, अब तक पुलिस कहीं से सीसीटीवी भी जुटा नहीं पाई। घर के पास से जो फुटेज पुलिस को मिली हैं, उसमें कुछ भी क्लीयर नहीं है।

अभी तक इस मामले में पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला। घटना को अंजाम देने के दौरान नकाबपोश चार लुटेरे घर में लगे सीसीटीवी कैमरे का रिकार्डर (डीवीआर) साथ ले गए थे, ताकि उनकी तस्वीरें सीसीटीवी में कैद न हो सके। आरोपी काले रंग की सेंट्रो कार में आए थे। घर का दरवाजा खुला रहने के चलते चारो आरोपी घर में घुस गए और गन प्वाइंट पर घर से गहने और कैश उडा लिया। चारो लुटेरों के हाथ में गन थी और सभी ने मंकी कैप डाली हुई थी। नौकर के कमरे का दरवाजा खुला हुआ था, इसलिए यह नोकर के कमरे से घर में घुसे और पिस्टल के दम पर अजित जैन की पत्नी ऋतु, बेटी और कुक को कमरे में बंद कर दिया। लुटेरों घर में ही थे कि इसी बीच नोकर ओर ड्राइवर भी आ गए। इन दोनों को भी गन प्वाइंट पर कमरे में बंद कर दिया गया।

पांचों लोगों को कमरे में बंद कर बाहर दरवाजा बंद कर दिया गया। कुक का फोन ले लिया गया था। करीब डेढ़ करोड़ के गहने लेकर आरोपी फरार हो गए। नकदी हजारों में ही थी। नोकर का फोन उसके पास ही था। जिसके चलते उसने तुरंत पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की तो सामने आया कि कालें रंग की सेंट्रो कार में लुटेरें आए थे। घटना के समय अजित अपने किसी काम से किसी वकील के पास गए हुए थे। उनका बेटा अपनी पत्नी के साथ कहीं घूमने के लिए गया हुआ है।

 साल 2016 अक्तूबर में अजित के बेटे की शादी हुई थी।  घटना की सूचना मिलते ही शहर में एसएसपी का चार्ज देख रहे एसपी हेडक्वार्टर डॉ. ईश सिंघल और एसपी ऑप्रेशन रवि कुमार घटनास्थल पर जांच के लिए पहुंचे। आरोपियों ने कुक का मोबाइल सेक्टर-33 में ही फेंक दिया था। पुलिस ने सर्विलांस के जरिए मोबाइल बरामद कर लिया।

रित्तू ज्वैलरी के नाम से है फेसबुक अकाउंट, यहीं से करते थे बिजनेस

पीडि़त अजित जैन की पत्नी रित्तू ने फेसबुक पर रित्तू ज्वैलरी के नाम से अकाउंट बनाया हुआ है। इस अकाउंट के जरिए ही गहनों को बेचा जाता था। हालांकि लेन देन का कारोबार सिर्फ जानकारों से ही किया जाता था। पुलिस आशंका जता रही है कि हो सकता है किसी ने फेसबुक से सारी जानकारी एकत्र कर घटना को अंजाम दिया हो। फिलहाल पुलिस इसकी जांच कर रही है। अजित जैन का लालडू में कोल्ड स्टोरेज भी है। ऋतु घर पर बुटीक भी चलाती है।

नौकरों और ड्राइवर पर पुलिस को शक, जांच जारी

सूत्रों की माने तो पुलिस को इस मामले में नोकरों पर भी शक है। पुलिस का मानना है कि इस वारदात में घर में ही काम करने वाले किसी करीबी का हाथ हो सकता है। जैन ने अपने घर पर 21 तारीख को ही नए ड्राइवर को रखा था। एक दो नोकर पहले भी काम करके जा चुके हैं। पुलिस इन सभी से पूछताछ कर रही है। पुलिस को लग रहा है कि आरोपियों ने घर की अच्छे से रैकी की होगी ओर फिर वारदात को अंजाम दिया होगा।

कोल्ड स्टोरेज पर कौन-कौन था छुट्टी पर, पुलिस कर रही जांच

अजित जैन का लालडू में कोल्ड स्टोरेज भी है। स्टोरेज पर उस दिन कौन-कौन छुट्टी पर था, इसकी भी पुलिस जांच कर रही है। कहीं पीडि़त लोगों को किसी के साथ कोई पैसों का लेनदेन तो नहीं था, इसे भी पुलिस चैक कर रही है।  इस मामले को सुलझाने के लिए क्राइम ब्रांच और थाना पुलिस जुटी हुई है।

सीसीटीवी में सिर्फ सेंट्रो कार जाती दिखाई दे रही

अजित के घर से आरोपी वारदात के बाद सीसीटीवी का रिकार्डर यानि कि डीवीआर भी साथ ले गए। साथ वाले घर में सीसीटीवी लगे हैं, लेकिन उसमें सिर्फ काले रंग की सेंट्रो कार जाती दिखाई दे रही है। आरोपियों की तस्वीरें क्लीयर नहीं दिखाई दे रही है। घटना के बाद घर के बाहर से निकल रहे लोगों  ने घर के लोगों को इसकी जानकारी दी थी कि सेंट्रो कार में लुटेरे आए थे।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
अब चंडीगढ़ में सिख महिलाओं के लिए हेलमेट पहनना हुआ वैकल्पिक
एमएचए ने दी राहत, डानिप्स में मर्ज नहीं होगा चंडीगढ़ पुलिस के डीएसपी का पद
रामलीला के कलाकारों ने चंडीगढ़ सेज़ गुड बॉय पॉली बैग्स अभियान को किया लांच
पोषण अभियान पर प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित
शबरी ने भगवान राम को चख-चख कर खिलाए जूठे बेर
बाजारों में उमड़ी भीड़, पार्किंग के लिए नहीं है जगह
जीएमसीएच चंडीगढ़ ने युवा फैकल्टी के लिए रिसर्च सेल स्थापित किया
चंडीगढ़ की हवा भी होने लगी जहरीली, एयर क्वालिटी इंडेक्स हुआ मध्यम
डिग्री पाकर चहके पेक के विद्यार्थियों के चेहरे
रामलीला: श्रीराम को वनवास पर केवट ने पार कराई उनकी नैय्या