Follow us on
Friday, October 19, 2018
Haryana

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 में अपने निर्धारित समय पर ही होंगे - मुख्यमंत्री

January 13, 2018 07:04 AM

चंडीगढ़ - हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा विधानसभा के आगामी चुनाव वर्ष 2019 में अपने निर्धारित समय पर ही होंगे। वर्ष 2018 में विधानसभा चुनाव कराने का कोई प्रश्र ही नहीं है। पूरे देश में लोकसभा व राज्य विधानसभाओं के चुनाव एक साथ करवाने का एक माहौल बनाने का प्रयास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर किया गया था। अगर ऐसा होता है तो हरियाणा इसके लिए तैयार है।

मुख्यमंत्री आज स्वामी विवेकानंद की 156वीं जयंती के अवसर पर पंचकूला के सेक्टर एक स्थित राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के सभागार में आयोजित राष्ट्रीय युवा दिवस पर ‘कनैक्ट टू सीएम’ कार्यक्रम के तहत युवाओं से सीधा संवाद करने के उपरांत पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के 15 फरवरी से प्रस्तावित तीन दिवसीय दौरे के संबंध में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री शाह के दौरे का कार्यक्रम गत वर्ष रोहतक में उनके दौरे के समय ही तय हो गया था कि वे फरवरी, 2018 में फिर से हरियाणा का दौरा करेंगे। इस दौरे के दौरान पार्टी संगठन को मजबूत बनाने व रोहतक कार्यक्रमों की रूप-रेखा की समीक्षा की जाएगी। इस दौरे के दौरान हरियाणा के युवा मोटरसाईकल पर रैलियां कर लोगों को सरकार की उपलब्धियों की जानकारी देंगे।

एक प्रश्र के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा लोकतंत्र की एक मजबूत पार्टी है। हरियाणा में पार्टी के 30 लाख सदस्य और 30 हजार सक्रिय कार्यकर्ता हैं। पार्टी को विधानसभा के आगामी चुनावों के लिए मजबूत करना है और 2019 में निश्चित रूप से भारतीय जनता पार्टी फिर से सत्ता में आएगी। आज के कार्यक्रम के संबंध में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे पहले भी कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में ऐसा ही कार्यक्रम कर चुके हैं और आगे भी निरंतर करते रहेंगे। आज पंचकूला जिले के 11 महाविद्यालयों व शिक्षण संस्थानों के 800 से अधिक छात्रों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया है और कई सारंगित प्रश्र युवाओं ने किए हैं। कुछ के अच्छे सुझाव भी प्राप्त हुए हैं। युवाओं का शारीरिक, मानसिक व बौधिक रूप से सर्वांगिण विकास  हो और युवा स्वामी विवेकानंद के संदेशों से प्रेरणा लें यही उनका मुख्य उद्देश्य है।

पंचकूला मेडीकल कालेज के संबंध में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला में आयूष का एम्ज को स्वीकृति दी है। जिसके लिए 25 एकड़ जमीन चिन्हित की गई है। हर जिले में एक मेडीकल कालेज हो, इस दिशा में सात जिलों में स्वीकृति प्रदान की गई है और सात और की प्रक्रिया जारी है।

प्राईवेट अस्पतालों के महंगे इलाज व लगातार लापरवाही की हो रही घटनाओं पर पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 50 बिस्तरों से अधिक वाले प्राईवेट अस्पतालों  के लिए डूज एण्ड नॉट टू  डूज (क्या करना है और क्या नहीं), पर केन्द्र सरकार कानून बना रही है और उसे लागू किया जायेगा। एक अन्य प्रश्र के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि नागरिक अस्पतालो में मरीजों को प्राईवेट अस्पतालों जैसी सुविधा मिले, इसलिए सरकार शीघ्र ही एक बीमा नीति ला रही है, उसके बाद यह मरीज पर निर्भर करेगा कि वह नागरिक अस्पताल में इलाज करवाना चाहता है या प्राईवेट अस्पताल में। प्राईवेट अस्पताल में इलाज पर खर्च होने वाले पैसे को बीमा राशि से कवर किया जायेगा।

इस अवसर पर पंचकूला के विधायक एवं मुख्य सचेतक ज्ञानचंद गुप्ता, कालका विधायक लतिका शर्मा, उपायुक्त पंचकूला गौरी पराशर जोशी, पुलिस उपायुक्त मनवीर सिंह, महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ० अर्चना मिश्रा के अलावा जिला व पुलिस प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी व बड़ी संख्या में महाविद्यालयों के विद्यार्थी भी उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
एसआईएमएस पर सभी स्कूलों के शिक्षक-छात्रों का डाटा तेजी से अपलोड करें - मुख्यमंत्री
इनेलो का सत्यनाश होना तय-अशोक तंवर
हरियाणा में 22 साल बाद हुए छात्र संघ चुनाव, अधिकतर पार्टियों ने किया बहिष्कार
परिवहन कर्मी अपने काम पर वापस आ जाए – धनपत सिंह
हत्या के मामले में रामपाल को उम्र कैद की सजा
सरदार वल्लभ भाई पटेल का स्टैच्यू ऑफ यूनिटी स्मारक बनने से देश में राष्ट्रीय अखंडता का संदेश जाएगा
सरकार ने प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा व उत्थान के लिए अनेक कार्य किए - मनोहर लाल
मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री 15 अक्टूबर को होनहार विद्यार्थियों को सम्मानित करेंगे
खट्टर ने जींद जिले को दी 13 विकास परियोजनाएं
युवा पीढ़ी किसी भी देश की रीढ़ होती है - सत्यदेव नारायण आर्य