Follow us on
Saturday, October 20, 2018
India

ऐड्रेस प्रूफ के तौर पर काम नहीं करेगा पासपोर्ट

January 13, 2018 07:09 AM

सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि पासपोर्ट में अब से आखिरी पृष्ठ नहीं छापा जाएगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह फैसला नए पासपोर्ट बुकलेट के प्रकाशन से प्रभावी होगी, हालांकि वर्तमान पासपोर्ट बुकलेट अपनी निर्धारित अवधि के लिए वैध रहेंगी। 

यह निर्णय विदेश मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अधिकारियों की एक तीन सदस्यीय समिति की सिफारिशों के आधार पर लिया गया है। यह समिति पासपोर्ट आवेदनों में उन मुद्दों के समाधान खोजने के लिए गठित की गई थी जिनमें मां और बच्चे ने इस बात पर जोर दिया था कि पिता का नाम पासपोर्ट में नहीं लिखा जाना चाहिए।

समिति को एकल अभिभावक या गोद ली गई संतान के मुद्दों का भी हल खोजने को कहा गया था। कुमार ने कहा कि समिति की रिपोर्ट को विदेश मंत्रालय ने स्वीकार कर लिया है। समिति की एक सिफारिश यह भी थी कि पासपोर्ट की बुकलेट में पिता या वैध अभिभावक, मां, पत्नी के नाम और पता आदि की सूचनाएं प्रकाशित करने की बाध्यता से मुक्त होने की संभावना तलाशी जाएं।

विदेश मंत्रालय ने अंतर्राष्ट्रीय नागर विमानन संगठन की दिशानिर्देशों और विभिन्न साझीदारों से बातचीत के माध्यम से निर्णय किया कि पासपोर्ट अधिनियम 1967 और पासपोर्ट नियम 1980 के अंतर्गत पासपोर्ट या अन्य यात्रा दस्तावेज में अंतिम पृष्ठ नहीं छापा जाएगा जिस पर माता, पिता, पत्नी का नाम, पता, आव्रजन जांच आवश्यक, पुराना पासपोर्ट नंबर, जारी होने की तिथि एवं स्थान अंकित किया जाता है।

प्रवक्ता ने कहा कि नासिक स्थित इंडियन सिक्योरिटी प्रेस नई पासपोर्ट बुकलेट को डिजाइन करेगी तथा तब तक प्रकाशित पुरानी डिजाइन की बुकलेट जारी की जाएंगी। उन्होंने यह भी बताया कि 'आव्रजन जांच आवश्यक'श्रेणी वाले पासपोर्ट को नारंगी रंग के कवर में जारी किया जाएगा जबकि 'आव्रजन जांच आवश्यक नहीं'श्रेणी वाले पासपोर्ट पहले की तरह नीले कवर में जारी किए जाएंगे।

Have something to say? Post your comment
 
More India News
सेना का डबल अटैक,एक दिन में जवानों ने 6 आतंकी किए ढेर
प्रधानमंत्री आवास योजना गरीबी के विरुद्ध सरकार का संघर्ष - नरेंद्र मोदी
गरीबी उन्मूलन को लेकर गंभीर नहीं थीं पूर्ववर्ती सरकारें : मोदी
राहुल गांधी ने की विक्रमसिंघे से मुलाकात
वयोवृद्ध नेता एन डी तिवारी का 93वें जन्मदिन पर निधन
आपदा राहत में बेहतर समन्वय के लिए और संयुक्त अभ्यासों की आवश्यकता - प्रधानमंत्री
कानून बनाकर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करे सरकार – भागवत
अदालत रमानी के खिलाफ अकबर के मानहानि मामले की सुनवाई करने पर सहमत
दिल्ली में वायु की गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी की हुई
केंद्रीय मंत्री एम जे अकबर ने इस्तीफा दिया, राष्ट्रपति ने स्वीकार किया