Follow us on
Monday, January 22, 2018
Chandigarh

पीयू गल्र्स हॉस्टल में लगी आग

January 14, 2018 08:27 AM

चंडीगढ़ - पंजाब यूनिवर्सिटी स्थित सरोजनी गल्र्स हॉस्टल में शनिवार दोपहर को अचानक आग लग गई। स्टूडेंट्स ने कमरे से आग की लपटों को बाहर निकलते देखा, तो मामले की सूचना पुलिस और फायर ब्रिगेड को दी गई।  घटनास्थल पर पहुंची 3 फायर ब्रिगेड की गाडिय़ों ने करीब 30 मिनट की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। कमरा नंबर-34 में आग लगी थी। छात्राओं ने बताया कि दोपहर करीब 2:45 बजे अचानक हॉस्टल की बिल्डिंग से धुआं निकलने लगा। जब वहा पर मौजूद स्टूडेंट्स ने देखा तो शोर-शराबा हो गया। जिसके बाद मामले की सूचना तुरंत फायर ब्रिगेड और पुलिस को दी गई।

सरोजनी हॉस्टल के एक कमरे में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई थी। मामले की जानकारी मिलते ही फायर ब्रिगेड को जानकारी दे दी गई। घटना में किसी छात्रा को कई चोट नहीं आई है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। एक्सईएन से भी पूरे मामले में रिपोर्ट मांगी गई है। - -प्रोफेसर अश्वनी कौल, चीफ  सिक्योरिटी ऑफिसर, पीयू

पिछले साल भी हुई थी घटना

पिछले साल 14 मई को पंजाब यूनिवर्सिटी के प्रशासनिक ब्लॉक में आग लग गई थी। इसमें पीयू को करोड़ों का नुकसान हुआ था। इंश्योरेंस कंपनी भी मामले में क्लेम देने से मना कर चुकी है। 8 अक्तूबर को हॉस्टल नंबर 6 के ब्लॉक डी में सुबह तीन बजे आग लग गई थी । छात्रों को जान जोखिम में डालकर नीचे उतरना पड़ा था। कुछ देर में पुलिस और फायर ब्रिगेड वहा पहुंच गई थी। जिसके बाद करीब पौने घटे में आग पर काबू पाया गया था।

यूनिवर्सिटी के वीसी सहित अन्य अधिकारी भी पहुंचे

घटना की जानकारी मिलते ही पंजाब यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो. अरुण कुमार ग्रोवर, चीफ सिक्योरिटी ऑफिसर प्रो. अश्वनी कौल सहित अन्य अधिकारी भी पहुंचे। घटना को लेकर लड़कियों ने वीसी को भी शिकायत की। वीसी ने छात्राओं को आश्वासन दिया कि हॉस्टल में सुरक्षा को लेकर नए सिरे से रिव्यू किया जाएगा। इस संबंध में वीसी ने हॉस्टल वार्डन को पूरी रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।

लड़कियां कर चुकी हैं शिकायत

छात्राओं ने बताया किउनकी फ्रेंड ने बताया था कि इससे पहले भी हॉस्टल की लड़कियां बिजली की शॉर्ट सर्किट की शिकायत कर चुकी है। लेकिन अब तक ठीक नहीं कराया गया। अगर ठीक होता तो शायद यह घटना न होती।

कमरे का सामान जलकर राख

इस आगजनी में कमरे में रखे बेड, लैपटॉप, किताबें, आइकार्ड व अन्य जरूरी डॉक्यूमेंट्स जलकर राख हो गए। गनीमत रही कि आगजनी में मार्कशीट नहीं जली, समय रहते ही उसे बाहर निकाल लिया गया।

Have something to say? Post your comment