Follow us on
Wednesday, January 23, 2019
India

ठंड से जम गया कश्मीर, करगिल में माइनस 23 डिग्री पहुंचा पारा

January 14, 2018 08:41 AM

श्रीनगर - ठंड के कोहराम ने पूरे उत्तर भारत को ही जमा रखा है। लेकिन जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से औसत तापमान शून्य से 10 से घटाकर 23 के बीच रहे हैं। करगिल और द्रास में तो ठंड ने कोहराम ही मचा दिया है। करगिल में बीती रात का तापमान माइनस 23 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। लोग ठंड से बचने के लिए जाए भी तो कहां जाएं। इस कड़ाके की ठंड ने तो घरों को ही जमा दिया है। ठंड का आलम कुछ इस तरह है कि जिस वस्तु पर नजर डालो, वही बर्फ से जमी दिखती है।

पानी जम चुका है, लोगों के पास पीने तक को भी पानी नहीं है। यहां तक कि सब्जियां भी इस ठंड के प्रकोप से नहीं बची हैं। तेल की कैन भी बर्फ में बदल चुकी हैं। शीतलहर के कहर ने कुछ ऐसे ही करगिल और द्रास में लोगों की जिंदगी को जकड़ लिया है कि ए.टी.एम. मशीनों को भी ठंड के प्रकोप से बचाने के लिए उन्हें कम्बल औढऩे की जरुरत पड़ गई है। करगिल से श्रीनगर के बीच तक का यातायात भी थम चुका है।

मौसम विभाग की मानें तो कुछ दिनों तक वहां का मौसम ऐसा ही रहने के आसार हैं। मौसम विभाग के अनुसार इस कडक़ड़ाती ठंड में बढ़ोतरी का कारण इस साल होने वाला सूखा है। इस कड़ाके की ठंड के कारण सुरु नदी के स्तर में भी कमी आई है। और इस इलाके के पानी का स्रोत यह नदी ही है। लोग पानी लेने बाहर जाते हैं, लेकिन जब तक घर पर वापस आते हंै, उतने पानी बर्फ ही बन चुकी होता है। मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि 40 दिन की लंबी अवधि के बाद ही चिलई कलां की सर्दियों से राहत मिल पाएगी।

Have something to say? Post your comment
 
More India News
ईवीएम हैकिंग के आरोपों पर छिड़ा सियासी घमासान, चुनाव आयोग ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई
मोदी ने प्रवासी भारतीय सम्मेलन में कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा : भाजपा ने देश में रोकी लूट
जेपीएससी मामले की अंतिम सुनवाई बुधवार को
गणतंत्र दिवस के 90 मिनट की परेड में निकलेगी 22 झांकियां
दिल्ली पुलिस एफआईआर दर्ज कर शुजा के दावों की जांच करे - चुनाव आयोग
केंद्र सरकार की नौकरियों में 10 फीसदी आरक्षण 1 फरवरी से लागू होगा
शिवसेना, कांग्रेस का दावा: विपक्ष की एकजुटता देख कर प्रधानमंत्री घबरा गए
भारत में 2014 के आम चुनाव में हुई थी धांधली - साइबर विशेषज्ञ
सीजेआई ने राव की नियुक्ति संबधी याचिका की सुनवाई से खुद को किया अलग
अब मेहुल भाई शायद कभी भारत ना आएं - कांग्रेस