Follow us on
Monday, February 19, 2018
Himachal

वीरभद्र सिंह और उनकी पत्नी को अदालत का समन

February 13, 2018 07:18 AM

शिमला - हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले में कोर्ट ने कड़े निर्देश दिए हैं। सोमवार को हुई सुनवाई के दौरान वीरभद्र को कोर्ट ने 22 मार्च को खुद पेश होने को कहा है। सीबीआई की याचिका पर कोर्ट ने चार हफ्ते का समय दिया है। बताया जाता है कि पिछली 4 जनवरी 2017 को कोर्ट ने वीरभद्र और हिमाचल प्रदेश सरकार को नोटिस जारी कर 4 हफ्ते के अंदर जवाब देने का निर्देश दिया था। 26 सितंबर 2015 को सीबीआई ने वीरभद्र के शिमला स्थित निजी आवास हॉली लॉज पर छापा मारा था। उस समय वह हिमाचल के सीएम हुआ करते थे तथा उनकी बेटी की शादी थी।

सीबीआई ने बिना प्रदेश सरकार को बताए ही छापा मार दिया था। उसे चैलेंज करने के लिए वीरभद्र हाईकोर्ट तक चले गए थे, वहां से मामला दिल्ली हाईकोर्ट शिफ्ट हो गया था। हाईकोर्ट के निर्णय को ही सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे डाली थी। वीरभद्र पर आरोप है कि उन्होंने केंद्रीय इस्पात मंत्री रहते हुए आय से ज्यादा प्रॉपर्टी जुटाई। याद रहे कि हिमाचल बीजेपी ने वर्ष 2014 में सीबीआई के तत्कालीन डायरेक्टर रंजीत सिन्हा को एक पत्र भेजा था।

वीरभद्र पर एक निजी कंपनी को फायदा पहुंचाने के एवज में करोड़ों रुपए लेने का आरोप लगाया गया था। पत्र में कहा गया था कि वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह ने मंडी संसदीय क्षेत्र से उपचुनाव लड़ने के लिए डेढ़ करोड़ रुपए लिए थे। वहीं, कंपनी ने वीरभद्र के खाते में 2 करोड़ 40 लाख रुपए जमा कराए थे। मुख्यमंत्री और उनकी पत्नी के अलावा नौ और लोगों के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का आरोप है। इस मामले में सीबीआई ने सभी आरोपियों के खिलाफ अप्रैल 2017 में ही मामला दर्ज कर चुकी है। सीबीआई ने इन सभी लोगों के खिलाफ धारा 109ए 465ए और 471 के अलावा भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के प्रावधानों के तहत चार्जशीट दायर की है।

Have something to say? Post your comment
 
More Himachal News
हिमाचल कौशल विकास में आदर्श राज्य के रूप में उभरेगा - मुख्यमंत्री
लूटने वाले भी अपने और लूटने देने वाली सरकार भी अपनी - शांता
26 को पेश होगा शिमला निगम का वार्षिक बजट
नाहन में शिल्प मेले के आयोजन की सम्भावना का पता लगाया जाएगा-डॉ. बिन्दल
वीरभद्र सरकार के फैसलों की अनदेखी जयराम सरकार को पड़ सकती है भारी - कांग्रेस
गुड़िया रेप केस - आरोपी पुलिसकर्मियों के वॉयस सेंपल लेगी सीबीआई
पॉग बांध विस्थापितों को शीघ्र प्रतिस्थापित किया जाए – जीत राम कटवाल
जेब में बजेगी बीएसएनएल लैंडलाइन फोन धारकों की घंटी
मुख्यमंत्री ने की एमएसएमई के वर्गीकरण के निर्णय के लिए केन्द्र की सराहना
गगरेट तथा संसारपुर टैरेस में ईएसआई अस्पताल खुलना चाहिए - उद्योग मंत्री