Follow us on
Saturday, August 17, 2019
BREAKING NEWS
अच्छे लोगों का भाजपा में स्वागत - अमित शाहकश्मीर में फोन लाइनें सप्ताहांत तक बहाल हो जाएंगी, स्कूल अगले हफ्ते खुलेंगे - मुख्य सचिवदेशवासियों ने जो काम दिया, हम उसे पूरा कर रहे हैं - मोदीमोदी ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की घोषणा की, जनसंख्या नियंत्रण और एक राष्ट्र, एक चुनाव पर दिया जोरजम्मू कश्मीर में मीडिया पर पाबंदियां हटाने के मसले पर न्यायालय ने कहा,हम कुछ समय देना चाहते हैंजापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ रियल एस्टेट सैक्टर में निवेश योजना सांझी कीमनाली में स्थापित की जाने वाली अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा की आधारशिलाप्रदेश के सरकारी अस्पतालों की मिली 30 बेसिक लाईफ सेविंग एंबुलेंस गाड़ियां
Haryana

मनोहर लाल ने यमुना नदी में दिल्ली क्षेत्र से अत्यधिक प्रदूषित पानी छोड़े जाने पर गहरी चिंता व्यक्त की

February 06, 2019 09:41 AM

चंडीगढ़ - हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यमुना नदी और गुरुग्राम नहर में दिल्ली क्षेत्र से अत्यधिक प्रदूषित पानी छोड़े जाने पर गहरी चिंता व्यक्त की है। उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि वे इस मामले में व्यक्तिगत रूप से दखल दें। उन्होंने हरियाणा सरकार के सभी सम्बन्धित विभागों को निर्देश दिये हैं कि वे यह सुनिश्चित करें कि यमुना नदी व गुरुग्राम नहर में दूषित पानी अथवा कचरा न छोड़ा जाए।

पत्र में कहा गया है कि यमुना नदी सोनीपत के पल्ला गांव से दिल्ली में प्रवेश करती है और फरीदाबाद जिले में स्थित गांव बसंतपुर में ओखला हैड के निकट हरियाणा में पुन: प्रवेश करती है। यह दिल्ली के क्षेत्र में 52 किलोमीटर की दूरी तय करती है। इस दौरान 60 से अधिक नाले इसमें गिरते हैं, जिनमें उद्योगों अथवा बस्तियों का गंदा पानी अथवा कचरा होता है। इससे यमुना नदी हरियाणा में पुन: प्रवेश करने से पहले अत्यंत प्रदूषित हो जाती है।

मनोहर लाल ने कहा है कि जुलाई से दिसम्बर, 2018 के दौरान गांव बसंतपुर में यमुना के पानी की बॉयो केमिकल ऑक्सीजन डिमांड 45-46 मिलीग्राम प्रति लीटर तक पहुंच गई, जबकि पानी में इसकी सीमा 3 मिलीग्राम प्रति लीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए। इसी प्रकार, गुरुग्राम नहर, जो कि मेवात क्षेत्र में सिंचाई का मुख्य साधन है, में बॉयो केमिकल ऑक्सीजन डिमांड इसी अवधि में 32 से 45 मिलीग्राम प्रति लीटर तक पहुंच गई।

उन्होंने आगे कहा कि यह गहरी चिंता का विषय है, क्योंकि यमुनानदी और गुरुग्राम नहर का अत्यधिक दूषित पानी गुरुग्राम,फरीदाबाद, पलवल और नूह जिलों के लोगों के स्वास्थ्य को प्रभावित कर रहा है। यही नहीं, इससे इन जिलों में कृषि पैदावार भी बुरी तरह प्रभावित हो रही है।

मनोहर लाल ने कहा है कि दिल्ली सरकार यह सुनिश्चित करे कि केवल उपचारित पानी ही यमुना नदी में डाला जाए।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
अच्छे लोगों का भाजपा में स्वागत - अमित शाह
गीतिका जाखड़ को विश्व खेल कुश्ती (पुलिस) में स्वर्ण पदक
प्रदेश के सरकारी अस्पतालों की मिली 30 बेसिक लाईफ सेविंग एंबुलेंस गाड़ियां
पुलिस महानिदेशक बीके सिन्हा राष्टपति पुलिस पदक से सम्मानित दीपेन्द्र सिंह ढेसी हरियाणा बिजली विनियामक आयोग के नए अध्यक्ष नियुक्त
16 अगस्त से पंचकूला में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा का राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन
लिंगानुपात में पंचकूला जिला प्रदेशभर में प्रथम स्थान
स्वतंत्रता दिवस के पहले हरियाणा पुलिस के कडे सुरक्षा इंतजाम
प्रदेश में आरम्भ की गई 7 स्टॉर रेनबो स्कीम कारगर सिद्घ - ओम प्रकाश धनखड़ जोश, उत्साह के साथ होगा जन आशीर्वाद यात्रा का आगाज