Follow us on
Friday, February 22, 2019
World

शरीफ को हृदय संबंधी इकाई में स्थानांतरित किया जाएगा - अधिकारी

February 07, 2019 10:03 AM

लाहौर (भाषा) - पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को हृदय रोग के इलाज के लिये हृदय संबंधी इकाई में भर्ती कराया जाएगा। एक अधिकारी ने बुधवार को उन खबरों के बीच यह जानकारी दी जिनमें कहा जा रहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री लंदन जाना चाहते थे।

रिश्वत के आरोपों में 69 वर्षीय शरीफ सात साल कैद की सजा काट रहे हैं। शरीफ को शनिवार को तीसरे विशेष मेडिकल बोर्ड की अनुशंसा पर लाहौर की कोट लखपत जेल से सर्विसेज हॉस्पीटल में भर्ती कराया गया था। सर्विसेज हॉस्पीटल में चौथे मेडिकल बोर्ड ने कहा कि पाकिस्तान के किसी भी विशेष हृदय संबंधी इकाई की सुविधा वाले अस्पताल में शरीफ का इलाज संभव है।

सर्विसेज हॉस्पीटल में चिकित्सा बोर्ड के प्रमुख प्रोफेसर महमूद अयाज ने कहा, “हमनें नवाज शरीफ की जांच की और ब्लड काउंट, हारमोन्स, बायो केमेस्ट्री, रेडियोलॉजी, हृदय, यकृत, मस्तिष्क और आंखों से जुड़ी जांच की। लाहौर के सर्विसेज हॉस्पीटल में उनका सीटी-स्कैन, अल्ट्रासाउंड और कलर डॉपलर परीक्षण भी किया गया।”

उन्होंने कहा, “सभी नतीजों की जांच के बाद, चिकित्सा बोर्ड सर्वसम्मत से इस फैसले पर पहुंचा कि शरीफ को हृदय के इलाज की जरूरत है। इसके लिये उन्हें किसी हृदय संस्थान में स्थानांतरित किया जाना चाहिए। उच्च रक्त चाप, मधुमेह और यकृत संबंधी पूर्व की बीमारियों की वजह से शरीफ को हृदय संबंधी परेशानी हुई है।

बोर्ड ने पंजाब सरकार से सिफारिश की है कि हृदय संबंधी परेशानियों के लिये किसी हृदय रोग विशेषज्ञ द्वारा शरीफ की व्यापक जांच की जानी चाहिए। पंजाब सरकार के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि शरीफ को दिल की बीमारी के इलाज के लिये पंजाब इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी (पीआईसी) लाहौर में स्थानांतरित किया जाएगा।

Have something to say? Post your comment
 
More World News
पाकिस्तान ने हाफिज सईद के जेयूडी, और एफआईएफ को प्रतिबंधित किया
इमरान खान ने भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच एनएससी बैठक की अध्यक्षता की
भारत ने आईसीजे में पाक वकील की अभद्र भाषा पर आपत्ति जताई
आईसीजे ने जाधव मामले की सुनवाई टालने की पाक की गुजारिश ठुकराई
पाकिस्तान ने सलाह-मशविरा के लिये भारत से अपने उच्चायुक्त को बुलाया
कुलभूषण जाधव के मामले में भारत, पाक करेंगे आईसीजे में जिरह
पाकिस्तान का दावा - जैश के खिलाफ प्रतिबंधों पर अमल का दायित्व निभा रहा
चीन ने पुलवामा हमले की निंदा की, शहीद जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना जताई
इस्राइल भारत के साथ है - नेतन्याहू
अमेरिका ने आतंकवाद के कारण अपने नागरिकों को पाकिस्तान ना जाने की सलाह दी