Follow us on
Friday, February 22, 2019
Business

एसबीआई ने 30 लाख रुपये तक के आवास ऋण पर ब्याज दर 0.05 प्रतिशत घटाई

February 09, 2019 09:02 AM

मुंबई (भाषा) - भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत ब्याज दर में कमी किए जाने के एक दिन बाद ही देश के सबसे बड़े बैंक सार्वजनिक क्षेत्र के भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने 30 लाख रुपये तक के सभी आवास ऋणों पर ब्याज दर में 0.05 प्रतिशत की कटौती करने की शुक्रवार को घोषणा की।

एसबीआई ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा कि उसने गृह रिण पर ब्याज पांच आधार अंक (0.05 प्रतिशत अंक) घटा दी है। बैंक ने कहा, ‘ रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति की घोषणा के तुरंत पश्चात हमने सबसे पहले बैंक हैं जिसने 30 लाख रुपए तक के गृह रिण पर ब्याज घटाया है।’ बैंक ने कहा है कि उसने कम और मध्यम आयवर्ग के लोगों के फायदे को ध्यान में रख कर यह निर्णय किया है।

भारतीय रिजर्व बैंक ने बृहस्पतिवार को चालू वित्त वर्ष की अंतिम द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा में रेपो दर को 0.25 प्रतिशत घटा कर 6.25 प्रतिशत कर दिया है। इसके बाद से माना जा रहा है कि वाणिज्यिक बैंक भी अपने कर्ज को सस्ता करेंगे।

एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि देश के सबसे बड़े बैंक के नाते हम हमेशा ग्राहकों के हित को सबसे आगे रखते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आवास ऋण बाजार में एसबीआई की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा है। ऐसे में यह उचित होगा कि हम केंद्रीय बैंक द्वारा दरों में कटौती का लाभ एक बड़े निम्न और मध्यम आय वर्ग को उपलब्ध कराएं।’’

सार्वजनिक क्षेत्र का एसबीआई संपत्ति, जमा, शाखा, ग्राहक और कर्मचारियों की संख्या के लिहाज से देश का सबसे बड़ा बैंक है। 30 सितंबर, 2018 तक बैंक के पास 28.07 लाख करोड़ रुपये की जमाएं थीं। कासा अनुपात 45.27 प्रतिशत का तथा ऋण 20.69 लाख करोड़ रुपये का था।

आवास ऋण बाजार में एसबीआई की हिस्सेदारी 34.28 प्रतिशत तथा वाहन ऋण बाजार में 34.27 प्रतिशत है।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
आईआईएम-आई के सिर पर डबल क्राउन
बैंक साइबर हमलों के लिहाज से सबसे संवेदनशील - सरकारी अधिकारी
स्टार्टअप कंपनियों को बड़ी राहत, 25 करोड़ रुपये तक के एंजल निवेश पर कर छूट
लोगों की निजता, आंकड़ों पर मालिकाना हक के संरक्षण के लिये सुधारात्मक कार्रवाई की जाएगी - प्रभु
सबसे तरजीही देश का दर्जा वापस लेने की आधिकारिक जानकारी नहीं - पाकिस्तान
भारत ने पाकिस्तान से आयातित सामान पर सीमा शुल्क बढ़ाकर 200 प्रतिशत किया
भारत ने पाकिस्तान से सबसे तरजीही राष्ट्र का दर्जा वापस लिया, व्यापार प्रतिबंध पर विचार
चीन के साथ व्यापार वार्ता बहुत अच्छी तरह चल रही है - अमेरिकी राष्ट्रपति
सरकार 2022 तक सभी को घर दिलाने की दिशा में कर रही काम
चीन के साथ व्यापार वार्ता के लिए बीजिंग में अमेरिकी टीम