Follow us on
Friday, April 26, 2019
India

कुंभ में तीसरे शाही स्नान में दो करोड़ लोगों के डुबकी लगाने की संभावना

February 10, 2019 10:02 AM

इलाहाबाद (भाषा) - संगम शहर में चल रहे आस्था के पर्व कुंभ में कल यानी रविवार को बसंत पंचमी के दिन तीसरे ‘शाही स्नान’ में कम से कम दो करोड़ से अधिक लोगों के आने की संभावना है। कुंभ मेला अधिकारी विजय किरन आनंद ने पीटीआई-भाषा से शनिवार को कहा कि रविवार को बसंत पंचमी के अवसर पर समाज के हर वर्ग से दो करोड़ से ज्यादा लोगों के डुबकी लगाने की संभावना है।

उत्तर प्रदेश पुलिस तथा केन्द्रीय अर्ध सैनिक बल सहित सुरक्षा कर्मियों को विभिन्न क्रॉसिंग्स और शहर के अनेक हिस्सों में तैनात किया गया है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (एबीएपी) के अध्यक्ष नरेन्द्र गिरि ने कहा, ‘‘कुंभ मेले में तीन शाही स्नान और तीन पर्व स्नान होते हैं।

कुंभ मेला 15 जनवरी को मकर संक्राति के दिन से शुरु हुआ था और वही पहला शाही स्नान था दूसरा शाही स्नान चार फरवरी को मौनी अमावस्या के दिन था। इलाहाबाद की महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने पीटीआई-भाषा से कहा,‘‘बसंत पंचमी कुंभ का तीसरा और अंतिम शाही स्नान है। माना जाता है कि इस दिन तीन बार डुबकी लगा कर श्रद्धालुओं को गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती का आशिर्वाद मिलता है।इस लिए श्रद्धालुओं के लिए इसका काफी महत्व है।’’

उत्तर प्रदेश पुलिस ने पूरे पर्व को सुगमता से निपटाने के लिए सारी तैयारी की है। राज्य के पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने पीटीआई-भाषा से पहले बातचीत में कहा था कि पूरे क्षेत्र को नौ जोन और 20 सेक्टरों में बांटा गया है। इनकी सुरक्षा में 20,000 पुलिसकर्मियों, 6000 होमगार्ड तैनात किए गए हैं। इसके अलावा 40 पुलिस थाने, 58 चौकियां, 40 दमकल केंद्र बनाए गए हैं। केन्द्रीय बलों की 80 कंपनियां तथा पीएसी की 20 कंपनियां भी तैनात हैं।

Have something to say? Post your comment
 
More India News
मोदी ने ममता को स्टीकर दीदी कहा
अदालत ने सीजेआई को फंसाने की साजिश के वकील के दावे पर सीबीआई, आईबी व दिल्ली पुलिस प्रमुख को बुलाया
रोहित शेखर की हत्या के मामले में पत्नी गिरफ्तार
अदालत ने प्रज्ञा ठाकुर को चुनाव लड़ने से रोकने की मांग करने वाली याचिका खारिज की
तीसरे चरण में 66 प्रतिशत मतदान, इस चरण में शामिल सभी राज्यों में गिरा मत प्रतिशत
मोदी ने वोट डालने के बाद कहा, ‘वोटर आईडी’ आतंकवादियों के ‘आईईडी’ से अधिक शक्तिशाली
सितारों के मैदान में उतरने से राजधानी में लोकसभा चुनावों में बढ़ी रौनक
भाजपा गरीब विरोधी, अमीर समर्थक - पटनायक
क्या प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के लिए अलग-अलग आचार संहिता है : नायडू ने चुनाव आयोग से पूछा
सीजेआई के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच न्यायमूर्ति एस. ए. बोबडे करेंगे