Follow us on
Friday, February 22, 2019
World

अबू धाबी ने हिंदी को अदालत की तीसरी आधिकारिक भाषा बनाया

February 11, 2019 09:43 AM

दुबई (भाषा) - अबू धाबी ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए अरबी और अंग्रेजी के बाद हिंदी को अपनी अदालतों में तीसरी आधिकारिक भाषा के रूप में शामिल कर लिया है। न्याय तक पहुंच बढ़ाने के लिहाज से यह कदम उठाया गया है।

अबू धाबी न्याय विभाग (एडीजेडी) ने शनिवार को कहा कि उसने श्रम मामलों में अरबी और अंग्रेजी के साथ हिंदी भाषा को शामिल करके अदालतों के समक्ष दावों के बयान के लिए भाषा के माध्यम का विस्तार कर दिया है।

इसका मकसद हिंदी भाषी लोगों को मुकदमे की प्रक्रिया, उनके अधिकारों और कर्तव्यों के बारे में सीखने में मदद करना है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, संयुक्त अरब अमीरात की आबादी का करीब दो तिहाई हिस्सा विदेशों के प्रवासी लोग हैं।

संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय लोगों की संख्या 26 लाख है जो देश की कुल आबादी का 30 फीसदी है और यह देश का सबसे बड़ा प्रवासी समुदाय है। एडीजेडी के अवर सचिव युसूफ सईद अल अब्री ने कहा कि दावा शीट, शिकायतों और अनुरोधों के लिए बहुभाषा लागू करने का मकसद प्लान 2021 की तर्ज पर न्यायिक सेवाओं को बढ़ावा देना और मुकदमे की प्रक्रिया में पारदर्शिता बढ़ाना है।

Have something to say? Post your comment
 
More World News
पाकिस्तान ने हाफिज सईद के जेयूडी, और एफआईएफ को प्रतिबंधित किया
इमरान खान ने भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच एनएससी बैठक की अध्यक्षता की
भारत ने आईसीजे में पाक वकील की अभद्र भाषा पर आपत्ति जताई
आईसीजे ने जाधव मामले की सुनवाई टालने की पाक की गुजारिश ठुकराई
पाकिस्तान ने सलाह-मशविरा के लिये भारत से अपने उच्चायुक्त को बुलाया
कुलभूषण जाधव के मामले में भारत, पाक करेंगे आईसीजे में जिरह
पाकिस्तान का दावा - जैश के खिलाफ प्रतिबंधों पर अमल का दायित्व निभा रहा
चीन ने पुलवामा हमले की निंदा की, शहीद जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना जताई
इस्राइल भारत के साथ है - नेतन्याहू
अमेरिका ने आतंकवाद के कारण अपने नागरिकों को पाकिस्तान ना जाने की सलाह दी