Follow us on
Thursday, March 21, 2019
BREAKING NEWS
Business

खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ने से फरवरी में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 2.57 प्रतिशत पर पहुंची

March 13, 2019 07:29 AM

नयी दिल्ली (भाषा) - खाने, पीने की चीजों के दाम बढ़ने से फरवरी में खुदरा मुद्रास्फीति दर बढ़कर 2.57 प्रतिशत पर पहुंच गई। यह इसका चार माह का उच्चस्तर है। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति की दर इससे पहले जनवरी में 1.97 प्रतिशत तथा एक साल पहले फरवरी में 4.44 प्रतिशत पर रही थी।

सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के तहत केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार फरवरी माह की खुदरा मुद्रास्फीति की दर अक्टूबर, 2018 के बाद सबसे ऊंची है। अक्टूबर 2018 में यह 3.38 प्रतिशत रही थी।

माह के दौरान खाद्य मुद्रास्फीति शून्य से 0.66 प्रतिशत नीचे रही, जो इससे पिछले साल इसी महीने में 3.26 प्रतिशत थी। प्रोटीन वाली वस्तुओं मसलन मांस और मछली तथा अंडों की मुद्रास्फीति फरवरी में क्रमश: 5.92 प्रतिशत और 0.86 प्रतिशत रही। फलों के दाम माह के दौरान 4.62 प्रतिशत घटे। वहीं सब्जियां 7.69 प्रतिशत सस्ती हुईं। जनवरी में इनके दाम क्रमश: 4.18 प्रतिशत और 13.32 प्रतिशत घटे थे।

ईंधन और प्रकाश की श्रेणी में मूल्यवृद्धि की दर घटकर 1.24 प्रतिशत रह गई, जो जनवरी में 2.20 प्रतिशत थी। आरबीएल बैंक की अर्थशास्त्री रजनी ठाकुर ने कहा कि मुख्य मुद्रास्फीति बढ़कर 2.57 प्रतिशत पर पहुंची है जबकि औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर आश्चर्यजनक रूप से घटकर 1.7 प्रतिशत पर आ गई है, ऐसे में रिजर्व बैंक के पास अप्रैल की मौद्रिक समीक्षा में नीतिगत दरों में 0.25 प्रतिशत कटौती की गुंजाइश है।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
रीयल एस्टेट क्षेत्र पर जीएसटी के नए कर ढांचे की अनुपालन योजना को जीएसटी परिषद की मंजूरी
भारत, अफ्रीकी देश मुक्त व्यापार करार की संभावनायें तलाशें - प्रभु
कुपोषण से कमजोर बच्चों का अनुपात वार्षिक 2% की दर से घटा
देश का इंजीनियरिंग निर्यात 2025 तक 200 अरब डॉलर पर पहुंचाने का लक्ष्य
सेंसेक्स 269 अंक की छलांग से 38,000 अंक के पार
भारत में 3,000 लोगों को नियुक्त करेगी सीबीआरई
रिजर्व बैंक प्रणाली में पांच अरब डॉलर की नकदी डालेगा
अपीलीय न्यायाधिकरण ने संपत्ति बिक्री से प्राप्ति को लेकर आरकॉम के कर्जदाताओं को फटकार लगायी
सालाना 72.6 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है देश में डेटा उपभोग - एसोचैम
सुस्त मांग से सोना फिसला, चांदी में तेजी