Follow us on
Sunday, May 26, 2019
Haryana

सेक्टर 11 पंचकूला के एक होटल में महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप

March 14, 2019 09:27 AM

पंचकूला - सेक्टर-11 के एक होटल में एक दंत चिकित्सक को नशे का इंजेक्शन देकर सामूहिक दुष्कर्म का मामला आया सामने आया है। पंचकूला महिला थाना प्रभारी अजीत सिंह ने बताया कि सामुहिक दुष्कर्म मामले में चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिनमें विक्रम, रमन, गोरा और संजय शामिल हैं। इन चारों आरोपियों को बुधवार को कोर्ट में पेश किया गया। वहीं चारों आरोपियों को पंचकूला जिला अदालत ने 1 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक पंचकूला के सेक्टर 11 के एक निजी होटल में महिला दंत चिकित्सक को नशा देकर गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया। महिला चिकित्सक की शिकायत पर विक्रम, रमन, गोरा और संजय को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस महिला थाना प्रभारी अजीत सिंह ने बताया कि चारों आरोपियों को गैंगरेप के केस में मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।

चारों आरोपियों को कोर्ट ने एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है। पीड़िता ने महिला थाना पुलिस को दी गई शिकायत में आरोप लगाया कि सेक्टर-11 के फ्यूजन होटल में युवती को नशे का इंजेक्शन देकर उसके साथ गैंगरेप किया गया। उसे बेहोशी के इंजेक्शन की ओवर डोज दी गई। नशे के इंजेक्शन लगाने से युवती की तबीयत इस कदर खराब हो गई कि उसे पीजीआई एडमिट करवाया गया था। इसके बाद कई दिनों के बाद डाक्टर को होश आने पर शिकायत पर पुलिस ने चार आरोपियों पर गैंग रेप का केस दर्ज किया है।

युवती ने आरोप लगाया कि उसे इंजेक्शन की डोज देने के बाद उसे एक कमरे में ले जाया गया। इसके बाद आरोपी विक्रम, रमन सहित सभी ने उसके साथ छेड़खानी शुरू कर दी। जब युवती ने रोका तो उसे दोबारा से नशे का इंजेक्शन दिया गया। उसके बाद चारों दोस्तों ने मिलकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

महिला थाना प्रभारी अजीत सिंह ने बताया कि आरोपियों ने महिला चिकित्सक को ओवरडोज दी जिससे महिला चिकित्सक की तबीयत ज्यादा खराब हो गई जिसके चलते उसे पीजीआई में दाखिल करवाया गया।

महिला थाने में पुरूष प्रभारी

प्रदेश की भाजपा सरकार ने सत्ता में आते ही महिलाओं के लिए अलग से हर जिलें में महिला थानें बनाए थे। जिसमें सभी महिला थानों में महिला ही थाना प्रभारी लगाई गई थी। पंचकूला भाजपा सरकार का पहला पिंक महिला थाना है। मगर इस महिला थानें में महिलाओं की समस्या सुननें के लिए महिला थाना प्रभारी नही है। पिछलें कई महिनों से ही पुरूष थाना प्रभारी अजीत सिंह कमान संभालें हुए है। जब प्रदेश की मिनी राजधानी में यह हाल है, प्रदेश के दुसरे महिला थानों में क्या हाल होगा। प्रदेश में महिला थानों में भी महिलाओं की सुननें के लिए महिला थाना प्रभारी नही मिल रही है। जिसके कारण महिलाए आखिर किस को अपनी समस्या खुल कर बताए।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
साइबर चौपाल के जरिए प्रदेशवासियों से जुड़े दुष्यंत चौटाला
विधानसभा चुनाव के लिये कांग्रेस कार्यकर्ता जुटें - रंजीता मेहता
सूरत की धटना को लेकर पंचकूला प्रशासन हुआ अर्लट
26 मई को 33 परीक्षा केंद्रों पर होगी नायब तहसीलदार पद की परीक्षा इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने दिया अपने पद से त्याग-पत्र
लोकसभा आम चुनाव 2019 में सभी 10 लोकसभा सीटों पर भाजपा ने की जीत दर्ज
टेकराम कंडेला ने भाजपा की जीत पर दी बधाई
भाजपा प्रत्याशी रतन लाल कटारिया ने कुमारी सैलजा को तीन लाख से अधिक मतों से हराया
सरकारी पाली क्लीनिक के डाक्टर पर शारीरिक व मानसिक उत्पीडन का आरोप
हरियाणा में सभी 10 सीटों पर भाजपा आगे, सोनीपत में हुड्डा के मुकाबले कौशिक ने ली 14 हजार वोट की लीड