Follow us on
Tuesday, June 25, 2019
Chandigarh

सिटी ब्यूटीफुल की ब्यूटी को वापस लौटाने के लिए लोगों में शुरू करनी होगी मुहिम

April 14, 2019 08:46 AM

चंडीगढ़ (सोनिया अटवाल) -  नगर निगम के एमओएच विंग ने शहर में गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ जुर्माना लगाने कर काम शुरू कर दिया है। गंदगी फैलाने वालों के 500 रुपये से लेकर 10 हजार रुपये तक के चालान काटे जा रहे हैं। लेकिन, इसके बाद भी शहर में गंदगी के ढेर लगे हैं। गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई जरूर हो रही है, लेकिन फिर भी लोग गंदगी फैलाने से बाज नहीं आ रहे हैं। शायद यही वजह है कि चंडीगढ़ के लिए सिटी ब्यूटीफुल टैग लाइन इस्तेमाल करने पर रोक लगाए जाने की मांग पर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने भी चंडीगढ़ प्रशासन को नोटिस जारी कर जवाब लिया है और चीफ जस्टिस कृष्ण मुरारी और जस्टिस अरुण पल्ली की खंडपीठ ने 29 अप्रैल के लिए मामले पर सुनवाई तय की है।

जगमार्ग ने शहर के अलग अलग वर्गों से यह जानने का प्रयास किया कि सिटी ब्यूटीफुल कहे जाने वाले इस शहर को किस तरह से हम स्वच्छता में नंबर एक बनाएं ताकि इस शहर के साथ जो टैगलाइन सिटी ब्यूटीफुल जुड़ा है वह वाकई में एक सुंदर शहर दिखे।

लोगों को इस मुहिम से जोडऩा जरूरी: डॉ.शिवानी शर्मा

शहर के आर्किटेक्चर और ट्रैफिक आदि बातों को ध्यान में रखते हुए इसे सिटी ब्यूटीफुल का टेग दिया गया है। शहर का नकशा जनसंख्या के आधार पर बनाया गया था, जनसंख्या बढऩे से ही शहर में स्वच्छता की स्थिति बिगड़ी है। इंदौर हर साल स्वच्छता में क्यूं नंबर वन आता है, इसे सोचना जरूरी है। लोग अगर शहर को स्वच्छ बनाए रखने में सहयोग करेंगे, तभी हम अपनी रैंकिंग को सुधार सकते हैं। इसीलिए लोगों का इस मुहिम से जुडऩा बहुत जरूरी है। डॉ.शिवानी शर्मा, चैयरपर्सन, फिलॉस्फी डिपार्टमेंट, पीयू।

लोग अपनी जिम्मेदारियों को ले गंभीरता से:निर्मल रावत

लोग अपनी जिम्मेदारियों के प्रति लापरवाही बरतते हैं। इसीलिए भी शहर में जगह-जगह गंदगी के ढेर देखने को मिलते हैं। कुछ महीनों पहले नगर निगम की ओर से लोगों को जागरूक किया गया था। लेकिन सभी शहर को स्वच्छ बनाए रखने में सपोर्ट नहीं करते। जिस वजह से प्रशासन की योजनाएं भी काम नहीं कर पा रही है। शहर में कितनी मार्केट, कितने पार्क कितनी सडक़े ऐसी हैं, जहां कूड़े के ढेर जमा हैं। ऐसे में चंडीगढ़ को सिटी ब्यूटीफूल कैसे बनाकर रखा जा सकता है। निर्मल रावत,प्रैस सचिव, उत्तराखंड कला मंच।

स्वच्छता विभाग के अधिकारी खुद करें निरीक्षण:कमलेश

चंडीगढ़ को हमेशा सिटी ब्यूटीफुल के रूप में जाना जाता है लेकिन इसकी रैंकिंग गिर गई है जिससे पता चलता है कि स्वच्छता विभाग कुशलता से काम नहीं कर रहा है। इसमें सुधार के लिए दो चीजों की जरूरत है - एक तो कड़े कानून होने चाहिए और कचरा फेंकने वालों पर भारी जुर्माना लगाया जाना चाहिए। इसके साथ ही लोगों को इसमें शामिल किया जाना चाहिए और कहीं भी पड़े हुए कचरे की तस्वीरें क्लिक करने के लिए कहा जाना चाहिए। जहां भी कचरा पड़ा पाया जाता है, वहां भी स्वच्छता विभाग के कर्मचारियों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। वरिष्ठ अधिकारियों को कूड़े के ढेर की जाँच के लिए शहर के नियमित चक्कर लगाने चाहिए। कमलेश,गृहिणी

लोगों की आदत सुधारने की जरूरत:सुरेंद्र बगगा

सफाई कर्मचारी अपने काम को गंभीरता से नहीं लेते, तो बाकी लोग क्यूं स्वच्छता के लिए प्रयास करेंगे। ज्यादातर सफाई कर्मी डयूटी पर नहीं आते। इस समय लोगों को इस मुद्दे के प्रति जागरूक करने की जरूरत है। लोगों की आदत बन चुकी है, इसे सुधारने की जरूरत है। मैं पिछले दो दिनों से इंदौर मे हूं, यहां कोई गंदगी नहीं, सडक़ों पर कोई कूड़े का ढेर नहीं है। जबकि अगर चंडीगढ़ के सेक्टर-17 में देखा जाए, तो वहां कितने कूड़े के ढेर लगे होते हैं। मल्टी लेवल पार्किंग में सब तरफ गंदगी देखी जा सकती है। सुरेंद्र बगगा, पूर्व काउंसलर, चंडीगढ़।

लोगों का नहीं मिल रहा सपोर्ट: अरविंद कुमार

लोग अपनी जिम्मेदारियों के प्रति लापरवाही बरतते हैं। इसीलिए भी शहर में जगह-जगह गंदगी के ढेर देखने को मिलते हैं। कुछ महीनों पहले नगर निगम की ओर से लोगों को जागरूक किया गया था। लेकिन सभी शहर को स्वच्छ बनाए रखने में सपोर्ट नहीं करते। जिस वजह से प्रशासन की योजनाएं भी काम नहीं कर पा रही है। अरविंद कुमार, कांग्रेस नेता।

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
मक्कखन माजरा में स्थित टोयटा के गोदाम में लगी आग में 22 गाडिय़ा जलकर खाक
डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए पंजाब का अधिनियम चंडीगढ़ में किया जाएगा लागू
स्लम फ्री होगा चंडीगढ़, कॉलोनी नंबर चार 10 जुलाई तक खाली करने का नोटिस
कपूरथला में फिल्मी स्टाइल से भागा गैंगस्टर भेजा चंडीगढ़ में काबू
यूटी इंप्लाइज हाउसिंग स्कीम के लिए पांच किस्तों में करना होगा जमीन की लागत का भुगतान
इंजीनियरिंग संस्थानों में अंतिम तिथि तक आवेदन न करने वाले छात्रों को मिलेगा एक गोल्डन चांस
मोहल्ले में फॉगिंग के दौरान धुआं नहीं होगा, लेकिन मच्छरों का होगा खात्मा
सीबीएसई की ओर से 10 एवं 12वीं कक्षा के कंपार्टमेंट छात्रों के केंद्रों की सूची जारी
चंडीगढ़ वासियों ने लिया संकल्प योग अपनाएंगे, रोग भगाएंगे
वायु साइक्लोन रहा शहर में कमजोर, आज फिर से गर्मी बढऩी तय