Follow us on
Friday, April 19, 2019
Chandigarh

शहर के गुरूद्वारों में बैसाखी पर्व पर गूंजे जो बोले सो निहाल सत श्री अकाल के स्वर

April 15, 2019 06:39 AM

चंडीगढ़ (सोनिया अटवाल) - सिखों के पर्व बैसाखी को रविवार को सभी गुरूद्वारों में ध्ूामधाम से मनाया गया। इस अवसर पर गुरुद्वारा को आकर्षक ढंग से सजाया गया। खालसा पंथ के स्थापना दिवस बैसाखी पर गुरुद्वारा में विविध कार्यक्रम संपन्न हुए। इस दौरान हजूरी रागी तंव अमृतसर से पहुंचे रागी जत्थों ने कीर्तन कर गुरु की महिमा का बखान कर संगत को निहाल कर दिया।

गुरुद्वारा जो बोले सो निहाल सत श्री अकाल के स्वर से गूंज उठा। सुबह अखंड पाठ का समापन किया गया। हेड ग्रंथी की ओर से विशेष दीवान सजाया गया। अमृतसर से पहुंचे रागी एवं साथियों ने गुरु की महिमा का बखान किया। इस दौरान काफी संख्या में संगत गुरूद्वारे पहुंची और मत्था टेका। पर्व पर गुरु का अटूट लंगर बरपा गया। इस मौके पर सेक्टर-29, 30, 20, 34, 37, 36,35, 38 रामदरबार, रायपुर कलां, बहलाना, रायपुर खुर्द आदि सभी गुरूद्वारें में काफी संख्या में संगत ने पहुंचकर सेवा की।

स्कूलों में भी विशेष आयोजन:

 ब्रिलिएंस वर्ल्ड के नन्हेंबच्चों ने संगीत और नृत्य के साथ बैसाखी का उत्सव मनाया। इस मौके पर एक विशेष सभा का आयोजन किया गया, जिसमें छात्रों को भारतीय सौर कैलेंडर के पहले दिन से लेकर खालसा विचारधारा की स्थापना तक के बारे में बताया गया, ताकि इस दिन का महत्व रेखांकित किया जा सके। उन्हें यह भी बताया गया कि इसे फसल उत्सव के रूप में भी मनाया जाता है। विशेष रूप से भारत जैसे देश में इसका खास महत्व है, क्योंकि हमारा देश कृषि प्रधान राष्ट्र है। समृद्धि के साथ जुड़े होने के कारण इसे रंग, संगीत और नृत्य के साथ मनाया जाता है।        

Have something to say? Post your comment
 
More Chandigarh News
जेट एयरवेज का परिचालन बुधवार आधी रात से हो रहा है अस्थायी तौर पर बंद कॉल कर प्रोडक्ट्स को आनलाइन बेचने का झांसा देकर 9 लाख की ऑनलाइन ठगी करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे पहले युवक को पीटा, बाद में गन प्वाइंट पर किडनैप कर कोर्ट के बाहर फेंका, गिरफ्तार
वोट नहीं बनी है तो कल तक है मौका, शाम 5 बजे तक करें आवेदन
शहर में फिर से लौटी कुत्तों की दहशत, सेंटर्स में आ रहे हैं 20-25 केस
पीयू में स्टाफ की कमी के कारण रैंकिंग में लगातार हो रही गिरावट
जो लोग मंज़ूर रेलवे अंडर पास पांच साल में नहीं बना पाए -वो आज मोनो रेल की बात कर रहे है - मधु बंसल
बंद गोदाम से लाखों की नकदी पर चोरों ने किया हाथ साफ सांप ने काटा रिटायर्ड फौजी को, फौजी सांप को बैग में ले पहुंचा अस्पताल, हडक़ंप
अब जल्द ही 100 नंबर की जगह हर आपातकाल में मदद करेगा 112, एक ही छत के नीचे मिलेगा हर मुश्किल का हल