Follow us on
Tuesday, June 25, 2019
Business

नये घोटाले का रास्ता खोलेगी कांग्रेस की न्याययोजना - गोयल

April 15, 2019 06:47 AM

नयी दिल्ली (भाषा) - केंद्रीय मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता पीयूष गोयल ने रविवार को कहा कि गरीबों के लिये कांग्रेस की न्यूनतम आय योजना जिस तरह से सोची गयी है वह अपने आप में तबाही है। उन्होंने कहा कि यह एक अन्य घोटाले का रास्ता खोलेगा क्योंकि लाभार्थियों का चयन पूरी तरह से भ्रष्टाचार से प्रभावित होगा।

गोयल ने कहा, उन्हें नहीं लगता कि इस योजना को लागू कर पाना संभव होगा क्योंकि आय और वेतन के स्तर पर कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है। कांग्रेस का यह वादा गुब्बारे की तरह फूट जाएगा। कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में वादा किया है कि यदि वह सत्ता में आयी तो देशभर के 20 प्रतिशत सबसे गरीब लोगों के बैंक खाते में सालाना 72 हजार रुपये जमा करेगी। कांग्रेस पार्टी ने इस योजना को न्याय नाम दिया है।

जहां एक ओर कांग्रेस पार्टी के नेताओं का कहना है कि इस प्रस्तावित योजना ने मतदाताओं को बड़े स्तर पर आकर्षित किया है वहीं भाजपा ने इसे पूरी तरह से अव्यवहारिक और अर्थव्यवस्था के खिलाफ बताया है।

गोयल ने पीटीआई भाषा से एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘आर्थिक एवं वित्तीय सूझबूझ के दृष्टिकोण से यह योजना त्रासदी है। मुझे यह लगभग असंभव प्रतीत होती है क्योंकि लोगों के वेतन और आय के बारे में कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लोगों (लाभार्थियों) का चयन पूरी तरह से भ्रष्टाचार से भरा होगा और यह अपने आप में ही एक घोटाला बन सकता है। यह उन घोटालों की श्रृंखला की एक और कड़ी बन जाएगा जिसके लिये कांग्रेस कुख्यात है।’’

केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, ऐसा लगता है कि कांग्रेस अभी भी पुरानी मानसिकता में जी रही है कि महज नारों से जनता को मूर्ख बनाया जा सकता है, लेकिन उन्हें यह मालूम होना चाहिये कि आकर्षक नारों से जनता को अब मूर्ख नहीं बनाया जा सकता है।

उन्होंने कहा, ‘‘तीन पीढ़ियों से उनके नेताओं ने बड़े-बड़े वादे किये लेकिन औसत से भी नीचे प्रदर्शन कर सके और वह भी भ्रष्टाचार से भरा रहा। भारत के लोग होशियार हैं और इस तरह के झूठ में अब नहीं फंसेंगे, कम से कम बड़े वादों और आकर्षक नारों से मूर्ख नहीं बनेंगे।’’

गोयल ने कहा कि इनसे इतर मोदी सरकार देश के टिकाउ विकास के लिये काम कर रही है और 130 करोड़ भारतीयों को आत्मनिर्भर बनाकर तथा सम्मानयोग्य जीवन यापन प्रदान कर उन्हें बेहतर भविष्य देने के लिये प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे लिये यह आगे बढ़ने की प्रतिस्पर्धा है जहां हर कोई शीर्ष पर पहुंचना चाहता है। कांग्रेस के लिये यह नीचे गिरने की होड़ है जिसमें हर कोई अधिक गिरना चाहता है। बेरोजगारी के सवाल पर गोयल ने कहा कि भारत विश्व की सबसे तेजी से वृद्धि करती अर्थव्यवस्था है और विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की कगार पर है। यह बिना रोजगार सृजन के नहीं हो सकता है।

विपक्षी पार्टियां बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार को निशाना बना रही है। गोयल ने कहा, ‘‘आप बिना रोजगार सृजन किये विश्व की सबसे तेजी से वृद्धि करती अर्थव्यवस्था और विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था नहीं बन सकते हैं। रोजगार के नये अवसर सृजित हो रहे हैं।’’

वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि भाजपा ने अगले पांच साल में बुनियादी संरचना में 100 लाख करोड़ रुपये निवेश करने का वादा किया है जिससे रोजगार सृजन आगे बढ़ेगा। इनमें से एक तिहाई राशि का इस्तेमाल कामगारों को वेतन देने में किये जाने का अनुमान है।

मोदी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए गोयल ने कहा कि सरकार ने लोगों के सोचने का तरीका कमजोरी से बदलकर मजबूती में तब्दील कर दिया है और देश के काम करने के तरीके में भी भारी बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि देश और देश के लोग अब महत्वाकांक्षी हो गये हैं तथा अब वे ‘चलता है’ वाली मानसिकता से बाहर निकल गये हैं।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने दिया इस्तीफा
पोम्पियो की यात्रा के दौरान व्यापार विवाद सुलझाएं भारत, अमेरिका - यूएसआईबीसी
पोम्पियो बादाम पर शुल्क का मुद्दा मोदी के सामने उठाएं - अमेरिकी सांसद
भारत ने तेल कीमतों में वृद्धि पर चिंता जताई, प्रधान ने सऊदी अरब के पेट्रोलियम मंत्री से की बात
फेडरल रिजर्व के ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने के फैसले के बाद रुपये में भारी उतार-चढ़ाव
पाकिस्तान को शर्तों के साथ कर्ज दे आईएमएफ - अमेरिका
सेंसेक्स, निफ्टी बढ़त के साथ बंद, निगाहें फेडरल रिजर्व की नीतिगत बैठक पर
मौद्रिक नीति तय करते समय वित्तीय स्थिरता का मुद्दा भी महत्वपूर्ण बन गया है - दास
भारत में वेतन की दिक्कत है, नौकरी की नहीं - मोहनदास पई
नीति आयोग की संचालन परिषद की पांचवीं बैठक शुरू