Follow us on
Saturday, August 17, 2019
BREAKING NEWS
अच्छे लोगों का भाजपा में स्वागत - अमित शाहकश्मीर में फोन लाइनें सप्ताहांत तक बहाल हो जाएंगी, स्कूल अगले हफ्ते खुलेंगे - मुख्य सचिवदेशवासियों ने जो काम दिया, हम उसे पूरा कर रहे हैं - मोदीमोदी ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की घोषणा की, जनसंख्या नियंत्रण और एक राष्ट्र, एक चुनाव पर दिया जोरजम्मू कश्मीर में मीडिया पर पाबंदियां हटाने के मसले पर न्यायालय ने कहा,हम कुछ समय देना चाहते हैंजापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ रियल एस्टेट सैक्टर में निवेश योजना सांझी कीमनाली में स्थापित की जाने वाली अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा की आधारशिलाप्रदेश के सरकारी अस्पतालों की मिली 30 बेसिक लाईफ सेविंग एंबुलेंस गाड़ियां
Feature

गर्मियों में लू से बचने के लिए करे ये उपाय

May 10, 2019 06:24 AM

गर्मीयों के मौसम में तेज धूप के कारण पसीना ज्यादा आता है। इससे वयस्कों के शरीर में पानी की जरूरत करीब 500 मिलीलीटर बढ़ जाती है। इसके अलावा इस मौसम में शरीर के साथ-साथ सेहत का भी ज्यादा ध्यान रखना पडता है। क्योंकि यदि थोडी सी भी लापरवाही की तो आप बीमार हो सकते है। तो वहीं इस मौसम में लू लगना एक आम बात है। इसके अलावा इस मौसम में ऐंठन, थकावट और हीट स्ट्रोक होना भी आम बात है।

दरअसल, इस मौसम में अत्यधिक पसीना निकलने से, मूत्र और लार के रूप में तरल पदार्थ तथा इलेक्ट्रोलाइट्स का प्राकृतिक नुकसान होता है। जिससे की डिहाइड्रेशन और इलेक्ट्रोलाइट्स का तीव्र असंतुलन हो सकता है।

गर्मी के मौसम में ज्यादा समय तक धूप में रहने, शारीरिक गतिविधि, उपवास, तीव्र आहार, कुछ दवााअें और बीमारी व संक्रमण के कारण निर्जलीकरण कहीं भी और कभी भी हो सकता है। इनके लक्षणों में आपको थकान, चक्कर आना, सिरदर्द, गहरे पीले रंग का पेशाब, शुष्क मुंह और चिडचिडापन आदि होने लगता है।

गर्मी के मौसम में शरीर को हाईड्रेटेड रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। एचसीएफआई के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल के अनुसार गर्मी के मौसम में ज्यादा पसीना आने से वयस्कों में पानी की आवश्यकता 500 मिलीलीटर तक बढ़ जाती है। यह मौसम टाइफाइड, पीलिया और दस्त भी है। इसके कुछ कारणों में पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना और खराब भोजन, पेयजल व हाथों की स्वच्छता न रखना शामिल है।

Have something to say? Post your comment