Follow us on
Friday, May 24, 2019
Sports

महिला टी20 लीग शानदार रहा लेकिन ज्यादा टीमें होनी चाहिए - हरमनप्रीत

May 13, 2019 06:25 AM

जयपुर (भाषा) - महिला टी20 चैलेंज का खिताब जीतने वाली सुपरनोवाज टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि इस लीग का शुरूआती सत्र शानदार रहा लेकिन इसमें और अधिक टीमों होनी चाहिए। सुपरनोवाज ने हरमनप्रीत कौर की 51 रन की पारी के दम पर फाइनल मुकाबले में शनिवार को यहां वेलोसिटी को चार विकेट से शिकस्त देकर खिताब अपने नाम किया।

हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा कि टूर्नामेंट की सफलता को देखते हुए इसमें ज्यादा टीम की भागीदारी होनी चाहिए।  उन्होंने कहा, ‘‘ मेरे लिये यह शानदार टूर्नामेंट रहा, मैंने काफी कुछ सीखा और दूसरे खिलाड़ियों के लिए भी ऐसा ही है। हम इस (टूर्नामेंट) से ऐसी ही उम्मीदें कर रहे थे।’’

फाइनल मुकाबले के दौरान मैदान में लगभग 15,000 दर्शक मौजूद थे जिन्होंने हरमनप्रीत का हौसला बढ़ाया। उन्होंने अगले सत्र में ज्यादा टीमों की मांग करते हुए कहा, ‘‘ हम भारत में टी20 लीग खेलना चाहते थे और जिस तरह से इसका आयोजन हुआ उससे मैं काफी खुश हूं। हम उम्मीद कर रहे है कि अगले सत्र में ज्यादा टीमें और ज्यादा मैच होंगे।’’

उन्होंने कहा कि विदेशी खिलाड़ी भी चाहते हैं कि अगले साल से टूर्नामेंट का आयोजन बड़े स्तर पर हो। हरमनप्रीत ने कहा, ‘‘ यह दिखाता है कि विदेशी खिलाड़ियों के लिए भी यह लीग कितनी अहम है। विदेशी खिलाड़ी हमेशा पूछती रहती कि भारत में महिला लीग कब और कहां होगी ताकि वे यहां खेल सके। आप देख सकते हैं कि सबके लिए यह कितना मायने रखती है। वे यहां खेलने के लिए आतुर हैं। ’’

फाइनल में अपनी अर्धशतकीय पारी के बारे में पूछे जाने पर भारतीय महिला टी20 टीम की कप्तान ने कहा कि टीम के काम आने से वह खुश हैं। उन्होने कहा,‘‘ मैंने मैच खत्म करने के बारे में सीखा है, हर समय छक्का लगने पर निर्भर रहने से बात नहीं बनती, कई बार आपको मैच जीतने के लिए मैदान पर शाट खेलने होते हैं। मेरे अधूरे काम को राधा यादव ने पूरा किया। ’’

वेलोसिटी के लिए 32 गेंद में 40 रन की नाबाद खेलने के साथ एमेलिया केर (36) के साथ छठे विकेट के लिए 71 रन की साझेदारी करने वाली विकेटकीपर सुषमा वर्मा ने कहा कि इस टूर्नामेंट से उन्होंने सकारात्मक रहना सीखा। उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने महसूस किया कि विदेशी खिलाड़ियों का दृष्टिकोण काफी सकारात्मक रहता है। मैं चाहूंगी कि भारतीय खिलाड़ी भी ऐसा ही दृष्टिकोण रखें। इस टूर्नामेंट से मैंने हर परिस्थिति में तनाव के बिना खेलना सीखा।’’

Have something to say? Post your comment
 
More Sports News
जोकोविच के इतिहास बनाने के रास्ते में नडाल, फेडरर की चुनौती
चीन से 5-0 से हारकर भारत सुदीरमन कप से बाहर
बीसीसीआई चुनाव 22 अक्टूबर को - सीओए
इंडियन ओपन में 10 भारतीयों का पदक पक्का, सेमीफाइनल में टकरा सकती है मेरीकोम और निकहत
सबसे सफल सलामी जोड़ी के रूप में विश्व कप में उतरेंगे रोहित और धवन
विश्व कप में बतौर कप्तान कोहली की होगी असल परीक्षा
महिला क्रिकेट में सोया हुआ शेर है भारत - आस्ट्रेलियाई कोच
विश्व कप में बन सकते हैं पारी में 500 रन, इसी अपेक्षा में ईसीबी ने बदला फैंस स्कोरकार्ड
पीजीटीआई प्लेयर्स चैंपियनशिप में चिनप्पा की बढ़त बरकरार
बीसीसीआई लोकपाल के समक्ष पेश हुए तेंदुलकर और लक्ष्मण