Follow us on
Sunday, August 18, 2019
BREAKING NEWS
अच्छे लोगों का भाजपा में स्वागत - अमित शाहकश्मीर में फोन लाइनें सप्ताहांत तक बहाल हो जाएंगी, स्कूल अगले हफ्ते खुलेंगे - मुख्य सचिवदेशवासियों ने जो काम दिया, हम उसे पूरा कर रहे हैं - मोदीमोदी ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की घोषणा की, जनसंख्या नियंत्रण और एक राष्ट्र, एक चुनाव पर दिया जोरजम्मू कश्मीर में मीडिया पर पाबंदियां हटाने के मसले पर न्यायालय ने कहा,हम कुछ समय देना चाहते हैंजापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ रियल एस्टेट सैक्टर में निवेश योजना सांझी कीमनाली में स्थापित की जाने वाली अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा की आधारशिलाप्रदेश के सरकारी अस्पतालों की मिली 30 बेसिक लाईफ सेविंग एंबुलेंस गाड़ियां
Feature

अपने घर की सुख शांति के लिए सही दिशा में बनवाएं मंदिर

June 05, 2019 05:10 AM

हर किसी के घर में पूजा का स्थान बहुत ही विशेष और खास माना जाता हैं पूजा घर, घर का वह स्थान होता हैं जहां पर मन शांति और सुकून से भर जाता हैं। वही पूजा घर का घर में होना उतना ही अवश्य माना जाता हैं, जितना की एक शरीर को ऑक्सीजन की जरूरत होती हैं इससे आपके घर की सुख शांति तो बनी ही रहती हैं

वही साथ ही आपके बच्चो में भी अच्छे संस्कार आते हैं। वही आज हम आपको वास्तु शास्त्र के मुताबिक बताने जा रहे हैं कि घर में पूजा ग्रह किस तरह और कैसा होना चाहिए। तो आइए जानते हैं।

मंदिर हमेशा ही घर की उत्तर पूर्व दिशा में ही होना चाहिए। इस दिशा में बना घर में मंदिर सुख शांति के साथ साथ आपकी सोच में भी स्पष्टता लाने में बहुत ही मदद करता हैं वही इस दिशा में बने मंदिर में पूजा करने से मन को शांति प्राप्त होती हैं साथ ही साथ ध्यान में एकाग्रता बनी रहती हैं। घर का मंदिर इशान कोण पर भी बना सकते हैं मगर हवन इत्यादि घर की पश्चिम दिशा में ही होना शुभ माना जाता हैं।

वही घर के मंदिर की रोज अच्छी तरह से साफ सफाई होनी चाहिए। वही भगवान को चढ़ाने वाले पुष्प हमेशा ही ताजे होने चाहिए। बासी हो चुके पुष्पों को जल्द से जल्द साफ कर देना चाहिए। अगर घर का मंदिर ही अस्त वयस्त रहेगा। तो आपका मन भी हमेशा भटकता रहेगा। आप किसी भी निर्णय को आत्मविश्वास के साथ नहीं लें पाएंगे।

Have something to say? Post your comment