Follow us on
Sunday, June 16, 2019
Himachal

महापुरूषों के योगदान को हमेशा याद रखे समाज - जय राम ठाकुर

June 07, 2019 07:04 AM

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा है कि यह चिंता का विषय है कि जीवन की भागदौड़ में हम, उन महानुभावों के योगदान को याद करने के लिए समय नहीं निकाल पा रहे हैं, जिन्होंने अपने समय में विषम परिस्थितियों में समाज के उत्थान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि हमें अपनी वर्तमान पीढ़ी तथा आने वाली पीढ़ियों को अपने महापुरूषों के जीवन संघर्ष और उनके योगदान के बारे में विस्तार से बताना चाहिए ताकि उन्हें अपने समाज, प्रदेश तथा देश के हित में कार्य करने की प्रेरणा मिलती रहे।

मुख्यमंत्री आज राजपूत कल्याण सभा, हिमाचल प्रदेश द्वारा महाराणा प्रताप की 480वीं जयंती के अवसर पर विख्यात शक्तिपीठ चामुण्डा के समीप धर्मगिरि में राजपूत कल्याण ट्रस्ट द्वारा आयोजित वार्षिक समारोह में बोल रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने राजपूत कल्याण सभा ट्रस्ट के तत्वावधान में निर्माणाधीन महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल स्कूल के परिसर की आधारशिला रखी। इस महत्वकांक्षी महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल स्कूल के निर्माण हेतु धर्मगिरि मठ के महंत कर्मगिरि ने 50 कनाल भूमि दान में दी है।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने महाराणा प्रताप के बलिदान और अपने देश के लिए की गई उनकी सेवाओं को याद करते हुए कहा कि वह सच्चे देशभक्त और योद्धा थे। उन्होंने मुग़ल शासन के विरूद्ध आजीवन लोहा लिया और कभी उसकी आधीनता स्वीकार नहीं की। सन् 1576 के ऐतिहासिक हल्दीघाटी युद्ध में उनकी शूरवीरता के कारण ही मुग़लों को मुंह की खानी पड़ी थी।

उन्होंने राजपूत कल्याण सभा द्वारा अपने समुदाय के लोगों के लिए की जा रही सेवाओं की सराहना करते हुए कहा कि सभा समाज में व्याप्त बुराइयों और कुरीतियों के उन्मूलन के लिए प्रयासरत है। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि राजपूत कल्याण सभा द्वारा धर्मगिरि में निर्मित किए जा रहे महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल पब्लिक आवासीय स्कूल में 20 प्रतिशत स्थान ग़रीब बच्चों की निःशुल्क शिक्षा के लिए आरक्षित रहेंगे। 

जय राम ठाकुर ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि हाल ही में सम्पन्न लोक सभा चुनावों में हिमाचल के लोगों ने सभी विधान सभा क्षेत्रों में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों को बढ़त देते हुए, उन्हें भारी मतों से विजयी बनाया। उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ओजस्वी नेतृत्व और प्रदेश सरकार द्वारा पिछले 15 महीनों में किए गए कल्याणकारी और विकास कार्यों के कारण ही संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार समाज के सभी वर्गों के कल्याण और हितों के लिए समर्पित है, इसी के चलते सामान्य वर्गों के आर्थिक रूप से कमज़ोर लोगों के लिए सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में दस फ़ीसदी आरक्षण की व्यवस्था की गई है और लोकसभा चुनावों के बाद आयोजित पहली मंत्रिमण्डल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को पास किया जाना, इस वर्ग के प्रति राज्य सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।   

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इस अवसर पर राजपूत कल्याण सभा ट्रस्ट को महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल स्कूल के निर्माण के लिए राज्य सरकार की ओर से 31 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने के अलावा, 51 लाख रुपये तक के निर्माण कार्यों में विकास में जन सहयोग के तहत निर्धारित मानदंडों को पूरा करने पर आर्थिक मद्द देने की घोषणा भी की। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को स्कूल तक आने वाली क़रीब 800 मीटर तंग सड़क को चौड़ा करने तथा धर्मगिरि मठ तक जाने वाली लगभग 200 मीटर सड़क को पक्का करने हेतु आवश्यक सर्वे और प्राक्कलन शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये ताकि प्रस्तावित बजट मुहैया करवाया जा सके। उन्होंने राजपूत कल्याण सभा की ओर से ज़रूरतमंद लोगों, विधवाओं और मेधावी छात्रों को इस अवसर पर आर्थिक सहायता प्रदान की।   

कांगड़ा-चंबा संसदीय क्षेत्र के नवनिर्वाचित सांसद और राज्य सरकार के खाद्य् एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री किशन कपूर ने अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों का धन्यवाद करते हुए कहा कि उनके सहयोग के कारण ही वे देश भर में सर्वाधिक प्रतिशत मतदान से विजयी हुए हैं। उन्होंने महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल स्कूल के निर्माण में सहयोग हेतु सांसद निधि से 11 लाख रुपये की सहायता प्रदान करने की घोषणा भी की।

स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने उपस्थित समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि महापुरूष किसी समुदाय विशेष से सम्बन्धित नहीं होते, बल्कि उनके कृतत्व समाज के सभी वर्गों को प्रेरणा प्रदान करते हैं। 

Have something to say? Post your comment
 
More Himachal News
14वें वित्तायोग द्वारा उपलब्ध राशि से ग्राम पंचायतें लगा सकेगें हैण्ड पम्प
सर्दियों के मौसम में हुए नुकसान की भरपाई के लिए हिमाचल ने मांगे 374 करोड़
स्वास्थ्य मंत्री ने स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने के लिए 1160 करोड़ रुपये की मांग की
राज्य सरकार और एफआईजेड के मध्य समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित
सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री ने की एआईबीपी के तहत धनराशि में बढ़ौतरी की मांग
श्री राम का चरित्र देता है हमें प्रेरणा - राज्यपाल
राज्यपाल ने किया अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले का शुभारम्भ
हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम देगा हुनर से रोजगार तक के तहत प्रशिक्षण
नॉन रिसाइक्लिबल पॉलिथीन वापिस खरीदने के लिए शुरू की जाएगी योजना - मुख्यमंत्री
राज्यपाल ने किया अन्तरराष्ट्रीय शिमला ग्रीष्मोत्सव का शुभारम्भ