Follow us on
Sunday, June 16, 2019
Business

आरबीआई को उम्मीद, सरकार राजकोषीय मजबूती के रास्ते पर आगे बढ़ती रहेगी

June 07, 2019 07:05 AM

मुंबई (भाषा) - रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने यह उम्मीद जतायी है कि सरकार ‘मोटे तौर पर’ राजकोषीय मजबूती के रास्ते पर आगे बढ़ती रहेगी। उन्होंने बृहस्पतिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मेदी के पहले कार्यकाल में भी ‘ मोटे तौर पर’ राजकोषीय घाटा लक्ष्य के अनुसार रहा । उल्लेखनीय है कि सरकार ने आर्थिक वृद्धि में कमी को देखते हुए सरकार को खासकर पहले पांच साल के अंतिम हिस्से में राजकोषीय लक्ष्यों को फिर से निर्धारित करना पड़ा।

दास ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘सरकार ने मोटे तौर पर राजकोषीय घाटे को लक्ष्य के अनुसार बनाये रखा है और हम आने वाले समय में भी इस सूझबूझ की उम्मीद करते हैं।’’ रिजर्व बैंक राजकोषीय घाटे को लेकर काफी सतर्क हैं क्यों कि इसका मूल मुद्रास्फीति (कोर इनफ्लेशन) तथा वृहत आर्थिक स्थिरता पर प्रभाव पड़ता है।

दास ने कहा कि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में राजकोषीय घाटा 4.5 प्रतिशत से 3.4 प्रतिशत पर आ गया। उल्लेखनीय है कि मौद्रिक नीति समीक्षा में राजकोषीय मजबूती के बारे में कोई जिक्र नहीं है। समीक्षा में कहा गया है कि राजनीतिक स्थिरता सकारात्मक कारकों में से एक है जो आर्थिक वृद्धि को गति देने में मदद करेंगे।

आर्थिक वृद्धि दर मार्च तिमाही में 5.8 प्रतिशत रही जो पांच साल के निम्न स्तर पर है। वहीं पूरे वित्त वर्ष 2018-19 में यह 6.8 प्रतिशत रही।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
नीति आयोग की संचालन परिषद की पांचवीं बैठक शुरू
भारत 2024 तक बन जाएगा 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था - केंद्रीय मंत्री पुरी
आधार संशोधन विधेयक को मंत्रिमंडल की मंजूरी, संसद के अगले सत्र में होगा पेश
आयकर विभाग ने गौतम खेतान के खिलाफ दायर किए चार नए आरोपपत्र
सरकार ने भ्रष्टाचार, कदाचार के लिए 12 वरिष्ठ आयकर अधिकारियों को बर्खास्त किया
भारत ने जी20 देशों से डिजिटल कंपनियों पर कर लगाने के शीघ्र समाधान पर ध्यान देने को कहा
जम्मू एंड कश्मीर बैंक के चेयरमैन परवेज अहमद हटाए गए, छिब्बर अंतरिम प्रमुख नियूक्त
शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक गिरा
जेट एयरवेज की असफलता नींद से जागने का समय - अजय सिंह
रोजगार सृजन पर होगा जोर - सावंत