Follow us on
Wednesday, July 08, 2020
World

एससीओ शिखर सम्मेलन में अगले हफ्ते होगी मोदी और शी की मुलाकात

June 07, 2019 07:08 AM
Jagmarg News Bureau

बीजिंग (भाषा)  - चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिसरी ने बृहस्पतिवार को घोषणा की है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले हफ्ते बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शिखर सम्मेलन के इतर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात करेंगे। भारत में नई सरकार के गठन के बाद दोनों नेताओं के बीच यह पहली मुलाकात होगी।

मिसरी ने कहा, ‘‘हालिया सालों में भारत और चीन बहुत परिपक्व संबंध बनाने में सफल रहे हैं। पिछले साल वुहान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति शी के बीच हुआ अनौपचारिक शिखर सम्मेलन एक मील का पत्थर था और हमारे संबंधों को नई ऊंचाइयों तक ले जाने में इसने काफी अहम भूमिका निभाई।’’

भारतीय राजदूत ने चीन के शैंडोंग प्रांत के डेझू में वुचेंग काउंटी स्थित भारत की ‘सिंथाइट इंडस्ट्रीज’ की तीसरी निर्माण इकाई के उद्घाटन के बाद यह बात कही।

उन्होंने कहा, ‘‘इस बात का जिक्र करना जरूरी है कि पिछले साल हमारे नेताओं ने अलग-अलग बहुपक्षीय बैठकों के इतर चार बार मुलाकात की। अगले हफ्ते बिश्केक में एससीओ शिखर सम्मेलन के इतर वे एक बार फिर मिल रहे हैं।’’

एससीओ शिखर सम्मेलन किर्गिस्तान की राजधानी में 13-14 जून को होना है। एससीओ चीन की अगुवाई वाला आठ सदस्यीय सुरक्षा समूह है, जिसमें भारत और पाकिस्तान को 2017 में शामिल किया गया।

आम चुनावों में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद मोदी के फिर से प्रधानमंत्री बनने के बाद यह शी के साथ उनकी पहली मुलाकात होगी। शी ने आम चुनावों में जीत के लिए प्रधानमंत्री मोदी को ‘‘हार्दिक बधाई’’ दी थी।

मिसरी ने कहा कि भारत और चीन के बीच आर्थिक एवं वाणिज्यिक संबंध द्विपक्षीय संबंधों का प्रमुख पहलू है। पिछले साल दोनों देशों का द्विपक्षीय व्यापार 95 अरब अमेरिकी डॉलर को पार कर गया और इस साल इसके 100 अरब अमेरिकी डॉलर को पार करने की पूरी संभावना है।

Have something to say? Post your comment
 
More World News
नये दिशा-निर्देश : कक्षाएं ऑनलाइन होने पर विदेशी छात्रों को छोड़ना होगा अमेरिका जिहादियों ने नाइजीरिया में संरा के हेलीकॉप्टर पर की गोलीबारी, दो लोगों की मौत भारत से प्यार करता है अमेरिका - ट्रम्प डब्ल्यूएचओ का कोरोना वायरस के पहले दौर पर ध्यान केंद्रित करने का अनुरोध प्रधानमंत्री राजपक्षे के साथ वार्ता के बाद श्रीलंका के बंदरगाह कर्मियों ने प्रदर्शन समाप्त किया वैज्ञानिकों ने कोविड-19 के प्रसार का अनुमान लगाने के लिये मौसम पूर्वानुमान तकनीक का उपयोग किया अमेरिका में एक दिन में कोविड-19 के एक लाख मामले भी आ सकते हैं सामने - फाउची म्यामां में सैन्य कार्रवाई के भय से हजारों लोगों का पलायन पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज पर हमला, आतंकवादियों समेत नौ की मौत ब्रिटेन में भारतीय मूल के लोगों में बढ़ रहे मौत के मामले, स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन की तैयारी