Follow us on
Friday, July 10, 2020
BREAKING NEWS
अमेरिकी सांसदों ने चीन द्वारा कोविड-19 का फायदा उठाने के प्रयासों की जांच की मांग कीकोरोना वायरस से उबरने के बाद पीजीए टूर में साथ में खेलेंगे खिलाड़ीभारत आज भी दुनिया की सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक - मोदीअकाली दल भी आया मोदी सरकार के खिलाफटमाटर हुआ 60-70 रुपये किलो, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा- आपूर्ति सुधरने के बाद कीमतें सामान्य होंगीवायरस से लड़ने के लिए खायें विटामिन-डी से भरपूर ये 6 चीजेंस्विस सरकार ने कुलदीप बिश्नोई के खातों का ब्योरा देने से पहले जारी किया नोटिसकोरोना वायरस मामलों में वृद्धि के बीच बंगाल के सभी कंटेनमेंट जोन में पूर्ण लॉकडाउन लागू
Business

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक गिरा

June 08, 2019 07:56 AM
Jagmarg News Bureau

मुंबई (भाषा) - गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी)की स्थिति पर आशंकाओं के बीच वित्तीय कंपनियों में गिरावट आने से शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक गिर गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 211.04 अंक यानी 0.53 प्रतिशत की गिरावट के साथ 39,318.68 अंक पर चल रहा था। इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 34.25 अंक यानी 0.29 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,809.50 अंक पर चल रहा था।

रिजर्व बैंक द्वारा रेपो दर घटाने के बाद भी बृहस्पतिवार को दोनों प्रमुख घरेलू शेयर बाजारों में इस साल की सबसे बड़ी एक दिनी गिरावट देखने को मिली। इसका कारण रहा कि रिजर्व बैंक एनबीएफसी क्षेत्र को लेकर निवेशकों की चिंताओं को दूर करने में असफल रहा।

बृहस्पतिवार को सेंसेक्स 553.82 अंक यानी 1.38 प्रतिशत की गिरावट के साथ 39,529.72 अंक पर बंद हुआ था। निफ्टी भी 177.90 अंक यानी 1.48 प्रतिशत गिरकर 11,843.75 अंक पर बंद हुआ था। सेंसेक्स की कंपनियों में इंडसइंड बैंक, सन फार्मा, कोटक बैंक, मारुति सुजुकी, पावरग्रिड, हिंदुस्तान यूनिलीवर, ओएनजीसी, टीसीएस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक के शेयर 1.38 प्रतिशत तक की गिरावट में चल रहे थे।

इनसे इतर वेदांता, भारतीय स्टेट बैंक, इंफोसिस, एलएंडटी, बजाज फाइनेंस और महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयर तेजी में चल रहे थे। शुरुआती आंकड़ों के अनुसार, बृहस्पतिवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने 1,448.99 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली की। इसी तरह घरेलू संस्थागत निवेशक भी 650.84 करोड़ रुपये के शुद्ध बिकवाल रहे।

एशियाई बाजारों में कारोबार के दौरान मिश्रित रुख देखने को मिला।

Have something to say? Post your comment
 
More Business News
भारत आज भी दुनिया की सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक - मोदी एनसीएलएटी के कार्यवाहक चेयरपर्सन न्यायमूर्ति भट को तीन महीने का सेवा विस्तार इन्फोसिस के अमेरिका में फंसे 200 से अधिक कर्मचारी, उनके परिवार चार्टर्ड विमान से भारत पहुंचे चीन, नेपाल के बीच सीमा खोली गई, व्यापार हुआ शुरू मोटरसाइकिल क्षेत्र का प्रदर्शन अन्य वाहन खंडों की तुलना में बेहतर रहेगा - फिच प. बंगाल में बेरोजगारी की दर 6.5 प्रतिशत, देश की तुलना में कहीं बेहतर - ममता भारत का 59 चीनी ऐप पर रोक का कदम चीन की कार्रवाई का प्रभावी जवाब - विशेषज्ञ अप्रैल 2023 से शुरू हो सकता है निजी रेल परिचालन, प्रतिस्पर्धी होगा किराया - रेलवे बोर्ड चेयरमैन जीएसटी संग्रह जून में 90,917 करोड़ रुपये रहा, पहली तिमाही में राजस्व 59 प्रतिशत घटा चीनी एप पर रोक: टिक टॉक ने कहा सरकारी आदेश का पालन करने की प्रक्रिया में है