Follow us on
Wednesday, July 08, 2020
Entertainment

कला डर के हाथों मजबूर है - दीया मिर्जा

June 09, 2019 08:38 AM
Jagmarg News Bureau

मुंबई - वेब सीरीज 'काफिर' में पाकिस्तानी महिला की भूमिका निभा रहीं अभिनेत्री दीया मिर्जा का मानना है कि डर का कला पर बुरा असर पड़ता है। यहां दीया से शो के लॉन्च पर, फरवरी में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में मारे गए 40 जवानों की घटना के बाद ऑल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन (एआईसीडब्ल्यूए) द्वारा भारत में काम करने से प्रतिबंधित पाकिस्तानी कलाकारों के बारे में उनकी राय पूछी गई।

इस पर उन्होंने कहा, "कला हमेशा से डर के हाथों मजबूर रही है..लेकिन इसी डर की वजह से कला के क्षेत्र में एकजुटता भी आई है। मेरा मानना है कि ये पूर्वाग्रह जो हम पर थोपे गए हैं, न कि हमें अपने पड़ोसियों से दूर ले जाते हैं, बल्कि यह हमें खुद से भी दूर ले जाते हैं और जब हम खुद को संवाद और आदान-प्रदान करने के अवसर से वंचित करते हैं.. तब हम केवल दुनिया को ये व्यक्त करते हैं कि हम कितने डरे हुए हैं।"

सोनम नायर द्वारा निर्देशित इस वेब सीरीज की कहानी भवानी अय्यर ने लिखी है। 'काफिर' की कहानी कश्मीर पर आधारित है, जो एक पाकिस्तानी महिला कैदी और उसके बच्चे के ईर्द गिर्द घूमती है। कैदी महिला को किस तरह एक पत्रकार न्याय दिलाता है यही वेब सीरीज की कहानी है। इसमें दीया मिर्जा कैदी कायनाज अख्तर के किरदार में है।

"काफिर' का प्रसारण 15 जून से ओटीटी प्लेटफार्म जी5 पर होगा।

Have something to say? Post your comment
 
More Entertainment News
सरोज खान पर बायोपिक बनाएंगे रेमो डिसूजा, कहा- ये मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट है मेगा बजट फिल्म में साथ नजर आएंगे ऋतिक रोशन और बाहुबली प्रभास किम करदार्शियां के पति लड़ेंगे अमेरिका के राष्ट्रपति का चुनाव निर्देशक राम गोपाल वर्मा पर मामला दर्ज सुशांत मामला: छह जुलाई को दर्ज किया जाएगा भंसाली का बयान अक्षय कुमार और रणवीर सिंह की फिल्में सिनेमाघरों में ही होंगी रिलीज़ मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का निधन तीसरी फिल्म की बजाय यशराज ने दूसरी में ही सुशांत को दिए थे एक करोड़ रुपए सेफाली जरीवाला की टी-शर्ट पर लिखे थे चायनीज शब्द, लोगों ने कहा- फेंको नहीं तो बॉयकॉट सुशांत सिंह की मौत को लेकर छिड़ी बहस पर भड़के फरहान अख्तर