Follow us on
Sunday, June 16, 2019
Punjab

पंजाब में 1000 एकड़ भूमि सूक्ष्म सिंचाई के तहत लाई जाएगी

June 10, 2019 09:30 AM

चंडीगढ़ - स्थायी जल प्रबंधन के मकसद से पंजाब सरकार ने रविवार को घोषणा की कि वह इस मौसम में 1,000 एकड़ जमीन पर मक्का की सूक्ष्म सिंचाई को बढ़ावा देगी। तंदरुस्त पंजाब मिशन के निदेशक के.एस.पन्नू ने कहा कि 2019 के लिए सरकार ने 1.5 लाख हेक्टेयर सिंचाई का लक्ष्य रखा है। इसमें से 1,000 एकड़ में मक्के की फसल की सूक्ष्म सिंचाई की जाएगी। इसमें से 900 एकड़ में सतह आधारित ड्रिप प्रणाली होगी, जबकि बाकी में उप-सतह आधारित ड्रिप प्रणाली होगी।

पन्नू ने कहा कि चार सूक्ष्म-सिंचाई कंपनियां प्रत्येक 10 एकड़ में मक्का के लिए ड्रिप सिंचाई परियोजनाएं शुरू करेंगी।

मृदा के प्रधान मुख्य संरक्षक धर्मेद्र कुमार ने कहा कि ड्रिप सिंचाई से जल को संरक्षित करने व पैदावार बढ़ाने में मदद मिलेगी। इसे विभाग बड़े स्तर पर लांच करने के लिए तैयार है।

पंजाब कृषि विश्वविद्यालय के जानकारों ने कहा कि उन्होंने मक्का-गेहूं-मूंग चक्र के दौरान उप-सतह ड्रिप सिंचाई का प्रयोग किया है और इसे बड़े स्तर पर बढ़ावा दिया जाना चाहिए।

कंपनियों ने सूक्ष्म सिंचाई पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को 12 फीसदी से कम कर शून्य करने की मांग की।

इससे पहले मृदा संरक्षण विभाग द्वारा कपास के लिए एक पायलट सूक्ष्म सिंचाई परियोजना को संचालित किया गया। इसके तहत 200 एकड़ कपास की फसल को ड्रिप सिंचाई प्रणाली के तहत लाया गया।

Have something to say? Post your comment
 
More Punjab News
इजरायल के साथ मिलकर जल प्रबंधन योजना तैयार करेगा पंजाब
लुधियाना में कपड़ा फैक्टरी में लगी भीषण आग
वित्त विभाग द्वारा पैंशन केस समय पर भेजने संबंधी हिदायतें जारी
पंजाब में 100 से अधिक खुले बोरवेल बंद किए गए
बोरवेल से 110 घंटे बाद बाहर निकाले गए दो वर्षीय बच्चे की मौत
मिल्कफैड द्वारा दूध उत्पादकों के लिए खरीद कीमतों में बढ़ोतरी
विजीलैंस ने मई महीने में 16 कर्मचारियों और 1 प्राईवेट व्यक्ति को रिश्वत लेते दबोचा
कैप्टन द्वारा सरकार की अहम स्कीमों की समीक्षा और संशोधन के लिए सलाहकारी ग्रुपों की घोषणा
मोहाली के नए मैडीकल कॉलेज के लिए 994 पद सृजन करने की मंजूरी
सिद्धू से स्थानीय शासन विभाग लिया गया, बिजली विभाग का प्रभार मिला