Follow us on
Sunday, August 18, 2019
BREAKING NEWS
अच्छे लोगों का भाजपा में स्वागत - अमित शाहकश्मीर में फोन लाइनें सप्ताहांत तक बहाल हो जाएंगी, स्कूल अगले हफ्ते खुलेंगे - मुख्य सचिवदेशवासियों ने जो काम दिया, हम उसे पूरा कर रहे हैं - मोदीमोदी ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की घोषणा की, जनसंख्या नियंत्रण और एक राष्ट्र, एक चुनाव पर दिया जोरजम्मू कश्मीर में मीडिया पर पाबंदियां हटाने के मसले पर न्यायालय ने कहा,हम कुछ समय देना चाहते हैंजापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ रियल एस्टेट सैक्टर में निवेश योजना सांझी कीमनाली में स्थापित की जाने वाली अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा की आधारशिलाप्रदेश के सरकारी अस्पतालों की मिली 30 बेसिक लाईफ सेविंग एंबुलेंस गाड़ियां
Himachal

श्री राम का चरित्र देता है हमें प्रेरणा - राज्यपाल

June 11, 2019 09:27 AM

राज्यपाल आचार्य देवव्रत की पहल पर राजभवन शिमला में महऋषि वाल्मीकि रामायण पर आधारित सात दिवसीय संगीतमय श्री राम चरित चिन्तन सत्र का आयोजन किया जा रहा है। राज्यपाल ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारम्भ किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति धर्मचंद चौधरी तथा गुरुकुल झज्जर के संचालक एवं आर्य प्रतिनिधि सभा के पूर्व प्रधान विजय पाल आर्य उपस्थित थे।

इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि हम श्री राम की शिक्षाओं का अनुसरण कर खुशहाल व सफल जीवन जी सकते हैं। श्री राम का चिंतन हमें पितृ भक्ति, भ्रातृप्रेम, आज्ञापालन, प्रतिज्ञापूर्ति तथा सत्यपरायणता की शिक्षा देता है। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में श्री राम की शिक्षाएं अधिक प्रासंगिक है और भावी पीढ़ी को संस्कार व नैतिकता की शिक्षा के लिए श्री राम के चरित्र को पढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह श्री राम चरित चिंतन शिविर 16 जून तक आयोजित किया जाएगा।

इस अवसर पर वैदिक विद्वान विजय पाल ने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की शिक्षाएं हमें आत्मिक बल ही नहीं बल्कि जीवन जीने की राह भी दिखाती हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह का कार्यक्रम जो श्री राम के जीवन दर्शन पर आयोजित किया जा रहा है, इस के लिए राज्यपाल बधाई के पात्र हैं, जो हमारी संस्कृति और परम्पराओं के संरक्षण के लिये प्रयासरत हैं।

प्रख्यात मनीषी एवं प्रखर वक्ता कुलदीप जी आर्य ने रामायण चिंतन प्रस्तुत करते हुए कहा कि मन की चंचलता व भटकाव को केवल ईश्वर भक्ति से ही नियंन्त्रित किया जा सकता है। श्री राम तथा श्री कृष्ण जैसे महापुरुषों के कारण ही भारतवर्ष महान कहलाया। सद विचार जीवन में आते रहेंगे और अच्छी संगति में रहेंगे तो सुन्दर कार्यों की ओर जीवन चलेगा। जीवन में जब भी कोई चुनौती आती है और व्यक्ति मुश्किल में होता है, तो महापुरुषों की गाथाएँ ही सन्मार्ग सुझाती हैं। इसलिये महापुरुषों की जीवनगाथा को पढ़ना या अनुश्रवण करना चाहिये।

लेडी गवर्नर दर्शना देवी, हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति धर्म चंद चौधरी, न्यायमूर्ति विवेक सिंह ठाकुर, न्यायमूर्ति चंद्र भूषण बरोवालिया, न्यायमूर्ति अनूप चितकारा, राज्यपाल के सलाहकार डॉ. शशिकांत शर्मा तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
 
More Himachal News
मनाली में स्थापित की जाने वाली अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा की आधारशिला
शिक्षा विभाग ने किए स्कूल स्थापित करने के लिए दो समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित
सरकार प्रदेश में संस्कृत भाषा को लोकप्रिय बनाने के लिए प्रतिबद्ध - मुख्यमंत्री
जन मंच में 2,512 मांगपत्र एवं शिकायतें प्राप्त, अधिकतर शिकायतों का किया गया मौके पर निपटारा
44.12 करोड़ रुपये से बनेगा डेयरी फार्मिंग उत्कृष्टता केन्द्र - वीरेन्द्र कंवर
प्रदेश में शराब के अवैध परिवहन व बिक्री पर अंकुश लगाने के लिए बोटलिंग परिसरों में सीसीटीवी लगाए जाएंगे - मुख्यमंत्री
वीरभद्र की हालत में सुधार, मिल सकती है अस्पताल से छुट्टी
प्रदेश सरकार श्रमिकों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध - उद्योग मंत्री
अनुच्छेद 370 का हटाया जाना देश हित में एक अतुल्य निर्णय - मुख्यमंत्री
समाज के समग्र विकास के लिए लैंगिक समानता महत्वपूर्ण - बिक्रम सिंह