Follow us on
Sunday, August 18, 2019
BREAKING NEWS
अच्छे लोगों का भाजपा में स्वागत - अमित शाहकश्मीर में फोन लाइनें सप्ताहांत तक बहाल हो जाएंगी, स्कूल अगले हफ्ते खुलेंगे - मुख्य सचिवदेशवासियों ने जो काम दिया, हम उसे पूरा कर रहे हैं - मोदीमोदी ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की घोषणा की, जनसंख्या नियंत्रण और एक राष्ट्र, एक चुनाव पर दिया जोरजम्मू कश्मीर में मीडिया पर पाबंदियां हटाने के मसले पर न्यायालय ने कहा,हम कुछ समय देना चाहते हैंजापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ रियल एस्टेट सैक्टर में निवेश योजना सांझी कीमनाली में स्थापित की जाने वाली अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा की आधारशिलाप्रदेश के सरकारी अस्पतालों की मिली 30 बेसिक लाईफ सेविंग एंबुलेंस गाड़ियां
India

हिंसा में 2 लोग मारे गये, पश्चिम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देंगे - ममता

June 11, 2019 09:57 AM

कोलकाता (भाषा) - पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि शनिवार को हुई हिंसा में दो लोग मारे गये थे और भाजपा का पांच लोगों के मारे जाने का दावा झूठा है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा हिंसा भड़काने की और फर्जी खबरें फैलाकर उनकी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है तथा तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देगी।

बनर्जी ने केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा पश्चिम बंगाल को भेजे परामर्श को ‘‘पर्दे के पीछे से खेला जा रहा खेल’’ करार दिया और कहा कि राज्य के मुख्य सचिव इसका जवाब दे चुके हैं। मुख्यमंत्री ने राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, ‘‘वे (भाजपा) सोशल मीडिया के माध्यम से फर्जी खबरें फैलाने के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रहे हैं। केंद्र सरकार और (भाजपा) पार्टी के कार्यकर्ता राज्य में हिंसा भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। हम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देंगे।’’

मुख्यमंत्री ने मीडिया पर भी भाजपा के इशारे पर गलत जानकारी प्रसारित करके राज्य का अपमान करने का आरोप लगाया। उन्होंने राज्य विधानसभा चुनाव 2021 से पहले होने की अटकलों को भी खारिज कर दिया। बनर्जी ने आरोप लगाया कि लोकसभा चुनाव जीतने के बाद कुछ केंद्रीय नेताओं के इशारे पर भाजपा एक साजिश के तहत पश्चिम बंगाल के दार्जीलिंग और जंगलमहल इलाकों में हिंसा फैलाने की कोशिश कर रही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा को ‘आग से नहीं खेलना चाहिए। तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘यह सुनियोजित खेल है। उनकी योजना मेरी आवाज दबाने की है क्योंकि उन्हें पता है कि देश में उनके खिलाफ आवाज उठाने वाली एक मात्र शख्सियत ममता बनर्जी है। हमारी सरकार को गिराने की यह साजिश सफल नहीं होगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम उनकी साजिश का शिकार नहीं होंगे और लोगों से शांत रहने को कहेंगे। लोकसभा चुनाव के बाद हिंसा की घटनाएं भी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच टकराव का विषय बन गयी हैं।  उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली में शनिवार रात भड़की हिंसा के बाद तीन लोगों के शव बशीरहाट अस्पताल लाये गये थे। भाजपा नेताओं ने दावा किया था कि इनमें से दो लोग उनके समर्थक थे वहीं तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि एक उनका सक्रिय कार्यकर्ता था।

दोनों दलों ने दावा किया कि उनके कई समर्थक हिंसा के बाद से लापता हैं। पुलिस और उत्तर 24 परगना जिले के अधिकारियों ने शनिवार के बाद हुए संघर्षों के बारे में कुछ नहीं बोला और मृतकों की संख्या पर कोई बयान नहीं दिया। हालांकि बनर्जी ने कहा कि मृतकों की संख्या दो है। उन्होंने इसका ब्योरा नहीं दिया और भाजपा पर राज्य में हिंसा फैलाने का आरोप लगाया।

उन्होंने राज्य सचिवालय में कहा, ‘‘दो लोगों की मौत हो चुकी है, लेकिन वे (भाजपा) दावा कर रहे हैं कि पांच लोग मारे गये हैं। वे झूठ बोल रहे हैं। मैंने एक भाजपा नेता को एक समाचार चैनल में बोलते सुना कि तीन लोग लापता हैं। अगर यह सच है तो आप उनका नाम पता क्यों नहीं बताते।’’

उन्होंने राज्य में जल्द विधानसभा चुनाव को लेकर मीडिया में चल रही अटकलों की आलोचना करते हुए उन्हें खारिज कर दिया। लोकसभा चुनाव में भाजपा के शानदार प्रदर्शन के बाद राज्य में जल्द विधानसभा चुनाव की संभावना को भी मुख्यमंत्री ने खारिज कर दिया।  उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव दो साल बाद होंगे। लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनावों में कोई संबंध नहीं है। आप गलत खबरें चला रहे हैं।’’

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘आप वही लिख रहे हो जो भाजपा नेता आपसे कह रहे हैं। आपने यह क्यों लिखा कि चार या पांच लोग मारे गये हैं? आप भाजपा नेताओं के दावों की जांच नहीं कर रहे। मुझे पता है कि भाजपा आपको विज्ञापन देती है। मुझे सब पता है।’’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में छिटपुट घटनाएं घटीं। वो भी भाजपा की वजह से। उन्होंने खुद को भगवान समझना शुरू कर दिया है। लेकिन याद रखिए, हमने घटनाओं को नियंत्रित कर लिया है। बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में आज के हालात की तुलना 2009 में माकपा की अगुवाई वाली वाम मोर्चा सरकार के समय से किये जाने पर कहा, ‘‘अब और तब के हालात में बहुत अंतर है।’’

Have something to say? Post your comment
 
More India News
कश्मीर में फोन लाइनें सप्ताहांत तक बहाल हो जाएंगी, स्कूल अगले हफ्ते खुलेंगे - मुख्य सचिव
मोदी ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की घोषणा की, जनसंख्या नियंत्रण और एक राष्ट्र, एक चुनाव पर दिया जोर
जम्मू कश्मीर में मीडिया पर पाबंदियां हटाने के मसले पर न्यायालय ने कहा,हम कुछ समय देना चाहते हैं
जेटली की हालत नाजुक, कोविंद, शाह और योगी पहुंचे एम्स
स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर संबोधन में राष्ट्रपति ने अनुच्छेद-370 के फैसले को सराहा
राहुल ने आरबीआई गवर्नर को पत्र लिखकर बाढ़ प्रभावित केरल के किसानों के लिए राहत की मांग की
आईटीबीपी के पांच कर्मियों को वीरता पदक, उत्कृष्ट सेवाओं के लिए कुल 19 कर्मी पुरस्कृत
राष्ट्रपति ने 132 शौर्य पुरस्कार किए अनुमोदित
हिंदुओं का विश्वास है कि अयोध्या राम का जन्मस्थान है, राम लला के वकील का न्यायालय में तर्क
पहलू खान भीड़ हत्या मामले में छह आरोपी बरी